Thursday, September 29, 2016

With white hair, so do not have to regret it


जब सबसे पहले हमारे सफ़ेद बाल आते हैं तो हमारा सबसे पहला कदम क्या होता है, शायद नहीं पता। क्या इन्हें तोड़ें या नहीं? क्या ये डाई से छुप जाएँगे? क्या प्राकृतिक डाई ठीक रहेगी या सिंथेटिक? कई प्रश्न दिमाग में होते हैं जिनका कोई जवाब नहीं होता! कई चीजें है जो आपको करनी चाहिए और कई चीजें नहीं। इस आर्टिकल में, हम आपको ऐसी ही चीज बताएँगे जो आपको नहीं करनी चाहिए! आप क्या सोचते हैं की ढक्कन खोला और डाई लगाई और बाल छिप गए। लेकिन ऐसा नहीं है। सफ़ेद बाद घने और मोटे होते हैं, इससे इनको छिपाना मुश्किल हो जाता है, सफ़ेद बाल किससे पैदा होते हैं? जब नए बाल बढ़ते हैं तो पिग्मेंट पैदा करने वाली कोशिकाएं मेलानोंसाइट्स बालों को रंग प्रदान करती हैं। समय के साथ, शरीर में मेलेनिन बनना कम हो जाता है, जिससे सफ़ेद बाल पैदा होते हैं।  हालांकि शरीर में पिग्मेंट का लेवल आनुवांशिक कारकों पर निर्भर करता है, लेकिन कई बाहरी तत्व जैसे कि हार्मोन्स का असंतुलन, तनाव, असंतुलित आहार आदि कई कारण हैं जो इसके लेवल को प्रभावित करते हैं। इसलिए, आइये देखते हैं कि ऐसी चीजें जो आपको सफ़ेद बालों से नहीं करनी चाहिए। बालों को नहीं तोड़ें बालों को उखाड़ने से ज्यादा बाल सफ़ेद नहीं होते। फिर भी, सफ़ेद बालों की बनावट प्राकृतिक पिग्मेंटिड बालों के बजाय ज्यादा कठोर होती है। और जब आप इन्हें उखाड़ते हैं तो इसकी जगह सफ़ेद बाल ही उगता है जैसा की पहले था। इसलिए अच्छा है इन्हें उखाड़े नहीं। सफ़ेद बालों को नज़रअंदाज ना करें अपने सफ़ेद बालों को नज़रअंदाज ना करें। आपके सिर पर पिग्मेंटिड हेयर्स आनुवांशिक संरचना पर निर्भर करता है। कई बार, यह ज़िंक और आयरन की कमी जैसा ही होता है। इसलिए, इससे पहले कि पूरी खोपड़ी सफ़ेद हो जाये, इसके कारण का पता लगाएँ और समय पर समाधान करें।  

 धूम्रपान ना करें धूम्रपान से शरीर पर उम्र का असर तेजी से होता है। इससे ना केवल मेलेनिन का स्तर कम होता है, बल्कि बाल जड़ों से भी कमजोर होते हैं, शेडिंग खराब होती है, और आप गंजे भी हो सकते हैं। इसलिए अगर अपने बाल प्यारे हैं तो धूम्रपान ना करें।   काला बालों को रोजाना ना धोएँ बालों को रोजाना धोने से बालों का प्राकृतिक ऑयल निकलता है, इससे बाल कमजोर होते हैं और झड़ने लगते हैं। और इससे सफ़ेद बालों पर कोई फर्क नहीं पड़ता। इसलिए, बरसों पुराने तरीके ना अपनाएं और बालों को रोजाना धोने के बजाय सप्ताह में 2 से 3 बार धोएँ।  

आमोनिया डाई इस्तेमाल ना करें आमोनिया मिश्रित डाई बालों में ना लगाएँ। इससे आपको थोड़े समय तो आराम मिल जाएगा, लेकिन आगे जाकर बालों के रोम कमजोर हो जाएँगे और बाल झड़ना शुरू हो जाएँगे। इसलिए इसके बजाय ओर्गेनिक डाई काम में लें। समय पर कटिंग लेना ना छोड़ें जब आपके सफ़ेद बाल हों तो यह जरूरी है कि आप इनके स्वास्थ्य का ध्यान रखें और इन्हें चिकने रखें। इससे आपके सफ़ेद बाल कम चमकेंगे। इसलिए, 6 से 8 सप्ताह में बाल छोटे करते रहें। एक ही शैम्पू काम में ना लें एक ही शैम्पू ज्यादा समय तक काम में ना लें। बालों का रंग और बनावट में बदलाव यह दर्शाता है कि आपको बदलाव की ज़रूरत है, इसलिए, ऐसा प्रॉडक्ट इस्तेमाल करें जो सफ़ेद बालों के हिसाब से बना हो। नींबू से धोएँ कई बार घरेलू नुस्खें अच्छे कारगर साबित होते हैं। जैसे 2 कप गरम पानी में एक चौथाई कप नींबू का रस डालें। शैम्पू करने के बाद अपने बालों को इससे धोएँ।

