Friday, March 31, 2017

No sunscreen or cream, these things will refine the skin Skin in the summer



गर्मियों में अपनी स्क‍िन को धूप और धूल से बचाने के लिए हम क्या-क्या नहीं करते. कभी चेहरे को कपड़े से ढकते हैं तो कभी उस पर महंगी से महंगी सनस्क्रीन लगाते हैं. इन सब के बावजूद चेहरे पर टैनिंग हो ही जाती है.

अगर आप इन गर्मियों में अपने चेहरे की रौनक को बरकरार रखना चाहती हैं तो बाजार से महंगे ब्यूटी प्रोडक्ट खरीदने की बजाय किचन की इन चीजों का इस्तेमाल करें. ये न केवल आपकी त्वचा को गर्मी में झुलसने से बचाएंगी, बल्क‍ि चेहरे की रौनक भी बनी रहेगी.


त्वचा के लिए सबसे कारगर है खीरा. खीरा पेट को ठंडक देने के साथ स्क‍िन को भी तरोताजा रखने में मददगार होता है. किचन में मौजूद कुछ चीजों को खीरे के साथ मिक्स कर आप अच्छा पैक बना सकती हैं. जानिये, इन गर्मियों में आप कैसे अलग-अलग पैक बनाकर अपने चेहरे की नमी को बरकरार रख सकती हैं...


खीरा और दही
खीरे और दही को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें. इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और हल्के हाथों से मसाज करें. थोड़ी देर बाद गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें. अगर आपकी त्वचा ड्राई है तो यह आपके लिए और भी अच्छा है.

खीरा और एलोवेरा
खीरा और एलोवेरा दोनों ही त्वचा के लिए बहुत अच्छे होते हैं. सबसे अच्छी बात यह है कि दोनों आसानी से मिल भी जाते हैं. आज कल हर घर में लोग एलोवेरा लगाकर रखते हैं. खीरे का पेस्ट बना लें और इसमें 1 चम्मच एलोवेरा जेल डालकर मिला लें. इसमें 1 चम्मच नींबू का रस भी मिला लें. चेहरे पर लगाएं और सूखने दें. धो लें. यह पैक एंटी-एजिंग का काम करता है.


खीरा और ओट्स
गर्मियों में डेड स्कि‍न की समस्या आम है. ऐसे में डेड स्किन हटाने के लिए आप खीरे और ओट्स से बना फेसपैक लगा सकती हैं. खीरे, ओट्स और हल्दी को मिलाकर चेहरे पर लगाएं. थोड़ी देर पानी ठंडे पानी से धो लें.


खीरा और संतरे का जूस
खीरे और संतरे के जूस को मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें. इसे चेहरे पर लगाएं और सूखने पर धो लें. यह चेहरे में चमक के साथ-साथ टाइटनेस भी लाएगा.

खीरा और बेसन
आधा खीरा, बेसन और एक चम्मच नींबू का पेस्ट तैयार कर लें. इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और सूखने पर धो लें. चेहरे पर ग्लो आएगा और डेड स्क‍िन भी खत्म होगा.




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, March 28, 2017

इन्हें खाने और लगाने से चेहरे पर निखार



गोरा निखार पाने के लिए महंगी से महंगी क्रीम, लोशन का इस्तेमाल करते हैं पर फिर भी कोई लाभ नहीं मिलता है, जब आप आसानी से घर बैठकर ही सुंदर और गोरी त्वचा पा सकते हैं तो इतनी मशक्त क्यों करें। तो घरेलू नुस्खे से ही आप चमकदार त्वचा, हेल्दी, ग्लोइंग, फेयर पा सकती हैं और इसका कोई नुकसान भी नहीं होता। फल, दही, गुलाबजल, नींबू, चंदन, चीनी और शहद ना केवल हमारी बॉडी के लिये ही अच्छे होते हैं बल्कि इन्हें खाने और लगाने से चेहरे पर निखार भी आता है।

नींबू का प्रयोग करें 
अगर आपके चेहरे पर मुंहासे या एक्ने है और आपको साफ तथा चमकती हुई त्वचा चाहिये तो नींबू का प्रयोग कीजिये। हफ्ते में एक बार नींबू के छिलके को अपने चेहरे पर जरूर रगडिये और देखिये कि आपको कैसे मुंहासों से छुटकारा मिलता है।


