Monday, November 28, 2016

चेहरे पर काले दाग, धब्बे, मुँहासे के निशान के इलाज के लिए घरेलू उपाय –



face tips

मुँहासे के निशान और त्वचा का रंग भी, मुहासे होने का कारण आपको शर्मिंदा कर रहा है किसी समूह का सदस्य बनने से!! क्या आप सौंदर्य प्रसाधन का उपयोग करते करते तक गए है! तो एक नज़र डालिए घर मे बने हुए मिश्रण पर जो सारे दाग धब्बे निकाल देगा।

काले दाग (black spots) धब्बे होने के कई कारण है जिनमे से मुख्य कारण कील, मुहासे, काले सिरे (ब्लैक हेड्स), फुडिया होते है। मुहासे से छुटकारा, सूरज की तेज किरण के कारण चेहरे के गड्ढे, दाग धब्बे ओर भी बढ़ जाते है जो चेहरे के सावले होने का कारण बनती है। इसके लिए आप जब भी बाहर जाए तो सन क्रीम लगा कर जाए और नीचे कुछ विधिया दी गई है मुहांसे के कारण जो दाग धब्बे से निजात दिलाने मे आपकी मदद करेगे। पिम्पल्स का इलाज के लिए रसायनिक पदार्थ का उपयोग करने से बेहतर होगा की आप प्राकृतिक उत्पादो का उपयोग करे। घरेलू उत्पाद बहुत सस्ते होते है और इनका कोई बुरा असर भी नही पड़ता। चेहरे पर दाने के उपाय, त्वचा की देखरेख करना वो भी सुंदरता के साथ यह बहुत ज़रूरी है। कुछ घरेलू उपचार की सूची नीचे दी गई है जो काले दाग (black spots) धब्बे, मुँहासे के निशान से दूर रहने मे आपकी मदद करेगे।
मुँहासे के निशान से दूर करने के लिए टमाटर (Tomato for erasing dark spots)
पिम्पल्स का इलाज के लिए एक मध्यम आकार का टमाटर ले, उसका रस निकले और उसमे एक चम्मच नीबू का रस मिलाए। फिर पूरे चेहरे मे लगाए और 20 मिनिट के बाद गुनगुने पानी से चेहरा धो ले

Beauty tips


मुँहासे के निशान से दूर करने के लिए प्याज (Onions to lighten acne marks)एलोवेरा का रस निकले और 5 मिनिट तक बाहर रखे, फिर उसमे नीबू के रस की कुछ बूंदे मिलाए और चेहरे पर लगाए और 15 मिनिट के बाद धो दे। चेहरे के गड्ढे, आपको इसके बेहतर परिणाम मिलेगे।

चेहरे के काले दाग धब्बे, प्याज मे क्रत्रिम प्रतिरोधक गुण होते है जो की मुहसो के दाग धब्बे दूर करने मे आपकी मदद करेगे। तो शांतीपूवर्क इस विधि का उपयोग करे। प्याज ले और उसका रस निकल कर चेहरे के संक्रमित स्थान पर लगाए और कुछ मिनिट तक रहने दे फिर साधारण पानी से धो दे।
मुँहासे के निशान से दूर करने के लिए चंदन (Sandalwood for erasing pimple scars and dark spots)
2 चम्मच चंदन पाउडर ले, उसमे कुछ बूंदे गुलाबजल की मिलाए फिर दाग पर और पूरे चेहरे पर लगा ले और सूखने के बाद धो ले।

मुँहासे के निशान से दूर करने के लिए हल्दी और नीबू के रस (Turmeric and lemon juice for acne marks)

चुटकी भर हल्दी पाउडर ले, उसमे कुछ बूंदे नींबू के रस की मिलाए फिर दाग पर या पूरे चेहरे पर लगाए। कुछ ही हफ़्तो के अंदर दाग दूर हो जाएगे और त्वचा चमकने लगेगी।


एक आलू ले और उसे कद्दूकस कर ले और उसमे सही मात्रा मे शहद मिलाए फिर चेहरे पर लगाए और 15 मिनिट के बाद धो दे। या आलू के टुकड़े को भी आप चेहरे पर रगड़ सकते है जो की काले धब्बे दूर कर देगे।मुँहासे के निशान से दूर करने के लिए आलू और शहद (Potato juice and honey for pimple ka ilaj hindi me)
दाग धब्बे के लिए घर मे हाथ से बनाए कुछ उपाय (A handy homemade concoction to remove scars & dark spots from the skin)

एक चम्मच प्याज का रस, एक चम्मच अदरक का रस, आधा चम्मच सिरका इन तीनो को मिला ले और दाग पर लगा कर कुछ मिनिट तक मालिश करे फिर 20 मिनिट के बाद ठंडा पानी ले कर धो ले। यह बहुत सरल और उपयोगी है। प्याज मे गंधक (सल्फर), विटामिन और अदरक मे आलीसिन नामक पदार्थ होता है जो त्वचा को कोमल बनाती है और त्वचा से कीटाणु को निकाल देती है।
मुहासे का उपचार के लिए नीबू का रस (Lemon juice for erasing dark spots)

कील मुंहासे का इलाज, नीबू मे स्तम्मक(अस्ट्रिंजेंट), विटामिन सी होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकल देता है तो जब भी आप दाग धब्बे का इलाज करे तो नीबू का इस्तेमाल करे। नीबू का रस निकल कर कॉटन की सहयता से दाग पर लगाए। अच्छे परिणाम के लिए हर दूसरे दिन इस विधि का उपयोग करे।

मुहासे के निशान, एक खीरा ले उसे कद्दूकस करे उसमे तोड़ा दूध, कुछ बूंदे नीबू की मिलाए और चेहरे पर लगाए। यह बहुत ही सरल और उपयोगी विधि है।मुँहासे के निशान से दूर करने के लिए खीरा और दूध (Cucumber & milk for treating dark marks)
पपीता (Papaya a sure shot remedy for dark spots)

पपीता मे एंज़ाइम होते है जो की चेहरे के दाग कम करते है। इसके लिए पके पपीते का उपयोग करे, पपीते का गुदा निकाल कर 15 मिनिट तक चेहरे पर लगा कर रखे फिर ठंडा पानी से धो दे।
छाछ (Buttermilk for fading marks and spots)

छाछ मे लॅकटिक एसिड होता है जो की अल्फा हाइड्रॉक्सिल एसिड की तरह काम करता है। यह एक प्रकार का प्रकतिक एसिड है जो चेहरे की मृत त्वचा, धूल और तेल को निकालता है। एक कटोरी मे छाछ ले और रूई की मदद से दाग पर लगाए और अगर मुमकिन है तो आधी मात्रा मे नीबू का रस भी मिला कर मास्क की तरह भी उपयोग सकते है।
विटामिन ई तेल (Vitamin E oil for skin marks and spots)

यह एक बेहतर एंटीऑक्सीडेंट है जो की चेहरे के गड्ढे, घाव भरने मे सहयता करता है। विटामिन ई तेल मे केवड़ा का तेल(केस्टर आयिल) मिलाए और दाग पर लगाए और परिणाम देखे।
जई(ओट्स) (Oats for treating those black spots)


पानी (Drink lots of water to fade the spots quickly)कील मुंहासे का इलाज, जई सिर्फ़ सर्वोत्तम आहार के रूप मे ही नही बल्कि औषधि के रूप मे भी उपयोग होता है जो की चेहरे के दाग, धब्बे , मुहासे ठीक करता है। मुहासे की दवा, काले दाग (black spot), धब्बे और मुहासे के निशान से छुटकारा पाने के लिए चेहरे पर ज़ई के आटे का मुखौटा(मास्क) लगाए। ज़ई के आटे मे नीबू का रस मिलाए और गाढ़ा घोल बना कर मास्क की तरह चेहरे पर लगाए और कुछ देर तक मले फिर गर्म पानी से धो ले। तुरंत आराम के लिए इस विधि का उपयोग हफ्ते मे दो बार करे।

अधिक मात्रा मे पानी पीने से भी दाग,धब्बे,मुहासे ठीक होते है। रोजाना 6 से 8 गिलास तक पानी पीए जो की शरीर से विषाक्त पदार्थों (टॉक्सिन्स) को निकाल कर त्वचा मे नमी बनाए रखता है और दाग को हल्का करता है।
मुहासे का उपचार – दूध (Raw milk to lighten spots)

दूध चेहरे की रंगत बढ़ाता है, दूध मे लॅकटिक अम्ल होता है जो त्वचा को कोमल और सुंदर बनाता है। इसके लिए कच्चे दूध का उपयोग करे। दूध मे रूई भिगोकर पूरे चेहरे पर लगाए फिर 15 मिनिट के बाद गर्म पानी से धो ले,रोज सुबह इस विधि का उपयोग करे।
दाग धब्बों को हल्का करने के लिए दूध और केसर (Milk and kesar for spot lightening)