 साइट्रिक एसिड सफ़ेद बालों में वापस रंग लता है। प्रोटीन से समझौता ना करें जो आप खाते हैं उसका आपके बालों और त्वचा पर असर होता है। विटामिन बी आपके बालों को लंबी उम्र देने में लाभकारी है। इसलिए पतला मांस, अंडे, कुरकुरी सब्जियाँ खाएं जिससे कि बाल काले, घने और चमकदार बनें। एल्कोहल मिश्रित उत्पादों का इस्तेमाल ना करें सफ़ेद बालों से छुटकारा पाने का यह भी एक तरीका है। सफ़ेद बाल मोटे और कठोर होते हैं, और एल्कोहल उत्पाद इन्हें ज्यादा घुँघराले और सूखे बनाते हैं। इसलिए ऐसे प्रोडक्टस का इस्तेमाल कर बालों को भारी ना बनाएँ। इन्हें हल्के रहने दे, और खुलकर सांस लेने दें। कलर करने से पहले रिसर्च करें यदि आपने बालों के कलर करने के बारे में सोचा है तो थोड़ा समय देकर रिसर्च करें। आपका निर्णय 3 मुख्य बातों पर आधारित होना चाहिए, कौन-कौनसे कलर विकल्प उपलब्ध हैं, किस तरह की देखभाल की आवश्यकता है, और कलर कब तक रहेगा।






















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Just try it out to see how they do on Navratri Hairstyling


नवरात्रि के साथ अच्छे कपड़े , मेकअप और गहने आदि भी जुड़े हुए हैं। तो स्वाभाविक है कि इन दिनों में हम अच्छी सी हेयरस्टाइल भी करना चाहती हैं। आज हम आपको कुछ हेयरस्टाइल्स के बारे में बता रहे हैं जो किसी भी भारतीय परिधान के साथ की जा सकती है। 
अत: पढ़ें और इस नवरात्रि के दौरान इन हेयरस्टाइल्स को करके देखें। 

1. ब्रेडेड बन: यह बहुत ही सौम्य हेयरस्टाइल है जो साड़ी के साथ बहुत अच्छी लगती है। अपने बालों को साइड से बांटे और फिर ऊपर की ओर से थोड़े बाल लें। इन बालों की छोटी चोटी बनायें। इसके बाद बाकी के बचे बालों का जूडा बनायें। 

2. लो बन: यह हेयरस्टाइल भी साड़ी पर बहुत अच्छी लगती है। अपने आधे बालों का जूडा बनायें और बाकी के बालों को चित्र के अनुसार फोल्ड करें। इस हेयरस्टाइल का मुख्य आकर्षण इसमें लगाई जाने वाली क्लिप है। 

3. ब्रेडेड अपडू: अपने बालों को थोडा उठाते हुए एक पफ बनायें और उसके बाद साइड से थोड़े बाल लें और चोटी बनायें इसी तरह से दूसरी ओर भी करें और दोनों चोटियों को पफ के नीचे मिलाएं। 

4. साइड चोटी: यह नवरात्रि के सबसे आसान हेयरस्टाइल है। कर्लिंग आयरन की सहायता से बालों को लहरदार बनायें और उसके बाद बालो को एक ओर ले जाएँ। इस साइड पर बालों की चोटी बनायें, बस इतना ही करना है! 