अपने चेहरे को धोएं
सबसे पहले तो आपअपने चेहरे को नियमित ठंडे पानी से धोती रहें। यह आपके चेहरे से गंदगी और मृत्य त्वचा को बाहर निकालेगा। जब भी बाहर से आएं तो अपने चेहरे को क्लींजर से साफ करें। अगर चेहरे पर पिंपल हैं तो एंटीबैक्टीरियल क्लींजर का प्रयोग करें जिससे पोर्स खुल जाएं और गंदगी साफ हो जाए।


गुलाब के 2 फूलों को पीसकर आधा ग्लास कच्चे दूध में 30 मिनट तक भिगोएं, फिर इस लेप को आहिस्ता-आहिस्ता त्वचा पर मलें, सूखने पर ठंडे पानी से धुल दें, त्वचा गुलाबी और नर्म हो जाएगी।


हल्दी- त्वचा की रंगत को निखारने के लिए हल्दी का प्रयोग सबसे बेहतर तरीका है। पेस्ट बनाने के लिए हल्दी, बेसन का प्रयोग करें। हल्दी और थोडी सी ताजी मलाई डालकर ब्लेंड करें। जब पेस्ट तैयार हो जाए तब उसमें दूध और आंटा मिलाएं और गाढा पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर 10 मिनट लगाएं और ठंडे पानी से धो लें।

चीनी का स्क्रब
नैचुरल रूप से त्वचा निखारने के लिये आपको हफ्ते में एक बार अपने चेहरे पर स्क्रब लगा कर सफाई करनी चाहिये। इसके लिये चीनी का प्रयोग कीजिये, बस एक चम्मच चीनी में थोडा सा पानी मिला कर स्क्रब करें और फिर ठंडे पानी से चेहरा धो लें।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Friday, March 24, 2017

गर्भवती महिलाओं के लिए पौष्टिक आहार

गर्भवती महिलाओं के लिए पौष्टिक आहार


स्वस्थ भोजन, स्वस्थ और समस्या रहित प्रेग्नेंसी के लिए बेहद जरूरी है। गर्भवती महिला को अपन गर्भावस्था के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, इसे लेकर सचेत रहना चाहिए। नौ माह की गर्भावस्था, बहुत सी महिलाओं के लिए आसान नहीं होती। इस दौरान शरीर तो कई बदलावों से गुजरता ही है साथ ही मन की स्थिति भी बदलती रहती है, ऐसे में खान-पान का भी इस स्थिति पर गहरा प्रभाव पड़ता है।

जानें गर्भवती महिलाओं के लिए जरूरी पोषक तत्व (Nutritious food for pregnant women)
गर्भावस्था के दौरान आपका खान-पान किस प्रकार का होना चाहिए इसके लिए नीचे दिए गए डाइट प्लान (Diet for Pregnancy in Hindi) को फोलो किया जा सकता है:
सब्जियां और फल (Vegetable and Fruits)
विभिन्न तरह की सब्जियों और फलों को रोटेशन यानि बदल बदलकर करके भोजन में शामिल करें। रोजाना एक ही तरह की सब्जी और फलों को खाने से बचें। गर्भावस्था में तुरई, लौकी, पालक, पत्ता गोभी, गोभी आदि सब्जियां खाएं। बैंगन, पपीता, सरसों, बाजरा, गुड़ आदि शरीर में ताप पैदा करते हैं, ऐसे में इन भोज्य पदार्थों को लेने से पहले चिकित्सक से परामर्श जरूर लें।
मैदा से बने खाद्य पदार्थ शरीर में पानी कम करते हैं और गैस को बढ़ाते हैं, ऐसे में ब्रेड, पिज्जा, बन आदि खाने से बचें। स्प्राउट खाना ज्यादा बेहतर है। केला, काले अंगूर, खजूर, एप्रीकोट आदि फल खाएं वहीं काजू जैसे सूखे मेवे भी बेहद लाभकारी हैं।

