Friday, January 27, 2017

सुबह ब्रेकफास्ट करना क्यों जरुरी है?

health tips

बिजी शेड्यूल और भागमभाग के चलते कई लोग सुबह नाश्ता नहीं कर पाते हैं। वजन घटाने की कोशिश करने वाले भी कई बार यह सोचकर ब्रेकफास्ट छोड़ देते हैं कि इससे वे कैलोरी इनटेक कम कर सकेंगे। लेकिन यह गलती आपको बीमार बना सकती है। सुबह नाश्ता करना हेल्दी शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। आइए जानते है सुबह नाश्ता नहीं करने से शरीर पर क्या गंभीर साइड इफ़ेक्ट हो सकते है।


एसिडिटी होने लगती है
रातभर पेट खाली रहने के कारण उसमें एसिड्स की मात्रा बढ़ जाती है। एसिड्स का काम खाना पचाने का होता है। जब पेट में कुछ नहीं होगा तो ये एसिड्स एसिडिटी बढ़ाने लगते हैं।

वजन बढ़ता है
नाश्ता न करने से बॉडी का मेटाबॉलिज़्म धीमा हो जाता है जिससे बॉडी की कैलोरी बर्न करने की क्षमता कम हो जाती है। इससे वजन तेज़ी से बढ़ता है।

अल्सर का खतरा बढ़ता है
नाश्ता न करने से एसिडिटी की प्रॉब्लम बढ़ती है। ये प्रॉब्लम लंबे समय तक बनी रहे तो अल्सर भी हो सकता है।


हार्ट अटैक की आशंका बढ़ती है
अमेरिकन स्टडी के मुताबिक़, नाश्ता न करने वाले लोगों में 27% तक हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक़, नाश्ता न करने से मोटापा बढ़ता है, जिससे हार्ट पर बुरा असर पड़ता है।

डायबिटीज़ हो सकती है
ओबेसिटी जर्नल की स्टडी कहती है कि नाश्ता न करने से वजन बढ़ता है। इससे टाइप 2 डायबिटीज़ होने का खतरा 54 % तक बढ़ सकता है।


एनर्जी की कमी हो सकती है
नाश्ता न करने से बॉडी का ग्लूकोज़ लेवल कम हो जाता है। इससे दिनभर बॉडी में एनर्जी की कमी और थकान हो सकती है।

मूड बिगड़ सकता है
नाश्ता न करने से बॉडी चिड़चिड़ापन बढ़ाने वाले हॉर्मोन्स (कॉर्टिसोल हॉर्मोन) का लेवल बढ़ता है जिससे मूड बिगड़ता है।


ब्रेन पर बुरा असर पड़ता है
नाश्ता न करने से ब्रेन को पर्याप्त न्यट्रिशन और एनर्जी नहीं मिल पाती है। इससे ब्रेन के फंक्शन्स पर बुरा असर पड़ता है। किसी काम में मन न लगने की प्रॉब्लम भी हो सकती है।

माइग्रेन हो सकता है
नाश्ता न करने से हम देर तक खाली पेट रहते हैं। इस दौरान बॉडी का ग्लूकोज़ लेवल बैलेंस करने के लिए कुछ हॉर्मोन्स रिलीज़ होते हैं। इससे BP बढ़ता है और माइग्रेन का अटैक आ सकता है।

स्ट्रेस बढ़ सकता है
शिकागो यूनिवर्सिटी की रिसर्च कहती है, नाश्ता न करने वाले ज्यादातर लोगों को लंच तक तेज़ भूख लगी होती है। ऐसे में वे अक्सर अनहेल्दी फ़ूड खा लेते हैं। इससे स्ट्रेस, डिप्रेशन जैसी कई बीमारियों खतरा बढ़ता है।