एक्ने के दाग दूर करने के लिए लाल मसूर की दाल और दूध (Red lentils and milk for acne mark removal)केसर के कुछ दानों को 2 चम्मच दूध में रातभर भिगोकर रख दें। इस पात्र को फ्रिज (fridge) में रखें, जिससे कि ये खराब ना हो जाए। सुबह केसर के दानों को दूध में मसल लें और इसका प्रयोग चेहरे पर करें। खासकर काले धब्बों और एक्ने (acne) के निशानों पर इसे लगाएं। इसे पूरी तरह सूखने दें और फिर सादे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग रोजाना करने से आपको 1 हफ्ते में फर्क दिखने लगेगा।

दाग धब्बों को दूर करने के लिए लाल मसूर की दाल और दूध का भी पैक बनाया जा सकता है। 1 चम्मच साफ़ और धुली लाल मसूर की दाल को कच्चे दूध में भिगोकर रखें। सुबह इसे दूध के साथ पीसकर एक दानेदार पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर हलके हाथों से रगडें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और इसके बाद कुछ देर तक दोबारा अपने चेहरे को रगड़कर इसे गुनगुने पानी से धो लें। हफ्ते में इसका 2 बार प्रयोग करने पर आपको 15 दिनों में फर्क दिखने लगेगा।
दही और शहद से काले धब्बे दूर करें (Yogurt with honey for erasing dark spots)

दही में ऐसे एंजाइम (enzymes) होते हैं जो किसी भी दाग धब्बे को दूर कर सकते हैं, और शहद प्राकृतिक रूप से आपकी रंगत को निखारता है। 1 चम्मच दही को 2 चम्मच शहद के साथ मिश्रित करें। इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और काले धब्बों पर खासकर ध्यान केन्द्रित करें। इस पैक को 20 मिनट तक अपने चेहरे पर रहने दें और फिर इसे हाथों से रगड़कर पानी से साफ़ कर लें। अच्छे परिणामों के लिए इस उपचार का प्रयोग रोजाना करें।
चेहरे के दागों को हल्का करने के लिए कैस्टर ऑइल (Castor oil for lightening marks on the face)


काले धब्बे दूर करने के लिए हॉर्सरेडिश (Horseradish for removing those dark spots)कैस्टर ऑइल में त्वचा की मरम्मत के गुण होते हैं और यह काले धब्बे दूर करने में आपकी काफी सहायता करता है। प्रभावित भाग को अच्छे से साफ कर लें तथा इसके बाद अपनी त्वचा पर कैस्टर ऑइल से 5 मिनट तक मालिश करें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़ दें और एक गीले कपड़े से इसे पोंछ लेने से पहले चेहरे पर 5 मिनट तक दोबारा मालिश करें। अंत में इसे पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग दिन में 2 बार करके एक महीने में अच्छे परिणाम प्राप्त करें।

हॉर्सरेडिश आपके चेहरे से काले धब्बे और अन्य दाग दूर करने में काफी प्रभावशाली साबित होता है। हॉर्सरेडिश लेकर इसे किस लें और इससे एक महीन पेस्ट तैयार कर लें तथा अपने चेहरे के प्रभावित भागों पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। इस उपचार का प्रयोग दिन में कम से कम 2 बार करें और एक महीने में आपको काफी प्रभाव दिखेगा।
काले धब्बे दूर करने के लिए रेडकरंट और शहद (Redcurrant and honey for erasing black spots)

रेडकरंट आंवला परिवार का सदस्य है और यह काले धब्बों पर जमे मेलेनिन (melanin) को हल्का करता है। कुछ रेडकरंट लें और इन्हें पीसकर 1 चम्मच शहद के साथ मिश्रित करें। इस पैक को अपने चेहरे पर लाएं और काले धब्बों पर ध्यान केन्द्रित करें। इसे 20 मिनट के लिए छोड़कर पानी से धो लें। अच्छे परिणामों के लिए इस उपचार का प्रयोग रोजाना करें।
त्वचा के दागों को हल्का करने के लिए मुल्तानी मिट्टी और नींबू का रस (Fuller’s earth with lemon juice for lightening skin spots)

मुल्तानी मिट्टी में कई प्राकृतिक खनिज होते हैं और इसमें त्वचा का रंग साफ करने के भी गुण होते हैं। मुल्तानी मिट्टी और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। इसमें नींबू के रस की कुछ बूँदें मिलाएं और अपने चेहरे के दाग धब्बों पर लगाएं। इसे सूखने तक अपने चेहरे पर छोड़ दें। अगर आप अपने पूरे चेहरे पर यह पैक लगा रहे हैं तो इसे पूरी तरह सूखने ना दें। अपने चेहरे को दोनों हाथों से रगड़कर काफी मात्रा में पानी से इसे धो लें।

अंगूर और सेब दोनों में ही कई प्रकार के पोषक पदार्थ मौजूद होते हैं। इनकी मदद से आपकी त्वचा में गोरापन आता है। सेब का एक छोटा टुकड़ा लें और इसे पीसकर दो हरे अंगूरों के साथ मिश्रित करें। इनकी त्वचा को ना छीलें। इस पैक को अपनी त्वचा पर लगाएं और दाग धब्बों पर ध्यान केन्द्रित करें। आप इससे अपनी त्वचा की हलके से मालिश कर सकते हैं। इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। रोजाना इस पैक का प्रयोग करने से आपको 1 महीने में परिणाम दिखने शुरू हो जाएंगे।चेहरे के दागों को कम करने के लिए अंगूर और सेब (Grapes and apple for facial spot reduction)

चेहरे के काले दाग हटाने के लिए मुलैठी (Liquorice for erasing dark spot on the skin)

मुलैठी त्वचा से मेलेनिन दूर करने की अपनी खूबी की वजह से जानी जाती है। मुलैठी की जडें किसी भी काले धब्बे को दूर करने में काफी कारगर साबित होती हैं। मुलैठी की जड़ों का एक पेस्ट तैयार करें और इसमें शहद की कुछ बूँदें मिश्रित करें। इस पेस्ट को चेहरे के काले धब्बों पर लगाएं और 15 मिनट रखने के बाद पानी से धो लें। रोजाना इस विधि का प्रयोग करने पर आपको 1 से 2 हफ़्तों में अच्छे परिणाम मिलने शुरू हो जाएंगे। चेहरे पर मुलैठी का प्रयोग करने से पहले एक पैच टेस्ट (patch test) करवा लें।
कुछ टिप्स चेहरे पर काले दाग, धब्बे, मुँहासे के निशान के इलाज के लिए घरेलू उपाय (Some tips for using home remedies to treat marks and spots on the skin)

चेहरे के किसी भी दाग धब्बे और अन्य किसी भी तरह के निशान को आसानी से घरेलू नुस्खों की मदद से ठीक किया जा सकता है, पर ये उपचार तभी प्रभाव दिखाते हैं जब इन्हें जल्दी शुरू किया जाए। अतः अगर आपके चेहरे पर हाल में ही मुहांसे के निशान आए हैं तो इसके सूखने के साथ ही ऊपर बतायी गयी घरेलू विधियों में से किसी एक का इस्तेमाल शुरू कर दें। इससे यह बात सुनिश्चित होगी कि आपको 1 हफ्ते के अंदर ही मुहांसों के दाग से छुटकारा प्राप्त हो जाएगा।
चन्दन, मुलैठी और हल्दी जैसे घरेलू नुस्खे त्वचा के पुराने दाग धब्बों के निशानों को भी हल्का करने की क्षमता रखते हैं। हालांकि काफी अच्छी तरह से इनका इस्तेमाल करने पर भी इस बात की काफी संभावना होती है कि इनका असर काफी महीनों में दिखे।
घरेलू नुस्खों के कार्य करने की क्षमता काफी हद तक आपकी त्वचा के प्रकार और आपकी उम्र पर भी निर्भर करती है। त्वचा की नयी कोशिकाएं पैदा करने की क्षमता उम्र के साथ घटने लगती है और इसी वजह से दाग धब्बों के हल्के होने की प्रक्रिया जवान उम्र के लोगों के मुकाबले बुज़ुर्ग लोगों में काफी धीमी गति से होती है।
घरेलू नुस्खे चेहरे के किसी भी दाग धब्बों के निशानों को हल्का करने की क्षमता रखते हैं। इनका सही और ज़्यादा से ज़्यादा लाभ उठाने के लिए इनका प्रयोग निरंतर रूप से और बताये गए नुस्खे के अनुसार लंबे समय तक करें। इससे आपको बेहतरीन परिणाम मिलेंगे।
घरेलू नुस्खों की सबसे अच्छी बात यह होती है कि इनके कोई साइड इफेक्ट्स (side effects) नहीं होते और ये काफी किफायती भी साबित होते हैं।
त्वचा की रंजकता (pigmentation), दाग और धब्बे दूर करने के घरेलू नुस्खों का निर्माण इनके उपयोग से तुरंत पहले करें। ताज़ा उत्पादों से आपको ज़्यादा अच्छा प्रभाव दिखेगा।
दाग और धब्बे हटाने के कुछ नुस्खे जैसे मुलैठी त्वचा की संवेदनशीलता को बढ़ा सकते हैं। अतः जब आप दाग धब्बे हटाने के लिए किसी घरेलू नुस्खे का प्रयोग कर रहे हैं तो धूप में बाहर निकलने से पहले सही सनस्क्रीन (sunscreen) का प्रयोग अवश्य करें।