5. सुंदर चोटी: यह चोटी साधारण कपड़ों पर भी बहुत अच्छी दिखती है। बालों की चोटी बनायें और इसका प्रभाव दिखाने के लिए इसे थोडा खींचे। 

6. मेस्सी बन: मेस्सी बन साडी तथा सूत दोनों के साथ बहुत अच्छा लगता है। ऊपर एक पफ बनायें नहीं तो आपके बाल चपटे लगेंगे। उसके बाद बालों की पोलीटेल बनायें और उसका जूडा बनायें। जूड़े को फूला हुआ दिखाने के लिए इसे थोडा खींचे। 

7. पफ और वेव्स: यह नवरात्रि के लिए आसान हेयरस्टाइल है। ऊपर की ओर एक पफ बनायें तथा दूसरे सिरों को लहरदार बनायें। इसके साथ मांग टीका लगायें। 

8.गजरे के साथ जूडा: एक साधारण सा जूडा बनाकर उसमें गजरा लगा लें। इस बात का ध्यान रखें कि गजरा ताज़ा हो। 

9. हाफ अपडू: हाफ अपडू बनाने के लिए बॉबी पिन्स का उपयोग करें। और उसके बाद इन पिन्स को ढकने के लिए एक जडाऊ पिन लगायें। यह नवरात्रि के लिए एक आसान परन्तु सुंदर स्टाइल है। 

10. हाफ अपडू पफ के साथ: ऊपर की ओर पफ बनायें और हेयरस्प्रे की सहायता से उसे सेट करें। इससे आपके बाल जमे हुए दिखेंगे। इसके साथ मांग टीका लगायें। 

11. मिडिल पार्टेड हाफ अपडू: यह इस नवरात्रि के लिए सबसे आसान हेयरस्टाइल है। बालों को घना दिखाने के लिए बहुत सारे मूज और हेयरस्प्रे का उपयोग करें। और बस हो गया, बस ऐसा करके आप बालों की स्टाइल बना सकती हैं। 

12. फिशटेल ब्रेड: फिशटेल ब्रेड सूट और साड़ी दोनों के साथ बहुत अच्छी दिखती है। अपने बालों को तीन से अधिक भागों में बांटकर चोटी बनायें और नवरात्रि के लिए तैयार हो जाएँ। ।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, September 27, 2016

Flawless skin medicines to get these pills to make such face pack 6






हमारे सारे प्रयास बेदाग त्वचा पाने की दिशा में होते हैं। एक ऐसी त्वचा जिस पर कोई दाग, धब्बा, झुर्रियां, झाइयां व मुंहासे ना हों। ऐसी त्वचा पाना आसान नहीं है लेकिन कुछ विटामिन फेस मास्क यह करिश्मा दिखा सकते हैं।

एक साफ और निखरी त्वचा पाने के लिए आपको विटामिन व मिनरल की सबसे अधिक जरूरत होती है। विटामिन ई आपको दागों से छुटकारा दिलाता है जबकि विटामिन सी आपकी त्वचा को जवा बनाए रखता है।


इन फेस मास्क को बनाने के लिए आप किसी भी कैप्सूल का इस्तेमाल नहीं कर सकती। इसके लिए आपको आपकी त्वचा व त्वचा से जुडी समस्याओं की समझ होनी चाहिए। जैसे की एस्पिरिन की गोलियों में मौजूद सलिसीक्लिक एसिड मुंहासों से छुटकारा दिलाता है जबकि विटामिन ई के कैप्सूल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट आपकी त्वचा को साफ व कोमल बनाते हैं।






लेकिन इन सब से भी अधिक जरूरी बात है कैप्सूल को इस्तेमाल करने की मात्रा। कौन सा कैप्सूल कितनी मात्रा में इस्तेमाल करना है या बनाए गए लेप को हफ्ते में कितनी बार लगाना चाहिए जैसे सवालों के जवाब भी पता होने चाहिए।

इस प्रश्नों के उत्तर के रूप में हम ने नीचे कुछ फेस पैक को तैयार करने की विधि दी है। साइड-इफैक्स से बचने के लिए पैक को बनाकर एक पैच टेस्क लें। इन पैकों को आज़माने पर परिणाम 15 से 30 दिनों के भीतर नज़र आएंगे।




1 एस्पिरिन की गोलियां:
एस्पिरिन में मौजूद सलिसीक्लिक एसिड त्वचा से डेड स्किन को हटाता है तथा चेहरे को दागदार करने वाले धब्बों व मुंहासों से छुटकारा पाने में मदद करता है।



सामग्री

3 एस्पिरिन की गोलियां
1 कप पानी
1 चम्मच जैविक शहद

विधि:
एक चम्मच पानी में एस्पिरिन की गोलियां को घोलें। इसे एक लेप के रूप में तैयरा करने के लिए आवश्यकता अनुसार पानी डालें। अब इसमें शहद डालकर घोलें। इस तैयार हुए लेप को अपने चेहरे व गर्दन पर फैलाएं। इस लेप को 20 मिटन तक रहने दें, बाद में अपने चेहरे को पानी से धो लें। इस पैक को हफ्ते में सिर्फ एक बार लगाएं।