विटामिन और मिनरल (Vitamin and Minerals)
गर्भावस्था के दौरान संतुलित भोजन करना बेहद जरूरी है, जो शरीर को संपूर्ण विटामिन और खनिज उपलब्ध करा सके। गर्भवती महिला (Pregnant Women) को अपनी रोज की डाइट में 3 सर्विंग आयरन से भरपूर भोजन जरूर शामिल करना चाहिए, जिसके अंतर्गत 25 मिलीग्राम आयरन शामिल है। इसके अलावा प्रतिदिन 1000 से 1400 मिलीग्राम कैल्शियम भी बेहद जरूरी है जो कि दूध, मक्खन और पनीर आदि से लिया जा सकता है।
विटामिन ए (Vitamin A):- गर्भावस्था के दौरान शरीर को विटामिन ए की भी बहुत आवश्यकता होती है। विटामिन ए कद्दू, गाजर, शकरकंदी, एप्रीकोट आदि से लिया जा सकता है। हालांकि अत्यधि विटामिन ए का सेवन भी गर्भ को नुकसान पहुंचा सकता है। प्रतिदिन 10,000 आईयू प्रतिदिन पर्याप्त मात्रा है।
विटामिन सी (Vitamin C):- गर्भवती महिला के लिए विटामिन सी भी आवश्यक है। 70 मिलीग्राम विटामिन सी, गर्भवती महिला को प्रतिदिन जरूर लेनी चाहिए। इसके लिए प्रतिदिन भोजन में गोभी, स्प्राउट्स, हरी मिर्च, संतरा, अंगूर, स्ट्रॉबेरी आदि को शामिल किया जा सकता है।

गर्भावस्था में न खाएं (Foods to Avoid in Pregnancy)
- इस दौरान फ्रिज में रखे पदार्थों से दूर रहें, बासी खाना भी न खाएं
- कोल्ड ड्रिंक, चिकन, मटन, सिगरेट, एल्कोहल, तंबाकू, पान मसाला आदि का इस्तेमाल न करें
- चाय और कॉफी सीमित मात्रा में लें
- ऐसा कोई भी खाद्य पदार्थ न खाएं जिससे एलर्जी होने की संभावना हो, या पचने में भारी हो या देर से पचता हो
- डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ या मैदा से बने खाद्य पदार्थों का इस्तेमाल भी न करें
- तेज मसाले और तैलीय भोजन को अवॉइड करें

कुछ यूं ले सकती है पूरे दिन आहार (Diet for Pregnant Lady in Hindi)
गर्भवती महिलाएं नीचे दिए गए डाइट प्लान (Diet Plan) का भी पालन कर सकती हैं:
समयआहार
सुबह 6.45 से 7:30150 एमएल दूध और दो बिस्किट
सुबह 8:30 से 9.003 से 4 इडली/सब्जियों के साथ बना पोहा/सब्जियों से बना उपमा/3 रोटी
सुबह 10:30 से 11150 एमएल छाछ/सैंडविच या बिस्किट
दोपहर 12.30 से 1.00दाल, चावल, 2 रोटी, सब्जी या अंडा या मछली या चिकन
दोपहर 3:30 से 4.00150 एमएल दूध/सैंडविच या बिस्किट
शाम 6.30एक गिलास ओट्स
रात 8.00 से 8.30रोटी, सब्जी, दाल या कोई तरी वाली सब्जी
सोते समयएक गिलास दूध
(पूरे दिन में कोई एक फल किसी भी समय जरूर खाएं)

Thursday, March 23, 2017

Health & beauty Hindi tips

हेल्दी भोजन का यह बिल्कुल मतलब नहीं है कि आप खाना कम खाएं या सिर्फ न्यूट्रिशियस फूड ही खाएं। जिससे आप अपना मनचाहे फिगर को ही पा सकें। सीधा-साधे का खाना का मतलब यह होता है कि ऐसा खाना, जिससे आप फिट एण्ड फाइन बनें रहें। लेकिन यह सब कुछ तभी हो सकता है, जब आप न्यू्िरट्रशन के कुछ बेसिक्स पॉइन्टों को समझे और उन्हें फॉलो करें। इन्हें जानकर आप अपना ऐसा डाइट प्लान कर सकते हैं, जो हेल्दी भी हो और टेस्टी भी। साथ ही आपको उसमें ढेर सारी वेरायटी भी मिल सके।

देर रात खाना अवॉइड करें
डिनर जितना जल्दी हो सके, कर लें, क्योंकि जिस समय हमारा पाचनतंत्र बेहतर काम करता है, तभी खाना करना अच्छा होता है। डिनर और नाश्ते के बीच पाचनतंत्र को लगभग 15 घण्टे का आराम मिलना चाहिए। अध्ययन बताते हैं कि आपकी डायट हैबिट्स आपको फिट और स्लिम रखने में मददगार हो सकती है, जैसे-जब आप सबसे ज्यादा एक्टिव हों, तभी खाएं और अपने पाचनतंत्र को रोजाना लम्बा बे्रक दें। आफ्टर डिनर स्नैक्स हमेशा फैट्स बढाते हैं, इन्हें अवॉइड करें।