Friday, November 25, 2016

सर्दियों में ऐसे करें त्वचा की देखभाल



Such skin care in winter


सर्दियों में त्वचा रूखी हो जाती है और त्वचा से जुड़ी कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है, इसलिए इस मौसम में अपनी त्वचा की खास देखभाल करें, ताकि आपकी त्वचा में नमी और निखार बरकरार रहें। लक्मे सैलून की राष्ट्रीय विशेषज्ञ (नाखून व त्वचा) दिशा मेहर के सुझावों को अपनाकर आप भी सर्दियों में अपनी त्वचा को मुलायम व निखरा बनाए रख सकते हैं :-

* अगर आपके चेहरे पर महीन रेखायें नजर आती हैं और त्वचा रूखी लगती है तो आपके लिए त्वचा में नमी बनाए रखना बेहद जरूरी है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर व्हाइट टी स्किन ट्रीटमेंट के जरिए आपकी त्वचा में जरूरी नमी फिर से आ सकती है। अच्छी कंपनी का मॉइस्चराइजर भी जरूर लगाएं।

health tips


मौसम बदलने से त्वचा लाल पड़ जाती है और इसमें कुछ सूजन भी हो सकती है, इसलिए सावधानी से सौंदर्य उत्पादों का चुनाव करें व मॉइस्चराइजर रोज लगाएं।




त्वचा बेजान मालूम पडऩे या चमक खोने का मतलब इसका एसिड मेंटल प्रभावित होना है। त्वचा में नमी और तेल की कमी इसका प्रमुख कारण है। सोने से पहले पोषक तत्वों से भरपूर आर्गन तेल से मालिश जरूर करें। यह त्वचा में आवश्यक कोलेजन स्तर को बनाए रखने में मददगार है।




सर्दियों के दौरान एड़ी फटना एक आम समस्या है। नंग पैर नहीं चले। मॉइस्चराइजर, तेल या एड़ी फटने की विशेष क्रीम लगाएं और मोजे पहनें।


Thursday, November 24, 2016

गोरा होने घरेलू के टिप्स

gharelu tips

क्‍या आप अपने चेहरे को गोरा बनाने के लिये खूब बाजारू उत्‍पादों का प्रयोग करती हैं? अगर ऐसा है तो, अब आपको ऐसा करने की आवश्‍यकता नहीं है क्‍योंकि आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू नुस्‍खे और उपाय बताएंगे जिनसे आप की गोराई बरकरार रह सकती है। झट से गोरा बनाने वाले 13 फेस पैक गोरेपन में कमी आने के कई कारण हो सकते हैं जैसे, कड़ी सूरज की धूप, प्रदूषण, झाइयां या फिर चेहरे पर दाग-धब्‍बे आदि। बाजार में मिलने वाले स्‍किन केयल प्रोडक्‍ट संवेदनशील त्‍वचा के लिये बडे़ ही हानिकारक माने जाते हैं। बेहतर है कि आप घर में रखी प्राकृतिक चीज़ों का ही प्रयोग करें क्‍योंकि इनसे किसी भी प्रकार की कोई हानि नहीं होती। हफ्ते भर में खुद को बनाएं गोरी निखार पाने के लिए महंगी से महंगी क्रीम, लोशन का इस्तेमाल करना बंद कीजिये और बोल्‍डस्‍काई दृारा बताए जाने वाले इन बेहतरीन उपाय का प्रयोग करें। आइये जानते हैं कौन से हैं वे घरेलू नुस्‍खे जो बना सकते हैं आपको दो दिन में गोरा । 

face tips

बेकिंग सोडा बेकिंग सोडा और पानी मिला कर पेस्‍ट बनाएं। इसे चेहरे पर 15 मिनट के लिये लगाएं। इस पेस्‍ट को चेहरे पर लगाने से पहले मुंह को फेस वॉश से धो लें। 



दूध-केला पके हुए केले को थोड़े से दूध के साथ पेस्‍ट बना कर चेहरे पर लगाएं। 20 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। 

 गुलाब जल यह आपके चेहरे को टोन कर के पोषण पहुंचाएगा। रोज वॉटर को मिल्‍क के साथ लगाएं। अच्‍छा होगा कि आप इसे रात को सोने से पहले चेहरे पर लगाएं। इससे त्‍वचा ब्राइट बनेगी।

 एलोवेरा जैल ऐलोवेरा जैल आपकी त्‍वचा को गोरा, साफ और नम बनाएगा। इसे चेहरे और गर्दन पर 30 मिनट के लिये लगाएं। 

beauty tips

सूरजमुखी बीज थोड़े से सूरजमुखी बीज को रातभर दूध में भिगो कर रख दें। फिर सुबह इसमें हल्‍दी और केसर के कुछ धागे डाल कर पेस्‍ट बनाएं। इसे चेहरे पर 15 मिनट तक लगा रहने दें। कुछ ही दिनों में आपका चेहरा गोरा बन जाएगा। 

आम का छिलका थोड़े से आम के छिलको को दूध के साथ पीस कर पेस्‍ट बना लें। फिर इसे चेहरे और गर्दन पर 15 मिनट तक लगाने के बाद पानी से धो लें। इससे सन टैन मिट जाएगा और चेहरा गोरा बन जाएगा। 

शहद शहद को कुछ बूंदों को नींबू और थोडे़ से दही के साथ मिक्‍स कर के चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट के बाद इसे साफ कर लें। इससे चहरा गोरा बनेगा और गंदगी भी साफ होगी। 

शक्‍कर से स्‍क्रब करें शक्‍कर को नींबू के रस के साथ मिक्‍स करें और हल्‍के हाथों से चेहरे पर रगड़ें। इससे डेड स्‍किन हटेगी और गंदगी बाहर निकलेगी।     

नारियल पानी दिन में दो बार चेहरे पर नारियल पानी लगाएं। इसेस दाग धब्‍बे, झाइयां दूर होती हैं। त्‍वचा में गोरापन आता है। पानी का ज्‍यादा सेवन पानी शरीर से गंदगी को बाहर निकालता है और चेहरे को टाइट बना कर झुर्रियां मिटाता है। इस वजह से चेहरा साफ और गोरा दिखता है। 

अच्‍छी नींद लें आपको दिन में 8 घंटों की नींद लेनी जरुरी है। इससे आंखों के नीचे पड़े डार्क सर्कल मिटेगें। साथ ही इससे प्राकृतिक ग्‍लो आएगा और चेहरा गोरा लगेगा।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Wednesday, November 23, 2016

सर्दियों में करें इन 6 तेलों का इस्तेमाल, बीमारियां रहेंगी कोसों दूर


health tips



आयुर्वेद के अनुसार तेलों में विभिन्न प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं। जानिए किस तेल में हैं कौनसे गुण।

कुदरत ने ऐसी कई सौगातें दी हैं जिनमें स्वास्थ्य का खजाना छुपा हुआ है। तेल भी इनमें से एक है। आयुर्वेद के अनुसार तेलों में विभिन्न प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं। जानिए किस तेल में हैं कौनसे गुण।


तिल का तेल

आयुर्वेद के अनुसार तिल विटामिन ए व ई से भरपूर होता है। इसे हल्का गरम कर मालिश करने से निखार आता है। जोड़ों का दर्द हो तो इसके तेल में थोड़ा सोंठ पाउडर, एक चुटकी हींग डाल कर गर्म कर मालिश करें।

beauty tips

सरसों का तेल

खाने के अलावा सरसों के तेल की मालिश से शरीर का रक्तसंचार बढ़ता है, थकान दूर होती है। नवजात शिशु एवं प्रसूता की मालिश इसी तेल से करनी चाहिए। सर्दियों में इस तेल की मालिश लाभदायक है। सरसों के तेल को पैर के तलुओं में सुखाने से थकान तुरंत मिटती है तथा नेत्रज्योति बढ़ती है। दाद, खाज, खुजली जैसे चर्म रोग से निजात पाई जा सकती है।


मूंगफली का तेल

यह खाने में स्वादिष्ट व पचने में हल्का है। प्रोटीन से भरपूर यह तेल रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा नियंत्रित कर हृदय रोगों से बचाता है। जोड़ों के दर्द में इससे मालिश करने से आराम मिलता है।



अलसी का तेल

यह औषधीय गुणों व विटामिन-ई से भरपूर है। त्वचा जलने पर इसे लगाएं, दर्द व जलन से राहत मिलेगी। कुष्ठ रोगियों के लिए यह फायदेमंद है।


नारियल का तेल

इसमें कपूर मिलाकर त्वचा पर लगाने से दाद, खाज, खुजली की शिकायत दूर होती है। त्वचा जलने पर तुरंत नारियल तेल लगाने से निशान नहीं पड़ते।