ध्यान रहें: कभी भी 8 से ज्यादा गोलियां का इस्तेमाल ना करें।



2 विटामिन ई:
विटामिन ई के कैप्सूल एंटीऑक्सीडेंट से युक्त होते हैं तथा इनसे बनाया गया पैक त्वचा के भीतर जल्द समाता है। यह पैक आपकी त्वचा को नर्म, मुलायम व जवा बनाएगा।



सामग्री

3 विटामिन ई के कैप्सूल
5 बूँदें बादाम के तेल की

विधि:
विटामिन ई के कैप्सूल को तोड़कर उसके अंदर मौजूद जेल को एक कटोरी में निकालें। अब इसमें बादाम का तेल मिलाएं। रात में सोने से पहले इस पैक से अपनी त्वचा की मालिश करें। सुबह अपने चेहरे को ठंडे पानी से धोएं।







3 विटामिन सी की गोली:
विटामिन सी में मौजूद एल-एस्कॉर्बिक एसिड त्वचा में कोलेजन स्तर को बढ़ाता है, जिससे आपकी त्वचा जवा व टाइट बनी रही है।



सामग्री
1 विटामिन सी का कैप्सूल या गोली
1 चम्मच गुलाब जल
½ बड़ा चम्मच ग्लिसरीन
5 बूँदें रोजहिप तेल की

विधि:
ऊपर दी गई सारी सामग्री को मिलाकर एक लेप तैयार करें। इस लेप को रात में सोने से पहले अपनी त्वचा पर एक मोइस्चराइज़र के रूप में लगाएं। विटामिन सी से बना यह पैक केवल मुंहासों से ही छुटकाना नहीं दिलाएगा बल्कि चेहरे पर नज़र आने वाली झुर्रियों व फाइनल लाइन से भी आपका पीछा छुडा देगा।







4 प्रोबायोटिक कैप्सूल:
इन कैप्सूल में मौजूद गुड बैक्टीरिया, फ्री रैडिकल से आपकी त्वचा की रक्षा करता है, तथा चेहरे पर नज़र आने वाले काले धब्बों को घटाकर त्वचा को कोमल बनाता है।

सामग्री
2 या 3 प्रोबायोटिक के कैप्सूल
5 बूँदें लैवेंडर के तेल की
5 बूँदें बादाम के तेल की

विधि:
पहले दोनों तेलों को मिलालें फिर इसमें कैप्सूल को तोड कर डालें। सारी सामग्री को अच्छे से मिलालें। इस मिश्रण को अपने चेहरे व गर्दन पर लगाएं। जब मास्क आपके चेहरे पर सूख जाएं तब चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। बेदाग चेहरा पाने के लिए इस उपाय को हफ्ते में दो बार आज़माएं।







5 सीवीड कैप्सूल:
सीवीड कैप्सूल में भरपूर मात्रा में विटामिन व मिनरल होते हैं। ये त्वचा से मृत कोशिकाओं को हटाते हैं तथा त्वचा को स्वस्थ बनाकर झुर्रियों से छुटकारा दिलाते हैं।

सामग्री
3 सीवीड कैप्सूल
खूबानी के तेल की 10 बूँदें
1 चम्मच जैविक शहद

विधि:
कैप्सूल को तोड कर उसमें शहद व खूबानी के तेल को मिलाएं। इस विटामिन से युक्त पैक को अपने चेहरे व गर्दन पर लगाएं। इस पैक को अपने चेहरे पर 30 मिनट के लिए रहने दें और बाद में अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। इस घरेलू नुस्खे को सप्ताह में दो बार आज़माएं।







6 गाजर के तेल के कैप्सूल
हम सब जानते हैं कि गाजर में बीटा-कैरोटीन होता है, जो क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को ठीक करता है व रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है। इससे आपका चेहरा चमक उठता है।

सामग्री
2 गाजर के तेल के कैप्सूल
2 बूँदें गुलमेहंदी का तेल
2 बूँदें बादाम का तेल

विधि:
पहले अपने चेहरे को धोलें। फिर इन सारी चीज़ों को मिलाकर इनसे अपनी चेहरे की मालिश करना आरंभ करें। इसे रात भर रहने दें सुबह अपने चेहरे को ठंडे पानी से धो लें। यदि चिपचिपाहट महसूस हो तो मिश्रण को थोडा कम लगाएं।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Health benefits of dark chocolate