अब ठंड की नो टेंशन जब


Winter tips

ठंडी हवाएं जहां मन को खुश कर रही हैं वहीं त्वचा को छूकर कुदरती नमी चुराने की फिराक में भी हैं। आप चाहें तो इन हवाओं को अपनी स्किन का दोस्त बना सकती हैं। सर्द मौसम का ठंडापन और रूखापन स्किन से नमी को खींच लेने वाला होता है जिससे स्किन सूखी फटी-फटी और थोडी संवेदनशील हो जाती है। क्रीम, लोशन ाअैर दूसरे हर्बल स्किन केयर उत्पाद रूखी स्किन के लिए अत्यंत फायेदेमंद होते हैं और स्किन को आराम पहुंचाते हैं। ये गहराई तक नमी प्रदान करते हैं और स्किन को मुर्झाने से बचाते हैं। ये बिना जलन पैदा किए आसानी से स्किन को तरोताजा करते हैं। साथ ही इसकी नमी के संतुलन को भी बनाए रखते हैं टोनर और क्लेंजिंग मिल्क प्रभावी तरीके से स्किन की गहराई से सफाई करते हैं और रोमछिद्रों का निर्माण शुद्धिकरण व उन्हें पोषित करते हैं। सूखी स्किन को स्वच्छए नरम व नमीयुक्त बनाते हैं। जाडे में त्वचा को ड्र्र्र्राई होने से रोकें।

सही लोशन लगाएं
ऐसा लोशन चुनें जो आपकी उम्र-विशेष व त्वचा की जरूरत के मुताबिक हो और जो धूप से सुरक्षा भी दे। बादाम कैस्टर एलोवेरा और जोजोबा ऑयल सर्दियों में खासतौर से स्किन को पोषण और नमी देते हैं। लोशनप की बजाय स्किन केयर क्रीम का यूज करेंए क्योंकि स्किन केयर क्रीम या ऑइंटमेंट स्किन की सतह के ऊपर सुरक्षात्मक आवरण बनाते हैं।

गर्म शॅावर
इस मौसम में हर सुबह एक स्फूर्तिदायक गर्म स्नान अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपको ताजगी प्रदान करता है और स्किन की हाइजिन को बनाएं रखता है। पानी का तापमान बहुत ज्यादा गर्म नहीं होना चाहिए क्योंकि यह स्किन की कुदरती नमी को सोख लेता है।

जरूरी है बॉडी ऑयल
स्किन पर बॉडी ऑयल से मालिश करना सूखेपन को दूर रख्ने का एक असरदार तरीका है। अगर यह हमेशा मुमकिन ना हो तो ऐसा स्नान करने के पहले करें। ऐसे बॉडी ऑयल का चुनाव करें जो ज्यादा चिकनाई युक्त ना हो और जल्दी जज्ब हो जाने वाला हो। इसे सोने से पहले लगाया जा सके ताकि आपको आरामदायक नींद मिले।

हाइइ्रेटेड फेसवॉश चुनें
सर्द और सूखे मौसम में फेस की स्किन की विशेष देखभाल की जरूरत पडती है। ऐसे में संतुलितए सौम्य व हाइडे्रटिंग फेसवॉश का इस्तेमाल करें जिसमें दूसरे क्लेंजिग व मॉइश्चराइजिंग जडी-बूटियों के साथ-साथ एलोवेरा पर्याप्त मात्रा में हो।

Wednesday, January 25, 2017

#दाद में लाभकारी हींग

दाद में लाभकारी "हींग"

                  त्वचा पर दाद होने पर थोड़ी - सी हींग पानी में घोलकर प्रभावित स्थान पर लगाने से आशातीत लाभ मिलता है।



Tuesday, January 24, 2017

लहसुन को तकिये के नीचे रखकर सोने से ये होते है फायदे

health tips

आयुर्वेद के अनुसार लहसुन एक बड़ी ही उपयोगी औषधि है। आमतौर पर लहसुन को खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए यूज किया जाता है। लेकिन अगर इसे रात को सोते समय तकिये के नीचे रखा जाए तो यह कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स भी देता है। इसमें मौजूद वोलेटाइल ऑयल की गंध नाक के रास्ते से बॉडी में जाती है जो हेल्थ के लिए फायदेमंद होती है। आइए जानते है लहसुन को तकिये के नीचे रखकर सोने से क्या फायदे होते है –


नींद – लहसुन की गंध से बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है। इससे रात को अच्छी नींद आती है।



सर्दी-जुकाम – लहसुन में मौजूद वोलेटाइल ऑयल की गंध बॉडी में गर्मी पैदा करती है। इससे सर्दी-जुकाम की प्रॉब्लम दूर होती है।