जैतून का तेल

सर्दियों में बच्चों की राई के तेल से मालिश करने पर निमोनिया व सर्दी के अन्य रोगों में लाभ मिलता है। इससे हल्की मालिश कर के गुनगुनी धूप लें। इसे खानपान में शामिल करने से वजन नियंत्रित रहता है।




दूध में छुहारा मिलाकर पीने के ये हैं फायदे


These are the benefits of drinking milk mixed with raisins



face tips




आपने बहुत से लोगों को दूध में छुहारा मिलाकर पीते देखा होगा। अक्सर हमारे दिमाग में सवाल उठता है कि आखिर दूध में छुहारा मिलाकर पीने से क्या फायदा होता है। लेकिन क्या आपको पता है कि दूध में छुहारा मिलाकर पीने से कई तरह की बीमारियां दूर होती हैं। हम आपको बता रहे हैं कि आखिर दूध में छुहारा भिगोकर पीने से क्या फायदे होते हैं।








- छुहारों का सेवन करने से कब्ज में आसानी से राहत पाई जा सकती है। इसमें पोटेशियम होता है, इसलिए आप इसका सेवन दूध में डालकर भी कर सकती हैं।








- इसमें डाइटरी फाइबर पाए जाते हैं इस कारण से पाचन तंत्र मजबूत होता है। इसलिए रोजाना दूध में मिलाकर इसका सेवन करना फायदेमंद होता है।








- छुहारे में कैल्शियम, कॉपर, मिनरल्स, मैग्नीज और सेलेनियम होता है, इसलिए छुहारों का सेवन दूध में डालकर करना चाहिए। इससे हमारी हड्डियां मजबूत हो जाती है।





health tips

- छुहारे में होने वाले फाइबर कोलोन कैंसर को दूर करने में मददगार है। इनका सेवन करने से कैंसर का खतरा कम हो जाता है। इसलिए रोजाना दूध में छुहारे डाल कर इनका सेवन करना ना भूलें।








-अगर बहुत ज्यादा स्लिम हैं तो दूध में छुहारे को भिगोकर पी सकते हैं। छुहारे में कॉपर, मिनरल्स और प्रोटीन होता है, जो कि हमारा वजन बढ़ाने में मददगार है।








- छुहारों म फ्लोराइड मिनरल्स होता है, जो कि हमारे दांतों को सडऩे से रोकने के साथ ही उन्हें मजबूत बनाने में मदद करता है।


Monday, November 21, 2016

खास दिन’ खूबसूरत दिखने के लिए करें यह आसान उपाय


Body care



हर महिला अपने जीवन के खास दिन सब के आकर्षण का केंद्र बनना चाहती है। विशेषज्ञों का कहना है कि पोषक फलों, सब्जियों के सेवन के साथ ही रोज छह से आठ घंटे जरूर सोना चाहिए। ‘टीबीसी बाई नेचर’ की प्रबंध निदेशक और सौंदर्य विशेषज्ञ मोनिका सूद के सुझावों पर अमल करके आप भी शादियों के इस सीजन में आसानी से खूबसूरत नजर आ सकती हैं : -


* चेहरे पर काले धब्बे और थकी नजर आने वाली आंखों से बचने के लिए पर्याप्त नींद जरूर लें। पर्याप्त नींद आपके हार्मोंस को भी संतुलित करता है। रोजाना 12-15 गिलास पानी जरूर पीएं।

face tips


त्वचा की परेशानियों से बचने के लिए विटामिन्स, मिनरल्स और एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर फलों और सब्जियों का सेवन करें। यह आपकी त्वचा की कोशिकाओं की मरम्मत भी करता है। आपको विटामिन सी से भरपूर पपीता, कीवी, अमरूद आदि खाना चाहिए। 


* सर्दियों में केसर युक्त फेशवॉस का इस्तेमाल करें। गुलाब जल, शहद, हल्दी चंदन का पेस्ट लगाकर चेहरा साफ करें।


face tips
घर पर बने फेस पैक प्राकृतिक तरीके से आपकी त्वचा में चमक व सौम्यता लाते हैं। तेज धूप में त्वचा का रंग काला पड़ जाना या धब्बे आदि पड़ जाने पर तुलसी की पत्तियों को पीसकर उसमें थोड़ा गुलाबजल, दो छोटा चम्मच पिसी चीनी और एक छोटा चम्मच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 10 मिनट लगाएं रखने के बाद इसे धो लें।




होने वाली दुल्हन के चेहरे पर चमक लाने के लिए गुलाब की पंखुडिय़ों का फेस पैक कारगर उपाय है। अगर तैलीय त्वचा है तो पंखुडिय़ों को पीसकर उसमें थोड़ा दूध मिलाएं और अगर रूखी त्वचा है तो थोड़ा दूध का क्रीम मिलाकर 20 मिनट तक लगाएं, फिर गुनगुने पानी से धो लें।




* अधिकांश होने वाली दुल्हनें सिर्फ अपने चेहरे के रंग को साफ करने पर ही ध्यान देती हैं और कोहनी की सूखी मृत त्वचा को हटाने की ओर ध्यान नहीं देतीं। कोहनी साफ करने के लिए नमक और नींबू का रस मिलाकर कुछ सप्ताह लगाएं। इसके चमत्कारी परिणाम देखने को मिलेंगे।



रोज सुबह खाली पेट किशमिश का पानी पीने से होते है ये फायदे



health tips


किशमिश के पानी में भरपूर विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं जो हेल्थ के लिए बेनिफिशियल हैं। किशमिश एनर्जी से भरपूर लो फैट फूड है इसमें काफी मात्रा में आयरन, पोटैशियम, विटामिन और एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं। इसको पानी में भिगोने पर इसके फायदे ओर भी बढ़ जाते हैं। यदि किशमिश के पानी का हम हर सुबह खाली पेट सेवन करे तो हमे कई तरह के फायदे होते है। आइए जानते है क्या है यह फायदे-


कैसे बनाएं किशमिश का पानी
एक कप पानी उबालकर उसमें मुट्ठी भर धुली हुई किशमिश डालकर रात भर रख दें। सुबह हल्का गर्म करके खाली पेट इस पानी को पी लें और किशमिश चबाकर खा लें।

कब्ज़ की प्रॉब्लम होगी दूर
किशमिश पानी में फूलकर नेचुरल लेक्सेटिव का काम करती है। रोज़ सुबह खाली पेट इसका पानी पीने से पेट की अच्छी सफाई हो जाती है।

एसिडिटी की प्रॉब्लम से छुटकारा
किशमिश में मौजूद सॉल्युबल फाइबर्स पेट की सफाई करके गैस और एसिडिटी से छुटकारा दिलाते हैं।

body tips
हेल्दी किडनी
किशमिश के पानी में पोटैशियम और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स होते हैं। ये बॉडी से टॉक्सिन्स निकालकर किडनी को हेल्दी रखते हैं।

खून की कमी दूर होती है
किशमिश के पानी में आयरन, कॉपर और B कॉम्प्लेक्स की भरपूर मात्रा होती है। ये खून की कमी दूर करके रेड ब्लड सेल्स को हेल्दी बनाता है।


कैंसर से बचाव
किशमिश के पानी में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स बॉडी के सेल्स को हेल्दी बनाकर कैंसर जैसी बीमारियों से बचाते हैं।

सर्दी-जुकाम और इंफेक्शन से बचाव
इस पानी में पॉलीफेनिक फायटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं। इसकी एंटी बैक्टीरियल क्वालिटी सर्दी-जुकाम और बुखार से बचाने में हेल्पफुल है।


कमजोरी दूर होती है
किशमिश के पानी में अमीनो एसिड्स होते हैं जो एनर्जी देते हैं। थकान और कमजोरी दूर करने में हेल्पफुल हैं।

आंखों की रोशनी तेज होती है
इस पानी में विटामिन A, बीटा केरोटीन और आंखों के लिए फायदेमंद फायटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं। इससे नज़र की कमजोरी दूर होती है।

वेट लॉस में हेल्पफुल
किशमिस का पानी मेटाबॉलिज़्म अच्छा करके फैट बर्निंग प्रोसेस को तेज़ करता है। इससे वेट लॉस में मदद मिलती है।

मजबूत हड्डियां
किशमिश के पानी में भरपूर कैल्शियम होता है। ये हड्डियों को मजबूत बनाता है। आर्थराइटिस और गठिया से बचाता है।

हेल्दी स्किन
किशमिश के पानी में मौजूद फिनॉल और एंटी ऑक्सीडेंट्स स्किन को हाइड्रेट करके, डैमेज रिपेयर करते हैं। स्किन हेल्दी और सॉफ्ट बनती है।

हेल्दी बाल
किशमिश के पानी में बालों के लिए जरुरी विटामिन B, पोटैशियम और एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं। इससे बाल हेल्दी और शाइनी बनते हैं।



Wednesday, November 16, 2016

कोहनी और घुटने के कालेपन से मिनटों में पाएं छुटकारा

Get rid of the darkness of the elbow and knee in minutes

बॉडी और स्किन की कई तरह की समस्याओं को दूर करने के लिए हम घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करते हैं. इसी तरह की एक समस्या है कोहनी और घुटनों का कालापन जो देखने में तो बुरा लगता ही है साथ ही यह स्किन को हार्ड भी बना देता है. इस समस्या को दूर करने के लिए अगर आप बाजार से लाए क्रीम और लोशन इस्तेमाल करके थक चुके हैं तो यहां बनाए जा रहे उपाय आपकी कुछ मदद जरूर कर सकते हैं.