ज्यादा चॉकलेट खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा नहीं होता है, लेकिन थोड़ी मात्रा में चॉकलेट खाने पर यह दवा की तरह काम करती है। जब भी कोई बच्चा चॉकलेट खाता है तो घर के बड़े उसे ये समझाते हैं कि चॉकलेट खाना उसकी हेल्थ के लिए नुकसानदायक हो सकता है। दरअसल, इसका एक कारण चॉकलेट के गुणों से अनजान होना भी है। जी हां, चॉकलेट में भी कुछ ऐसी खूबियां होती हैं, जिनके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। चलिए आज जानते हैं चॉकलेट की कुछ ऐसी ही खूबियों के बारे में। (यहाँ चॉकलेट से मतलब डार्क चॉकलेट से है जिसमे कोको बिन्स की मात्रा ज्यादा होती है। )





1.तनाव दूर करती है
चॉकलेट में मूड ठीक करने और तनाव दूर करने का गुण पाया जाता है। जब भी आपका मूड खराब हो थोड़ी चॉकलेट खाएं। अच्छा महसूस करने लगेंगे।

2.मानसिक बीमारियों में
चॉकलेट में फ्लेवेनॉल होता है। फ्लेवेनॉल खून का संचार बेहतर तरीके से करता है। इसलिए चॉकलेट खाने से मानसिक रोगों में लाभ होता है।

3.दर्द भी भगाती है चॉकलेट
चॉकलेट खाने से शरीर में एंडोफिजिन नाम का हार्मोन उत्सर्जित होता है। इसीलिए चॉकलेट खाने से दर्द कम होता है। यह एक नेचुरल पेनकिलर की तरह काम करती है।

4.डायबिटीज में भी
डार्क चॉकलेट में उपस्थित फ्लेवोनॉयड व ग्लाइकेमिक रसायन डायबिटीज कंट्रोल करने में सहायता करते हैं। चॉकलेट खाने से इंसुलिन का प्रतिरोध कम होता है, जिससे शरीर में शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है।

5.दिल के लिए लाभकारी
चॉकलेट में कॉपर और पोटैशियम पाया जाता है। इसीलिए यह दिल से जुड़ी बीमारियों को दूर रखती हैं। चॉकलेट ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाती है। साथ ही, इसके नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल भी हमेशा कंट्रोल में रहता है।

6.ब्लड प्रेशर में
चॉकलेट खाने से ब्लड प्रेशर हमेशा कंट्रोल में रहता है। डॉर्क चॉकलेट में बड़ी मात्रा में फ्लेवोनॉयड और एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं। चॉकलेट को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में हफ्ते में दो या तीन बार खाने से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायता मिलती है।

7.खांसी में करें उपयोग
क्या आप जानते हैं कि चॉकलेट खांसी में फायदेमंद होती है। लंदन के चिकित्सा शोधकर्ताओं ने कोको में मिलने वाले थियोब्रोमाइन तत्व से भरपूर ऐसी चॉकलेट तैयार की है। जिसे खाकर खांसी से छुटकारा पाया जा सकता है।

8.तुरंत एनर्जी के लिए
जिन लोगों को अचानक चक्कर आने या ब्लड प्रेशर लो होने की समस्या हो, उन्हें हमेशा अपने पास चॉकलेट रखना चाहिए। जब भी कमजोरी महसूस हो तुरंत चॉकलेट खा लें। इससे बॉडी को तुरंत एनर्जी मिलती है।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Health benefits of peanuts (mungfali) in Hindi






मूंगफली सेहत का खजाना है। साथ ही, यह वनस्पतिक प्रोटीन का एक सस्ता स्रोत भी हैं। रोज मूंगफली खाने के कई ऐसे फायदे होते हैं, जो खाने वालों को भी नहीं पता होते हैं। ऐसे में अनजाने में ही कुछ ऐसे हेल्दी फायदे मिलने लगते हैं, जिनकी वह कल्पना भी नहीं कर सकता है। एक अंडे की कीमत में जितनी मूंगफली आती है, उसमें अंडे से कई गुना ज्यादा प्रोटीन होता है। दूध और अंडे में इसके मुकाबले कम प्रोटीन होता है।




यह आयरन, नियासिन, फोलेट, कैल्शियम और जिंक का अच्छा स्रोत हैं। थोड़े से मूंगफली के दानों में 426 कैलोरीज, 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 17 ग्राम प्रोटीन और 35 ग्राम वसा होती है। इसमें विटामिन ई, के और बी6 भी भरपूर मात्रा में पाए जाते है। इसलिए यदि आप ऊपर लिखे पोषण के साथ ही आगे लिखे फायदे भी पाना चाहते हैं तो रोजाना लाल छिलके वाले कम से कम 20 मूंगफली के दाने खाएं….