हेल्दी हार्ट – लहसुन की गंध से कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल रहता है। इससे हार्ट डिज़ीज़ का खतरा टलता है।


हेल्दी स्किन – लहसुन की गंध से बॉडी के बैक्टीरिया ख़त्म होते हैं। इससे स्किन इंफेक्शन, पिम्पल्स, खुजली की प्रॉब्लम दूर होती है।

मिर्गी – लहसुन की गंध से मिर्गी की प्रॉब्लम कंट्रोल होती है। इसके दौरे का खतरा टलता है।

लहसुन के अन्य फायदे-

वेट लॉस – लहसुन में जीरा, सौंफ और सेंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट खाने से वजन कम होता है।

ब्लड प्रेशर– रोज़ सुबह लहसुन की 2 कलियां खाने से BP कंट्रोल रहता है।


बालों का झड़ना – लहसुन की 5 से 6 कलियों को सरसों के तेल में पकाएं। इसे ठंडा करके सिर की मालिश करने पर बालों का झड़ना कम होगा।

डाइजेशन – रोज़ सुबह खाली पेट लहसुन की तीन कलियां खाने से डाइजेशन ठीक रहता है और भूख बढ़ती है।

अस्थमा – लहसुन की दो कलियों को पीसकर अदरक वाली चाय के साथ लेने से अस्थमा का असर कम होता है।

जोड़ों का दर्द – सरसों के तेल में लहसुन, अजवाइन, सौंठ और लौंग मिलाकर गर्म कर लें। इससे जोड़ों की मालिश करने पर राहत मिलती है।

फीवर – लहसुन की 3-4 कलियों को पीसकर शहद में मिला लें। इसे खाने से फीवर कम होता है।


Sunday, January 15, 2017

अगर आपको भी है अपनी त्वचा से शि‍कायत तो अपनाइए चॉकलेट फेशि‍यल

Cultivate the chocolate even if you complain to your skin facials


चॉकलेट फेशियल से त्वचा में न केवल निखार आता है बल्क‍ि इससे त्वचा को पोषण भी मिलता है. चॉकलेट फेशियल भी कई प्रकार का होता है. अगर आपको आपका स्क‍िन टाइप पता है तो आपके लिए सही फेशियल चुनना काफी आसान हो जाएगा.

chocolate  facials

अच्छी बात ये है कि अगर आप चाहें तो घर पर ही अपना चॉकेलट फेशियल कर सकती हैं. कुछ मात्रा में कोकोआ पाउडर को दही को मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लीजिए और इसे चेहरे पर लगाइए. ये एक बेहतरीन किस्म का चॉकेलट फेशियल है. इसका एक दूसरा फायदा ये भी है कि चॉकलेट की अपनी एक खास सुगंध होती है, जो लगाने के बाद आपको रीलेक्स होने में मदद करती है.

अगर आपकी त्वचा बहुत संवेदनशील है तो चॉकलेट फेशियल से बेहतर कुछ हो ही नहीं सकता है. चॉकलेट फेशियल से होने वाले ये फायदे आपको हैरत में डाल देंगे:


beauty tips

1. उच्च मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट
चॉकलेट फेशियल में उच्च मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट होता है जिससे त्वचा पर मौजूद झुर्रियां और बारीक रेखाएं समाप्त हो जाती हैं. इसके अलावा अगर आपका चेहरा साफ नजर नहीं आता है तो भी ये फेशियल आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा.

2. बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए
चॉकलेट फेशियल इस्तेमाल करने का ये दूसरा बड़ा फायदा है. चॉकलेट फेशियल का इस्तेमाल करने से बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम किया जा सकता है. डार्क चॉकलेट में पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं और ये किसी भी दूसरे फेशियल की तुलना में ज्यादा कारगर होता है.

3. दाग धब्बे से आजादी
चेहरे पर दाग-धब्बे हो जाना एक बहुत आम समस्या है. चॉकलेट फेशियल के इस्तेमाल से त्वचा के दाग-धब्बे बहुत आसानी से दूर हो जाते हैं और त्वचा दाग-रहित, खूबसूरत नजर आती है.