1. खीरा और इमली
एक चम्‍मच खीरे का रस और आधा चम्‍मच इलमी का गूदा मिलाएं और फिर इसे कोहनी और घुटनों पर लगाएं और 15 मिनट के बाद धो लें.

2. सिरका और दही
दही में लैक्‍टिक एसिड पाया जाता है जो कि बिल्‍कुल ब्‍लीच की तरह काम करता है. एक कटोरी में दही और सिरके की एक मात्रा मिलाएं और इससे कोहनी और घुटनों की मसाज करें. 15 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें. इस उपाय को कुछ दिनों तक रोजाना करें.

3. नारियल तेल
रोज रात को सोने से पहले अपने कोहनी और घुटनों की नारियल तेल से मालिश करें. नारियल तेल में लॉरिक एसिड और प्रोटीन होता है जो कि रूखी त्‍वचा को ठीक करता है.




4. दूध और शहद
एक कटोरी में दूध और शहद मिलाकर इससे कोहनी और घुटनों की मालिश करें. इसको 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे ठंडे पानी से धो लें.


इनके अलावा अगर आप रोज रात सोने से पहले नींबू का रस कोहनी और घुटनों पर लगाकर छोड़ दें और सुबह धो लें तो फर्क आपको जरूर नजर आएगा.

Toxic chemicals that help the body eliminate these 5 foods



खाने-पीने और हवा के जरिए शरीर में ऐसे कई केमिकल्स प्रवेश कर सकते हैं, जो हेल्थ के लिए नुकसानदेह होते हैं। वैसे तो लिवर और किडनी द्वारा इन्हें फिल्टर कर दिया जाता है, लेकिन कुछ फूड आइटम ऐसे हैं, जो इनके टॉक्सिक इफेक्ट को खत्म कर देते हैं।

हरी प्याज़



एंटी-ऑक्सीडेंट्स और सल्फर से भरपूर हरी प्याज़ डिटॉक्सिफिकेशन (प्वाइजनस केमिकल के प्रभाव को खत्म करना) में मदद करने वाले एंजाइम्स को एक्टिवेट कर देता है। साथ ही, इसमें कैलोरी भी बहुत कम होती है, जिससे ये वजन को भी कंट्रोल करता है। हरी प्याज़ के सेवन से कोलेस्ट्रॉल कम होता है। साथ ही, हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा कम रहता है। ऑस्टियोपोरोसिस जैसी बीमारी से बचने के लिए भी इसे खाना फायदेमंद रहेगा।
अखरोट



इसमें ओमेगा-3 ऑयल होता है। यह दिल को तो हेल्दी रखता ही है, साथ में डिटॉक्सिफिकेशन का काम भी बखूबी करता है। इसमें मौजूद कॉपर, मैग्नीशियम और बॉयोटीन कैंसर की बीमारी को दूर रखता है। इसे खाने से प्रोस्टेट कैंसर की संभावना को कम किया जा सकता है। एंटी-ऑक्सीडेंट हमारे शरीर के लिए बहुत ही जरूरी होता है। यह फ्री रैडिकल्स को दूर कर असमय आने वाले बुढ़ापे की समस्या को भी दूर करता है।

हरा धनिया



इसके एंटी फंगल, एंटी सेप्टिक इन्ग्रीडिएंट्स नुकसानदायक तत्वों को सेल्स से दूर रखते हैं। साथ में लिवर की सफाई करने वाले एंजाइम्स को बढ़ाते हैं। इसकी पत्तियों को कच्चा चबाकर, खाने में डालकर या इसके बीजों को भी खाने से शरीर में मौजूद हानिकारक केमिकल्स को आसानी से दूर किया जा सकता है।
सूरजमुखी के बीज




सेलेनियम केमिकल और विटामिन-ई से भरपूर ये बीज लिवर के काम करने की क्षमता को बढ़ाते हैं। ये शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल बनने से भी रोकते हैं। इसमें मौजूद मैग्नीशियम दिल को हेल्दी रखने का काम करता है। यह ब्लड प्रेशर बढ़ाने वाले केमिकल डोपामाइन डी-1 को भी कम करता है।

खीरा



इनमें मौजूद 95 प्रतिशत पानी यूरिन के माध्यम से खतरनाक केमिकल्स और एसिडिक पदार्थों को बाहर कर देता है। इसे सलाद के रूप में खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। बॉडी के लिए जरूरी पानी की कमी को ककड़ी खाकर काफी हद तक पूरा किया जा सकता है। पानी शरीर के आधे नुकसानदायक चीजों को डिटॉक्सीफाई करने का काम करता है।


Thursday, November 10, 2016

अगर सर्दियां आते ही आपके होंठ भी फटने लगते हैं तो ये है बेमिसाल उपाय


सर्दियां आते ही ज्यादातर लोगों की त्वचा रूखी होने लग जाती है. त्वचा की नमी कहीं खो सी जाती है और त्वचा रूखी-बेजान नजर आने लगती है. त्वचा के साथ ही हमारे होंठ भी फटने शुरू हो जाते हैं. कई बार ये समस्या इतनी ज्यादा बढ़ जाती है कि होंठों से खून भी आना शुरू हो जाता है. ऐसे में बहुत जरूरी है कि हम अपनी त्वचा को लेकर फिक्रमंद रहें ताकि वो हमेशा खूबसूरत और जवां बनी रहे.


सर्दियों में त्वचा को ज्यादा से ज्यादा नमी की जरूरत होती है. ऐसे में आप चाहें तो ग्लिसरीन का इस्तेमाल कर सकते हैं. यह एक नेचुरल लिप बाम भी है.


कैसे करें ग्ल‍िसरीन का इस्तेमाल
आप चाहें तो ग्ल‍िसरीन को बाम की तरह लगा सकते हैं. इसके अलावा इसे दूध, शहद या गुलाब जल के साथ मिलाकर भी लगाया जाता है.


ग्ल‍िसरीन लगाने के फायदे
1. सर्दियों में शुष्‍क हवाओं के कारण होठ सूख जाते हैं और फटने लग जाते हैं. होठों पर ग्ल‍िसरीन के इस्तेमाल से होंठ मुलायम बनते हैं जिससे फटने की समस्या भी नहीं होने पाती है.

2. अगर आपके होंठों पर दाग-धब्बे हैं और ये काले पड़ चुके हैं तो भी ग्ल‍िसरीन का इस्तेमाल करना फायदेमंद रहता है. कई बार धूम्रपान करने के कारण लोगों के होंठ काले पड़ जाते हैं. ऐसी स्थिति में भी ग्ल‍िसरीन का इस्तेमाल करना फायदेमंद रहता है.

3. सर्दियों में हवाओं के प्रभाव से होंठो की ऊपरी परत सूख जाती है और पपड़ी बन जाती है. ऐसे में ग्लसिरीन का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है.

4. अगर आपके होंठ कहीं से कट गए हों या फिर अगर उनमें किसी तरह का घाव बन गया हो तो भी ग्ल‍िसरीन का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है.

5. होंठों के लिए ग्ल‍िसरीन एक पोषक तत्व की तरह काम करता है, जिससे होंठों को नमी मिलती है.


त्‍वचा को निखारने के उपाय



हर लड़की को होती है और उसे पाने के लिए हम न जाने क्‍या-क्‍या उपाय करते हैं. कभी क्रीम, तो कभी लोशन और कई बार तो कॉस्‍मेटिक सर्जरी जैसी रिस्‍की चीजों का भी सहारा लेते हैं लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि फ्लॉलेस स्किन पाना इतना भी मुश्किल नहीं है. बस आपको अपने खाने-पीने की चाजों पर ध्‍यान रखने की जरूरत है जैसे, चॉकलेट खाने से त्‍वचा में निखार आता है.


जानें, ऐसे ही और भी सुपर फूड्स के बारे में जो हमारी त्‍वचा को चमकदार बनाते हैं...

1. डार्क चॉकलेट: चॉकलेट में फ्लैवलॉएड्स नाम के एंटी-एजिंग और एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं जो फ्री-रैडिकल्स से लड़कर आपकी त्वचा को UV किरणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं. साथ ही ये झुर्रियों, और स्किन डिसकलरेशन को रोकती है.

2. पालक: पालक में प्रचुर मात्रा में बीटा कैरोटीन, विटामिन B, C, E, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम और ओमेगा-3 फैटी ऐसिड्स पाए जाते हैं जो बढ़ती उम्र की परेशानियों को कम करने में मदद करते हैं. इसमें मौजूद फैटी एसिड्स बालों की चमक को भी बनाए रखते हैं.