1. मूंगफली में तेल का अंश होने से यह पेट की बीमारियों को खत्म करती है। इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या नहीं होती है। साथ ही, गैस व एसिडिटी की समस्या से भी राहत मिलती है।

2. मूंगफली गीली खांसी में भी उपयोगी है। इसके नियमित सेवन से आमाशय और फेफड़ों को मजबूती मिलती है। पाचन शक्ति को बढ़ाती है और भूख न लगने की समस्या भी दूर होती है।

3. मूंगफली का नियमित सेवन गर्भवती स्त्री के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह गर्भावस्था में शिशु के विकास में मदद करती है।


4. मूंगफली में ओमेगा-6 फैट भी भरपूर मात्रा में मिलता है, जो स्वस्थ कोशिकाओं और अच्छी त्वचा के लिए जिम्मेदार है। इसलिए मूंगफली स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

5. मूंगफली कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाती है। एक शोध से यह भी पता चला है कि सप्ताह में पांच दिन मूंगफली के कुछ दाने खाने से दिल की बीमारियां होने का खतरा कम रहता है।


6. खाने के बाद यदि 50 या 100 ग्राम मूंगफली रोजाना खाई जाए तो सेहत बनती है, भोजन पचता है, शरीर में खून की कमी नहीं होती है।

7. इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है। कोलेस्ट्रॉल की मात्रा में 5.1 फीसदी की कमी आती है। इसके अलावा कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल (एलडीएलसी) की मात्रा भी 7.4 फीसदी घटती है।


8. प्रोटीन, लाभदायक वसा, फाइबर, खनिज, विटामिन और एंटीआक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए इसके सेवन से स्किन उम्र भर जवां दिखाई देती है।

9. इसमें कैल्शियम और विटामिन डी अधिक मात्रा में होता है, इसलिए इसे खाने से हड्डिया मजबूत हो जाती है।

10. माना जाता है कि रोजाना थोड़ी मात्रा में मूंगफली खाने से महिलाओं और पुरुषों में हार्मोन्स का संतुलन बना रहता है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, September 26, 2016

Health Benefits of Coconut Water, Nariyal Pani ke Fayde






नारियल पानी में कई तरह के विटामिन्स मिनरल्स तो होते ही हैं। ये एक नैचुरल इलेक्ट्रोलाइट है और इमरजेंसी में बॉडी में सीधे आईवी फ्लुइड की तरह लगाया जा सकता है। इसमें काफी कम कैलोरी होती है और ये फैट फ्री होता है। नारियल की तासीर ठंडी होती है इसलिए नारियल का पानी हल्का, प्यास बुझाने वाला, अग्निप्रदीपक, वीर्यवर्धक तथा मूत्र संस्थान के लिए बहुत उपयोगी होता है। इसमें स्वास्थवर्धक गुण तो है ही, साथ ही इसकी ताजगी से भरा स्वाद इसे पूरे विश्व में लोकप्रिय बनाता है। रोज नारियल पानी पीने से कई तरह के हेल्थ बैनिफिट्स मिलते हैं।





नारियल पानी के स्वास्थवर्धक गुण (Health Benefits of Coconut Water)


1. नारियल पानी इम्यून सिस्टम बेहतर करके बिमारियों से लड़ने की ताकत देता है। इससे इन्फेक्शन, सर्दी जुकाम जैसी बिमारियों से बचाव होता है।

2. नारियल पानी में कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम और सोडियम जैसे मिनरल्स होते है जो बॉडी को भरपूर न्यूट्रिशन देते है।


3. नारियल पानी थाइरॉइड ग्लैंड्स के हार्मोन्स को बढ़ाता है जिससे बॉडी की सेल्स को एनर्जी मिलती है। दो हफ्ते में एनर्जी लेवल काफी बढ़ जाएगा।

4. नारियल पानी बॉडी के भीतर से टॉक्सिन्स निकालता है। किडनी, यूरिनरी ट्रेक्ट और लिवर की बिमारियों से बचाव होगा।


5. नारियल पानी में मौजूद फाइबर्स डाइजेशन बेहतर करते है। दो हफ्ते में ही कब्ज, एसिडिटी जैसी प्रॉब्लम से राहत महसूस होगी।

6. लो फैट और लो कैलोरी वाला नारियल पानी भूख और प्यास तो मिटाता है लेकिन वजन नहीं बढ़ने देता।