सिम्पल डायट लें
कैलोरीज का ख्याल रखने से बेहतर होगा कि आप खाने में वेरायटीज, फ्रेश और रंगों को पर ध्यान दें। खाने में जितने ज्यादा रंगों होंगे, उतना ही वो हेल्दी और पोषक होगा, जैसे- हरी सब्जियां, ताजा फल, दही, छाछ आदि, कुछ ऐसी हेल्दी रेसिपीज भी आप सीख सकते हैं, जो र्इंजी हों और आपको पसंद भी हों।

पानी तो खूब पिएं
पानी से पूरा सिस्टम क्लीन हो जाता है। बॉडी के विशैले तत्व भी निकल जाते हैं। हम में से अधिकतर लोग अंजाने में ही पानी कम पीने के कारण डिहाइडे्रटेड रहते हैं। जिसके कारण से बॉडी में एनर्जी लेवल कम होना और थकान महसूस करते हैं।

ईटिंग हैबिट्स बदलाव लाएं
डायट को रातोंरात बदल देना तो बहुत मुश्किल है। धीरे-धीरे अनहेल्दी चीजों को हेल्दी चीजों से रिप्लेस करें, जैसे- अपने खाने में सलाद को नियमित रूप से शामिल करना, कुकिंग के लिए बटर की जगह ऑलिव ऑयल का यूज करना। धीरे-धीरे आप इसे एंजॉय करने लगेंगे। कुछ बेस्ट हेल्दी रेसिपी बुक्सें पढें, ताकि न्यूट्रिशन के बारे में ठीक से जान सकें।






















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Thursday, March 2, 2017

झुर्रियां दूर करने के 10 घरेलू उपाय

झुर्रियां दूर करने के 10 घरेलू उपाय


झुर्रियां आना मतलब बुढ़ापे की दस्तक। त्वचा में मौजूद कोलाजेन (Collagen) उम्र बढ़ने के साथ कम होने लगता है परिणाम स्वरुप त्वचा पर झुर्रियां नज़र आती हैं। हालांकि झुर्रियां आना बायोलॉजिकल प्रोसेस है लेकिन त्वचा की सही देखभाल न होने पर समय से पहले ही झुर्रियां नज़र आने लगती हैं।
आजकल झुर्रियों से निपटने के लिए बोटॉक्स और कई तरह के लेज़र तकनीक इस्तेमाल की जा रही हैं लेकिन अगर यह ठीक तरह से ने की जाएं या कुशल चिकित्सक के नेतृत्व में न हो तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। साथ ही सबकी त्वचा पर यह ट्रीटमेंट सूट करें यह भी संभव नहीं है। इनके लिए मोटी रकम भी खर्च करनी पड़ती है जो हरेक के लिए संभव नहीं। ऐसे में कुछ घरेलू उपाय ऐसे हैं जिनसे बिना नुकसान, बिना खर्च के झुर्रियों से निजात संभव है।
झुर्रियों के कारण (Reason of Wrinkles)
- एजिंग
- धूम्रपान
- फ्री रेडिकल्स
- धूप में ज्यादा रहना
- तनाव
- पोषण का अभाव
- जेनेटिक्स
- डिहाइड्रेशन
- प्रदूषण
- त्वचा की देखभाल न करना
लक्षण (Symptoms for Wrinkles)
- माथे पर लकीरों का दिखना
- आँखों के आस पास सिलवटें नजर आना
- होंठो के पास महीन रेखाएं
- बेजान चेहरा
घरेलू उपाय- (Top 10 Home Remedies for Wrinkles)
1. मिल्क पाउडर (Milk Powder)- 2 बड़े चम्मच शहद, 4 बड़े चम्मच  मिल्क पाउडर और 2 बड़े चम्मच गर्म पानी। सभी को मिलाकर चेहरे और गर्दन पर लगाएं। शहद से चेहरे पर ग्लो आता है और मिल्क पाउडर से चेहरा स्मूथ और रिंकल फ्री होगा।
2. अनानास (Pineapple)- अनानास में विटामिन सी पाया जाता है जो त्वचा के लिए बहुत अच्छा है, खासकर झुर्रियों वाली त्वचा के लिए। अनानास के पल्प को 10 मिनट चेहरे पर लगाएं और चेहरा धो दें। अनानास का रस भी इस्तेमाल किया जा सकता है। रस से सर्कुलर मोशन में मालिश करें और कुछ देर बाद चेहरा धो दें। जब तक चेहरा सूख ना जाए उसे रगड़ें नहीं।
3. नारियल तेल (Coconut Oil)- नारियल का तेल गर्म करके चेहरे की मसाज करें। झुर्रियों से निजात के लिए बेहतरीन उपाय है। साथ ही चेहरे में कसाव भी आता है।
4. केला (Banana)- पके हुए केले को अच्छी तरह मसलकर क्रीम जैसी कंसिस्टेंसी बनाएं। आधा घंटा चेहरे पर लगा रहने दें। सादे पानी से चेहरा धो दें। चेहरे को पोंछे नहीं, अपने आप सूखने दें।
5. बादाम का तेल (Almond Oil)- बादाम का तेल भी झुर्रियां हटाने में कारगर है। रोज रात में बादाम के तेल से चेहरे की मसाज करें। इस तेल से आँखों के काले घेरे भी कम हो जाते हैं।
6. पानी (Water)- सबसे आसान और लाभकारी उपाय है पानी। दिन की शुरुआत 2 गिलास पानी से करें। हर एक घंटे पर पानी पीने का नियम बनाएं। इस तरह एक दिन में 10 से 12 गिलास पानी जरूर पीयें। पानी से त्वचा पर नेचुरल ग्लो आता है और झुर्रियां नहीं पड़तीं।
7. मुल्तानी मिट्टी (Fuller's Earth)- चेहरे पर कसाव लाने और महीन रेखाओं से निजात दिलाने में मुल्तानी मिट्टी काफी फायदेमंद है। मुल्तानी मिट्टी को आधा घंटे पहले पानी में भिगा दें जब यह गल जाए इसमें खीरे का रस, टमाटर का रस और शहद मिलाएं। इस मिश्रण को चेहरे पर लगायें। ध्यान रखें कि इस पैक को हमेशा लेट कर लगाएं और पैक लगाने के बाद हँसें या बोले नहीं।
8. उड़द की दाल (Urad Dal)- उड़द की दाल को रातभर दूध में भिगाकर सुबह पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं। समय से पहले आने वाली एजिंग से बचाव होगा, साथ ही रंगत भी निखरेगी।
9. ऑलिव ऑयल (Olive Oil)- ऑलिव ऑयल भी चेहरे के लिए बेहद फायदेमंद है। इसकी मालिश भी चेहरे में चमक लाती है। रंग निखरता है और फाइन लाइन्स कम होती हैं।
10. मलाई और शहद (Cream and Honey)- मलाई, शहद और नींबू को मिलकर चेहरे की मसाज करें। 10 मिनट बाद चेहरा धो दें। झुर्रियों से निजात मिलेगी और चेहरे पर चमक आएगी।