3. दही: दही में गुड बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो एक्ने से छुटकारा दिलाते हैं, झाइयां और दाग-धब्बे कम करने में मदद करता है.

4. अखरोट: अखरोट में भारी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स पाए जाते हैं जो त्वचा को हेल्दी रखता है.


Wednesday, November 9, 2016

सर दर्द ,रुसी और बदहजमी दूर करने के आयुर्वेदिक उपाय




१. तेज़ पत्ती की काली चाय में निम्बू का रस निचोड़ कर पीने से सर दर्द में अत्यधिक लाभ होता है.

२ .नारियल पानी में या चावल धुले पानी में सौंठ पावडर का लेप बनाकर उसे सर पर लेप करने भी सर दर्द में आराम पहुंचेगा.


३. सफ़ेद चन्दन पावडर को चावल धुले पानी में घिसकर उसका लेप लगाने से भी फायेदा होगा.

४. सफ़ेद सूती का कपडा पानी में भिगोकर माथे पर रखने से भी आराम मिलता है.

५. लहसुन पानी में पीसकर उसका लेप भी सर दर्द में आरामदायक होता है.

६. लाल तुलसी के पत्तों को कुचल कर उसका रस दिन में माथे पर २ , ३ बार लगाने से भी दर्द में राहत देगा.


७. चावल धुले पानी में जायेफल घिसकर उसका लेप लगाने से भी सर दर्द में आराम देगा.

८. हरा धनिया कुचलकर उसका लेप लगाने से भी बहुत आराम मिलेगा.

९ .सफ़ेद सूती कपडे को सिरके में भिगोकर माथे पर रखने से भी दर्द में राहत मिलेगी.




बालों की रूसी दूर करने के लिए

१. नारियल के तेल में निम्बू का रस पकाकर रोजाना सर की मालिश करें.

२. पानी में भीगी मूंग को पीसकर नहाते समय शेम्पू की जगह प्रयोग करें.

३. मूंग पावडर में दही मिक्स करके सर पर एक घंटा लगाकर धो दें.

४ रीठा पानी में मसलकर उससे सर धोएं.

५. मछली, मीट अर्थात nonveg त्यागकर केवल पूर्ण शाकाहारी भोजन का प्रयोग भी आपकी सर की रूसी दूर करने में सहायक होगा.



गैस व् बदहजमी दूर करने के लिए

१. भोजन हमेशा समय पर करें.

२. प्रतिदिन सुबह देसी शहद में निम्बू रस मिलाकर चाट लें.

३. हींग, लहसुन, चद गुप्पा ये तीनो बूटियाँ पीसकर गोली बनाकर छाँव में सुखा लें, व् प्रतिदिन एक गोली खाएं.

४. भोजन के समय सादे पानी के बजाये अजवायन का उबला पानी प्रयोग करें.


५. लहसुन, जीरा १० ग्राम घी में भुनकर भोजन से पहले खाएं.

६. सौंठ पावडर शहद ये गर्म पानी से खाएं.

७. लौंग का उबला पानी रोजाना पियें.

८. जीरा, सौंफ, अजवायन इनको सुखाकर पावडर बना लें,शहद के साथ भोजन से पहले प्रयोग करें.





Monday, November 7, 2016

ये घरेलू नुस्खे अपनाएं, रूखी त्वचा से छुटकारा पाएं


सर्दी के मौसम में त्वचा को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। सर्दियों में नमी की कमी के कारण हमारी त्वचा शुष्क, बेजान होने के साथ-साथ त्वचा का रूखा होना, फटना, रैशेज जैसी समस्याएं हो सकती है, तथा सर्दियों में त्वचा के रंग पर भी प्रभाव पड़ता है। अगर आपकी त्‍वचा रूखी है तो आपके लिए सर्दियों का मौसम किसी आफत से कम नही। ऐसे में चेहरे की सुंदरता कायम रखने में घरेलू नुस्‍खे कारगर साबित होते हैं। घरेलू नुस्‍खों के प्रयोग करने से चेहरे पर प्राकृतिक नमी लौट आती है। आइए हम रूखी त्‍वचा के लिए घरेलू नुस्‍खों के बारे में बताते हैं।



ड्राई स्किन के लिए घरेलू उपचार -



रूखी त्वचा को आकर्षक बनाने के लिए आधा कप ठंडे दूध में जैतून का तेल की कुछ बूंदें डालिए, उसके बाद इन दोनों को एक बोतल में डालकर डालकर हिलाए, रूई के फाहे का प्रयोग करके चेहरे पर लगाइए। इससे त्‍वचा में निखार आएगा।


शीशम का तेल या सूरजमुखी के तेल को दूध में मिलाकर लगाने रूखी त्‍वचा की खोई हुई रंगत लौट आती है।
बादाम का तेल और शहद बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर नाखूनों और क्यूटिकल्स में लगाकर मसाज करें। 15 मिनट बाद बाद गीले तौलिए से पोंछ लीजिए, रूखी त्‍वचा में निखार आएगा।


तीन टेबल स्पून गुलाबजल में एक टेबल स्पून ग्लिसरीन मिलाकर हाथों और पैरों की त्वचा पर लगाएं और आधे घंटे बाद सादे पानी से धो लीजिए, रूखी त्वचा चिकनी और साफ हो जाएगी।


आधा चम्मच शहद में एक चम्मच गुलाबजल और एक टी स्पून मिल्क पाउडर डालकर पेस्ट बनाएं। इसे चेहरे और गर्दन पर लगाएं। बीस मिनट बाद पानी से धो लें।


रूखी त्‍वचा के लिए अंडे भी बहुत फायदेमंद हैं। अंडे का पीला हिस्‍सा लगाने से चेहरे की शुष्कता समाप्‍त होती है।
अगर आपकी ज्‍यदा रूखी है और उसमें जलन होती है, तो ऐसे में 2 टेबल स्पून सिरके को एक मग पानी में मिलाएं और नहाने के बाद जहां-जहां रूखी त्‍वचा हो वहां लगाइए, फायदा होगा।

 
एक चम्मच तिल के तेल या ऑलिव ऑयल में थोडी-सी क्रीम या दूध की मलाई मिलाकर अच्छी तरह फेंट लीजिए, फिर उसे चेहरे और गर्दन पर लगाएं। 15 मिनट बाद हलका मसाज करते हुए चेहरा सादे पानी से धो लीजिए। इससे आपका चेहरा नर्म, मुलायम और चमकदार हो जाएगा।


केले को मैश करके साफ चेहरे पर लगाएं , इस पेस्‍ट को लगाने से पहले चेहरे को अच्‍छी तरह साफ कर लीजिए। उसके बाद हलका सूखने पर सादे पानी से धो लीजिए। यह चेहरे की त्वचा को मुलायम और रेशमी बनाने में मदद करता है।


सर्दी के मौसम में त्वचा को रूखा होने से बचाने के लिए देर तक नहाने से बचना चाहिए। साथ ही माइल्ड साबुन का ही प्रयोग करना चाहिए और स्क्रब का प्रयोग कम से कम करें।








सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Friday, November 4, 2016

Milk powder Construct face immaculate and beautiful



मिल्‍क पावडर एक ऐसी चीज है जिसे लोग किचन की कैबिनेट में रखते हैं लेकिन इसका प्रयोग चाय के अलावा चेहरे को दमकाने और बेदाग बनाने के काम भी आती है।


महंगी बाजारू क्रीम पर लाखों रूपए खर्च करने के बाद भी जब आप को वह रिजल्‍ट नहीं मिलता तो परेशान ना हों। आज हम आपका काम सस्‍ते में निपटाने के लिये ले कर आए हैं एक ऐसा उपाय जिसके बारे में आपको किसी ने नहीं बताया।

मिल्‍क पावडर एक ऐसी चीज है जिसे लोग किचन की कैबिनेट में रखते हैं लेकिन इसका प्रयोग चाय के अलावा चेहरे को दमकाने और बेदाग बनाने के काम भी आती है।


जी हां, अगर आप नियमित रूप से चेहरे पर मिल्‍क पावडर लाएंगी तो आपके चेहरे का टेक्‍सचर तो सुधरेगा ही साथ में निखार भी आएगा। आइये जानते हैं मिल्‍क पावडर का प्रयोग किस तरह से करना होता है।


नींबू के जूस के साथ मिल्‍क पावडर:
यंग लुक पाने के लिये मिल्‍क पावडर को ताजे नींबू के रस के साथ मिक्‍स कर के चेहरे तथा गर्दन पर लगाइये। 15 मिनट के बाद इसे पानी से धो लीजिये। इससे आपका चेहरा साफ दिखेगा।


मिल्‍क पावडर, पपीता और गुलाबजल:
मिल्‍क पावडर, पपीता और गुलाबजल: 1 चम्‍मच मिल्‍क पावडर के साथ 1 चम्‍मच मसला हुआ पपीते का पेस्‍ट और 6-7 बूंद गुलाबजल की मिक्‍स करें। इस पैक को चेहरे पर 20 मिनट तक के लिये लगाएं और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।