7. नारियल पानी बॉडी को हाइड्रेट करता है। इससे डिहाइड्रेशन के कारण होने वाला सिरदर्द दूर होगा और ताजगी महसूस होगी।

8. नारियल पानी से स्किन के सेल्स भी हाइड्रेट होते है और दो हफ्ते में ही स्किन में ग्लो नजर आने लगेगा।

9. नारियल पानी में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार है।

10. नारियल पानी में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स धुप, पॉल्यूशन के कारण होने वाले बुरे प्रभाव को कम करते है।

11. स्वाभाविक रुप से नारियल पानी में कई बायोएक्टिव एन्जाइमस् जैसे एसिड फॉस्फेट, कटालेस, डिहाइड्रोजनेज, डायस्टेज, पेरोक्सडेस, आर एन ए पोलिमेरासेस् आदि पाए जाते हैं। ये एनेजाइमस् पाचन और चयापचय क्रिया में मदद करते हैं।

12. कई प्रयोगशालाओं में यह भी पाया गया है कि नारियल पानी के कुछ संयुक्त पदार्थ जैसे सेलनियम में एंटी आॉक्सीडेंट गुण मौजूद है, जो कैंसर से लडने में मदद करते हैं।

13. अगर आप हर रात, दो से तीन हफ्तों के लिये, अपने मुँहासों, धब्बों, झुर्रियों, स्ट्रैच माक्स, सेल्युलाईट और एक्जिमा पर नारियल पानी लगाएँगे, तो आपकी त्वचा बहुत साफ हो जाएगी।

14. नारियल पानी में मौजूद मिनरल, पोटेशियम और मैग्नीशियम गुर्दे में होने वाली पथरी के खतरे को कम करते हैं।

15. नारियल पानी का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिये बहुत लाभदायक है। इस में मौजूद पोषक तत्व, शरीर में शक्‍कर के स्तर को नियंत्रित रखते हैं। जो मधुमेह के रोगियों के लिये बहुत जरुरी है।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Apples or potatoes, peel, eat these fruits and vegetables, including




क्‍या आप जानते हैं कि हमारे सेहत के लिये जितनी पौष्टिक फल और सब्‍जियां हैं, उतने ही इनके छिलके भी। जिन छिलको को आप कचरा समझ कर फेंक देते हैं, वही छिलके ढेर सारे गुणों से भरे हुए होते हैं।

अगर आप अगली बार सेब खाते हैं या फिर खीरा, तो उसके छिलके को भूल कर भी ना उतारें। हां, आप उनको भली प्रकार से धो सकते हैं, जिससे उनमें लगी धूल मिट्टी आराम से निकल जाए। आइये जानते हैं किन छिलको में कौन से गुण छुपे हुए होते हैं।







सेब- सेब के छिलके में घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं, जो कि शरीर में पाए जाने वाले खराब कोलेस्‍ट्रॉल और ब्‍लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करते हैं।


अंगूर: ये बात सच है कि अंगूर में भारी मात्रा में कीटनाशक पाए जाते हैं। लेनिक फिर भी आपको उसके छिलके को नहीं छीलना चाहिये। इसके छिलके में resveratrol पाया जाता है जो हृदय के लिये काफी अच्‍छा माना जाता है।

आलू: आलू के छिलके में आलू से कहीं ज्‍यादा आयरन, फाइबर और फोलेट पाया जाता है। इसके साथ ही इसमें 5 से 10 गुना ज्‍यादा एंटीऑसीडेंट भी होता है।


खीरा: खीरे को छिलके के साथ खाने से कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन ए और विटामिन के प्राप्‍त होता है।


बैंगन: बैंगन में एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो दिमाग की कोशिकाओं को मजबूत बनाता है। अगर आप इसे अधिक मात्रा में खाएंगे तो आपका वजन भी कम होगा।


सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Saturday, September 24, 2016

12 Create a clean and spotless skin like Neem Face Pack






अब जब आप यह जानते हैं कि नीम आपकी त्वचा के लिए कितना असरदार है तो चलिए हर्बल नीम मास्क के बारे में जानते हैं। मास्क अच्छी तरह काम करे इसके लिए ज़रूरी है कि पहले बेसिक त्वचा के रख रखाव के नियम का पालन किया जाये।