जीरा के लाभ क्या जानते हैं आप!


जीरे का इस्तेमाल हमारे मसालों में करीब पांच हजार सालों से होता आ रहा है। यह एंटीऑक्सिडेंट तो होता ही है, कार्मिनेटिव और ऐंटी फ्लैचुलेंट भी होता है। यह न केवल जोडों के वात, बल्कि पेट में बनने वाले गैस को मिटाने में भी मददगार होता है। इसके बीज में एक खास किस्म का तेल भी होता है, जो हमारी हैल्थ के लिए लाभकारी होता है और खाने को देर तक ताजा बनाए रखता है।

जीरा में आयरन का सबसे अच्छा स्त्रोत है। इसे रोजाना खाने में किसी न किसी रूप में शामिल करें और खून की कमी दूर होती है। वहीं गर्भवती महिलाओं के लिए जीरा अमृत का काम करता है।

अगर आप वजन कम करना चाहिए है तो जीरा, हींग और काले नमक को एक समान मात्रा में मिलाकर उसका पाउडर बनालें और इसे दिन में दो बार या फिर दही के साथ लें। कुछ ही हफ्तो में सही असर दिखने लगेगा।

डायबिटीज को कंट्रोल करने के लिए एक छोटा चम्मच पिसा जीरा दिन में दो बार पानी के साथ लेने से काफी फायदा होता है।


जीरे में एंटीसेप्टिक तत्व भी पाये जाते हैं। सीने में जमे हुए कफ को बाहर निकलने के लिए जीरे को पीसकर फांक लें। यह सर्दी-जुकाम से भी राहत दिलाता है।

अस्था रोगी को ब्रोंकाइटिस या अन्य सांस संबंधी परेशानी है जो उन्हें जीरे का नियमित सेवन करना चाहिए।