मिल्‍क पावडर और मुल्‍तानी मिट्टी:
चेहरे पर तुरंत ग्‍लो पाने के लिये 1 चम्‍मच मिल्‍क पावडर और 2 चम्‍मच मुल्‍तानी मिट्टी मिला कर उसमें थोड़ा सा गुलाबजल मिलाना होगा। फिर इसे पेस्‍ट को चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं और 20 मिनट के बाद गुनगुने पानी से धो लें।


मिल्‍क पावडर और केसर:
इस पैक को लगाने से आपकी झुर्रियां दूर होंगी। 1 चम्‍मच मिल्‍क पावडर और 2 केसर के धागे को 1 चम्‍मच नींबू के रस के साथ मिक्‍स करें। इस पेस्‍ट को चेहरे पर 20 मिनट तक के लिये लगाए रखें और फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।


मिल्‍क पावडर और शहद:
चेहरे की झाइयां, एक्‍ने और ब्‍लैकहेड्स मिटाने के लिये आप इस पेस्‍ट को गुलाबजल के साथ मिक्‍स कर के लगा सकती हैं। पेस्‍ट लगाने के 15 मिनट बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

मिल्‍क पावडर और राइस पावडर:
यह कॉम्‍बो त्‍वचा पर आने वाले पिंपल्‍स को आने से रोकेगा। 1 चम्‍मच मिल्‍क पावडर को 1 चम्‍मच राइस पावडर और 2 चम्‍मच शहद के साथ मिक्‍स करें। फिर इस पैक को चेहरे पर लगा कर छोड़ दें। जब इसे धोने वाली हों तब चेहरे पर हल्‍का सा पानी लगा कर इसको गोलाई में रगड़ कर छुड़ा दें और साफ पानी से चेहरा धो लें।


सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


रोज़ मेकअप करने वाली लड़कियों को ध्‍यान रखनी चाहिये ये बातें



कुछ लोग कहते हैं कि अगर मेकअप का रोज़ इस्तेमल किया जाए तो यह त्वचा के लिए हानिकारक होता है। लेकिन अगर आप त्वचा की अच्छे से देखभाल करती हैं और सही मेकअप का इस्तेमल करती हैं तो आपको यह परेशानी नहीं होगी।


आज हम आपको कुछ ऐसी ही स्किन केयर टिप्स देने जा रहें हैं। इन स्किन केयर टिप्स को रोज़ अपनी दिनचर्या में शामिल करने से आप मेकअप के हानिकारक प्रभाव से अपनी स्किन को बचाया जा सकता है। तो आइये जानते हैं ऐसी ही कुछ खास टिप्स।


1. क्लेन्ज़ किसी भी तरह का मेकअप करने से पहले आप अपने चेहरे को अच्छे से साफ़ करें। इससे आपके चेहरे पर लगी गन्दगी अच्छे से साफ़ हो जाती है और मेकअप लगाने से आपको कोई नुक्सान नहीं होगा।


2. मॉइस्चराइज़ जो भी मेकअप आप करें और वह अच्छा लगे इसके लिए जरुरी हैं कि आपकी त्वचा मॉइस्चराइज़ लगे। त्वचा अगर अच्छे से मॉइस्चराइज़ होगी तो आपका मेकउप बिलकुल नेचुरल लगेगा।


3. मेकअप हटाए हमेशा याद रखें सोने से पहले मेकअप हटा दें, क्योंकि ज्यादातार परेशानी तभी होती हैं जब आप काफी देर तक मेकअप लगा कर रखती हैं। या फिर मेकअप लगाए हुए सो जाती हैं।


4. सीरम सीरम या फेस आयल उनके लिए बहुत जरुरी हैं जो मेकअप करते हैं यह त्वचा को नमी देता हैं और सूखने से बचाता हैं।


5. नाइट क्रीम हानिकारक सूरज की किरणों से हुए नुक्सान से नाइट क्रीम आपकी त्वचा को बचती है। यही नहीं मेकअप के हानिकारक प्रभाव से भी आपकी त्वचा सुरक्षित रहती है।


6. डे क्रीम दिन के वक़्त अच्छे एसपीएफ़ की डे क्रीम आपने मेकअप के साथ लगाए जिससे आपकी त्वचा को सूरज की किरणों से ज्यादा नुक्सान ना हो पाये।


7. एक्स्फोलीऐशन अगर आप चाहती हैं कि आपका मेकअप और अच्छा लगे तो आप अपनी त्वचा को एक्स्फोलीऐट करें इससे आप डेड स्किन हट जायेगी और आपकी त्वचा और चमकदार दिखेगी।


8. आई क्रीम आँखों के नीचे की त्वचा बहुत नाज़ुक और पतली होती है, यही कारण हैं इसे ज्यादा हाइड्रेशन की जरूरत होती है। इसीलिए हमेशा मेकअप करने से पहले आई क्रीम का इस्तेमाल करे।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Thursday, November 3, 2016

Kurti measures to get rid of winter colds



सितंबर से दिसंबर तक का ड्राई मौसम बीमारियों के लिए जिम्मेदार होता है। इस दौरान नाक, कान, गले की एलर्जी, सासं लेते समय छाती में परेशानी और सर्दी जुकाम-खांसी जैसी बीमारी ज्यादा होती हैं। ये बीमारियां इन दिनों होने वाली आतिशबाजी, सडकों पर उडती धूल आदि से होती है। अब मौसम फिर से बदल रहा है और सर्दी दस्तक दे रही है। इन दिनों कई लोग वायरल बुखार की चपेट में हैं। आजकल जुकाम बुखार और कई बीमारियों से पीडित लोग घर-घर में दिखाई दे रहा है। कुछ लोगों की नाक बंद हो रही है, कुछ को जुकाम बढने पर फीवर आ रहा है। यदि बुखार जुकाम का उपचार उसके लक्षण नजर आते ही कर लिया जाए तो शरीर को अन्य दूसरी बीमारियों की परेशानी नहीं झेलनी पडती है। बीमारियों को दूर करने के कुछ कारगार घरेलू उपचार जानें




काली मिर्च जलाकर उसका धुआं सूंघने से बंद नाक खुलती है।




अदरक के टुकडों का काढा 20 मि ली से 30 मि ली दिन में तीन बार लेने से सर्दी से आराम मिलता है।




गाजर में विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है। गाजर में बीटा-कैरोटीन भी पाया जाता है। गाजर सर्दी जुकाम से लडने में मदद करती है साथ ही यह सर्दियों में आम संक्रमण से बचने में सहायक है।




मशरूम भी प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत बनाने में मदद करता है। ठंड में मशरूम हमारी प्रणाली को जुकाम और वायरसों से बचाता है। मशरूम एक ऐसे एंटी ऑक्सिडेंट का मुख्य प्राकृतिक स्त्रोत है, जो कई घातक बीमारियों में इंसान को बचाता है।




थोडा अदरक, अजवाइन 1 चम्मच, लौंग 5, काली मिर्च 3, मैथी 1 चम्मच, तुलसी और पुदीना पत्ती 10 प्रत्येक इन सबका काढा बनाकर, खांडसारी मिलाकर दिन में दो बार आराम होने तक लेना चाहिए।






सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


गोरी निखरी त्वचा पाने के लिए आजमाएं



त्वचा की रंगत निखारने तथा त्वचा संबंधी समस्याओं से निजात दिलाने में सबसे बेहतर और भरोसेमंद घरेलू सौंदर्य प्रसाधन माने जाते हैं। उपलब्धता में सुलभ, इस्तेमाल में आसान तथा कम समय में तैयार होने वाले घरेलू सौंदर्य प्रसाधन साइड इफेक्ट से रहित भी होते हैं। यदि आप भी अपने सौंदर्य को लंबे समय तक जवां बनाना चाहते हैं तो घरेलू सौंदर्य प्रसाधन आपके लिए वरदान सिद्घ हो सकते हैं।







एक चम्मच शहद, एक चम्मच ग्लिसरीन तथा दो चम्मच नींबू का रस लेकर इन तीनों चीजों को एक कटोरी में एकसाथ मिलाएं। यह पैक आपकी त्वचा की रंगत निखारने के लिए प्राकृतिक ब्लीच का कार्य करता है।

एक कटोरी में एक बडा चम्मच मुलतानी मिट्टी का पावडर लें। अब इसमें समान मात्रा में चंदन पावडर मिलाकर इस मिश्रण को गुलाबजल मिलाकर पतला करें। यह पैक त्वचा में कसावट और चमक लाने के लिए बेहतरीन फेस पैक है। इसका प्रयोग तैलीय त्वचा वाले युवाओं के लिए लाभकारी होता है।

एक टमाटर को पीसकर उसका गुदा एक कटोरी में निकाले। अब इसमें एक छोटा चम्मच शहद मिलाकर दोनों को अच्छे से मिक्स करें। यह पैक आपकी त्वचा की कुदरती चमक को बखूबी निखारता है।








सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Wednesday, November 2, 2016

8 of the amazing benefits of honey for the eyes


अगर आपको आंखों में कोई समस्‍या है जैसे- खुजली, दर्द, सूखापन या किसी प्रकार संक्रमण तो शहद इसमें मददगार साबित हो सकता है और आपकी समस्‍या को दूर कर सकता है। आइए जानते हैं इस बारे में खास बातें-
पिछले कुछ समय से मोबाइल और लैपटॉप के लगातार इस्‍तेमाल करने से लोगों की लाइफस्‍टाइल बहुत ही हेल्‍दी हो गई है। कई लोगों को आंखों में सबसे ज्‍यादा समस्‍या होती है इसके लिए वो कई तरीके के आईड्रॉप भी डालते हैं या फिर जेल का इस्‍तेमाल करते हैं। लेकिन ये कितना सुरक्षित है।अगर आपको आंखों में कोई समस्‍या है जैसे- खुजली, दर्द, सूखापन या किसी प्रकार संक्रमण तो शहद इसमें मददगार साबित हो सकता है और आपकी समस्‍या को दूर कर सकता है। आइए जानते हैं इस बारे में खास बातें-



1. आंखों के सूखेपन को दूर भगाने में मददगार - शहद को गुनगुने पानी में मिलाएं और उससे सोने से पहले अपनी आंखों को अच्‍छे से धो लें। इससे आंखों की ड्राईनेस, लालामी और खुजली आदि की समस्‍या दूर हो जाती है। ड्राई आई की समस्‍या के लिए आसान उपचार 

2. आंखों में फूलापन होना - अगर आपको आंखों के नीचे फूलापन हो गया हो, जैसाकि लम्‍बे समय तक नींद पूरी न हो पाने के कारण होता है, तो आप शहद की कुछ बूदों को वहां पर डालकर मसाज कर दें और 15 मिनट बाद धो लें।  

3. कन्‍जक्‍टीवाईटिस का उपचार - अगर आपकी आंखें आ गई हों तो आप शहद को आंखों पर लगा सकते हैं, इससे आंखों की करकराहट दूर हो जाएगी। ऐसा कई शोध से निष्‍कर्ष में पता चला है।  आँखों की थकान को कम करने के 10 सर्वश्रेष्ठ तरीके

 4. आंखों के संक्रमण को दूर भगाने में - आंखों के संक्रमण को दूर करने में भी यह बहुत लाभदायक होता है। इसके लिए आप शहद को गुनगुने पानी में मिला लें और कॉटन बॉल से उसे आंखों के ऊपर लगाएं। इससे आंखों का संक्रमण जल्‍द ही सही हो जाएगा। 

 5. आंखों की मांसपेशियों को स्‍वस्‍थ बनाएं - शहद, आंखों की मांसपेशियों को स्‍वस्‍थ बनाता है। साथ ही दृष्टि को कमजोर होने से बचाता है।


6. ग्‍लूकोमा होने से बचाएं - अगर आंखों में शहद की बूंद को ड्रॉप की तरह डाला जाएं, तो ग्‍लूकोमा होने से बचा जा सकता है। लेकिन शहद में किसी प्रकार की मिलावट नहीं होनी चाहिए।

7. दृष्टि कमजोर होने से बचाएं - शहद में कई सारे एंटीऑक्‍सीडेंट गुण होते हैं जो कि आंखों की नर्व को स्‍वस्‍थ बनाएं रखने में मददगार साबित हो सकते हैं। इससे निगाह में कमी नहीं आएगी, और आंखों पर लम्‍बे तक समय चश्‍मा लगाने की आवश्‍यकता भी नहीं पड़ेगी। 

8. आंखों में खुजली होने पर राहत - शहद को आंख पर लगाने से खुजली में आराम मिलती है। साथ ही आंखों के नीचे पड़ने वाले रिंकल्‍स भी सही हो जाते हैं।





सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, November 1, 2016

Tulsi ke achook upay




1. बारिश के मौसम में रोजाना तुलसी के पांच पत्ते खाने से मौसमी बुखार व जुकाम जैसे संभावनाएं दूर रहती है।


2. तुलसी की कुछ पत्तियो के चबाने से मुँह का संक्रमण दूर हो जाता है, मुंह के छाले दूर होते है व दांत भी स्वस्थ रहते है।

3. दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याओं में रोजाना तुलसी खाने और तुलसी के अर्क को प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनो मे रोग दूर हो जाता है।



4. तुलसी की जड़ का काढ़ा ज्वर (बुखार) नाशक होता है। तुलसी, अदरक और मुलेठी को घोटकर शहद के साथ लेने से सर्दी के बुखार में आराम होता है।


5. मासिक धर्म के दौरान कमर मे दर्द हो रहा है तो एक चम्मच तुलसी का रस ले। इसके अलावा तुलसी के पत्ते चबाने से भी मासिक धर्म नियमित रहता है।

6. सिर का भारी होना, पाइनस, माथे का दर्द, आधाशीशी, मिर्गी, नासिका रोग, केरमी रोग तुलसी से दूर होते हैं।


7. सांस रोग में तुलसी के पत्ते काले नमक के साथ सुपारी की तरह मुँह से रखने से आराम मिलता है। तुलसी की हरी पत्तियों को आग पर सेंक कर नमक के साथ खाने से खाँसी तथा गला बैठना ठीक हो जाता है।

8. खांसी – जुकाम में तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च से तय्यार की हुई चाय से तुरंत लाभ पहुँचता है।


9. तुलसी दमा टीबी मैं बहुत लाभकारी हैं. तुलसी के नियमित सेवन से दमा, टीबी नहीं होती हैं क्यूकी यह बीमारी के जिम्मेदारी कारक जीवाणु को बढ़ने से रोकती है। चरक संहिता में तुलसी को दमा की औषधि बताया गया हैं।

10. तुलसी और अदरक का रस एक चमच, शहद, मुलेठी का चूरन एक चम्मच मिलाकर सुबह शाम चाटे, यह खांसी की अचूक दवा है।

11. यदि कब्ज हो तो काली तुलसी का स्वरस (10 ग्राम) और गौ घी (10 ग्राम) दोनो को एक कटोरी में गुनगुना करके इस पूरी मात्रा को दिन में 2 या 3 बार लेने से कब्ज से आराम मिलता है।

12. तुलसी सोंठ के साथ सेवन करने से लगातार आने वाला बुखार ठीक होता है।

13. तुलसी, अदरक मुरेठी सबको घोटकर शहद के साथ लेने से सर्दी के बुखार में आराम होता है।

14. औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी के रस मैं thiamine तत्व पाया जाता है। जिससे त्वचा के रोगों में लाभ होता है।

15. इसकी पत्तियों का रस निकल कर बराबर मात्रा में नींबू का रस मिलाए और रात को चेहरे पर लगाये तो झाइया नही रहती, फुंसिया ठीक होती है और चेहरे की रंगत मैं निखार आता है।

16. दाद, खुजली और त्वचा की भूत की प्रॉब्लम्स में तुलसी के आरक को प्रभावित जगह पर लगाने से कुछ ही दिनों में रोग दूर हो जाता है।

17. कुष्ठ रोग या कोढ़ में तुलसी की पत्तियां रामबाण सा असर करती हैं. खाएं तथा रस प्रभावित स्थान पर भी लगाए।

18. उठते हुए फोड़े में तुलसी के बीज एक माशा तथा दो गुलाब के फ़ुल एक साथ पीसकर ठंडाई बनाकर पीते हैं।

19. घावों को शीघ्र भरने के लिए तुलसी के पत्ते का काढ़ा बनाकर उसका ठंडा लेप करते हैं।

20. सिर से दर्द में प्रातः काल और शाम को एक चौथाई चमच भर तुलसी के पत्तों का रस, एक चम्मच शुद्ध शहद के साथ नित्ये लेने से 15 दीनो मैं रोग पूरी तरह ठीक हो सकता है।

21. तुलसी का रस आँखों के दर्द, रात्रि अंधता सामान्यता विटामिन ‘A’ की कमी से होता है के लिए अत्यंत लाभदायक है।

22. आंखों की जलन में तुलसी का अर्क बहुत कारगर साबित होता है. रात में रोजाना शाम तुलसी के अर्क को दो बूँद आँखो में डालना चाहिए।

23. तुलसी गुर्दे को मजबूत बनाती है। किडनी की पथरी मैं तुलसी की पत्तियों को उबालकर बनाया गया जूस (तुलसी के अर्क) शहद के साथ नियामत 6 month सेवन करने से पथरी मूत्र के मार्ग से बाहर निकल जाता है।

24. तुलसी के 10 पत्ते, पांच काली मिर्च और चार बादाम गिरी सबको पीसकर आधा गिलास पानी में एक चमच शहद के साथ लेने से सभी प्रकार के दिल रोग ठीक हो जाते हैं।

25. तुलसी की 4 – 5 पत्तियां, नींम की दो पत्ती के रस को 2 – 4 चम्मच पानी में घोल के पांच – सात दिन प्रातः: खाली पेट सेवन करें, उच रक्तचाप ठीक होता है।








सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।