चेहरे को दिन में दो बार क्लेन्ज़र से साफ करें, मेकअप के साथ कभी न सोएं। अपनी त्वचा को बार बार न छुएं और चाहे कितने भी व्यस्त हों सनस्क्रीन लगाना कभी न भूलें। यहाँ पर आसान तरीके दिए गए हैं जिससे घर पर बने नीम मास्क को चेहरे पर लगाकर आकर्षक त्वचा पायी जा सकती है।






नीम+गुलाबजल
इस मास्क में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जिससे चेहरे पर पड़े दाग धब्बे मिट जाते हैं।

कैसे काम करता है
मुट्ठी भर नीम के पत्तों को लेकर पाउडर बना लें। इस पाउडर में गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इसे चेहरे और गर्दन पर लगा लें। 15 मिनट बाद धो लें।


नीम+बेसन+दही
इस मास्क से कील मुहांसे कम होते हैं, दाग धब्बे मिटते हैं और चेहरे पर चमक आती है।

कैसे काम करता है
एक बड़े चम्मच बेसन में एक छोटा चम्मच नीम का पाउडर दही की मदद से मिला कर पेस्ट बना लें। चेहरे को धोने के बाद यह मास्क लगा लें। इसे 15 मिनट तक रहने दें और उसके बाद धो लें। इस मास्क को हफ्ते में दो बार लगाएं और असरदार परिणाम पाएं।


नीम+चन्दन+दूध
इस मास्क से चहरे पर निखार आता है, यह चेहरे को साफ करता है जिससे त्वचा साफ और कोमल हो जाती है।

कैसे काम करता है
एक छोटे चम्मच चन्दन पाउडर में आधा चम्मच नीम पाउडर, दूध के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इसे चेहरे और गर्दन पर लगा लें। आधे घंटे बाद चेहरे को पानी से धो कर स्क्रब कर लें।


नीम+शहद
इस घर पर बने मास्क से थकी हुई त्वचा में जान आती है और चेहरे पर तेल को बनने से रोकता है।

कैसे काम करता है
कुछ नीम के पत्तों को निचोड़कर पेस्ट बना लें और इसमें एक बड़ा चम्मच शहद मिला दें। अच्छे से चला लें और चेहरे और गर्दन पर लगा लें। आधे घंटे बाद धो लें।






नीम+पपीता
इस मास्क में मौजूद एंटी बैक्टीरियल क्षमता चेहरे पर से धूल हटाती है और चेहरे पर चमक लाती है।

कैसे काम करता है
एक पके हुए पपीते को निचोड़कर उसका पल्प निकाल लें और इसमें एक छोटा चमच नीम का पाउडर मिला लें। इन्हें अच्छी तरह मिला लें। अब चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह लगा लें। आधे घंटे तक रहने दें और उसके बाद धो लें।

नीम+टमाटर
इस मास्क में बीटा कैरोटीन और लयकोपीन होता है जो त्वचा को फ्री रेडिकल से बचाता है, त्वचा को कोमल बनाता है और टेन से मुक्ति दिलाता है।

कैसे काम करता है
टमाटर को निचोड़कर उसका पल्प निकाल लें और इसमें नीम पाउडर मिला लें। इसे चहरे पर लगा लें। चेहरे पर इस मास्क को 15 मिनट तक लगा रहने दें और उसके बाद धो लें।

नीम+तुलसी+शहद
इस हर्बल मास्क से चेहरे की धूल हटती है, कील मुहांसे बनांने वाले बैक्टीरिया मरते हैं और त्वचा स्वस्थ रहती है।



कैसे काम करता है
मुट्ठी भर तुलसी और नीम के पत्तों को सूखने के लिए रख दें। सूख जाने के बाद इसका पाउडर बना लें। इस पाउडर में एक बड़ा चम्मच शहद मिला लें। इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह लगा लें। इसे सूखने दें। गोल गोल स्क्रब करें और धो लें।



नीम+दही+हल्दी
इस मास्क में जिसमें चेहरे पर ज़्यादा तेल न बनने देने की क्षमता है, इसमें लैक्टिक एसिड और हल्दी भी है जिससे चेहरे पर पड़े दाग धब्बे मिट जाएंगे और चेहरा मुलायम रहेगा।

कैसे काम करता है
एक छोटे चम्मच नीम पाउडर में एक बड़ा चम्मच दही और चुटकी भर हल्दी मिला लें। इसे चेहरे पर लगा लें। इसे सूखने दें और उसके बाद धो लें।


नीम+एप्‍पल साइडर वेनिगर+शहद
इस आयुर्वेदिक मास्क से चेहरे के दाग धब्बे हटते हैं, चेहरे की चमक बढ़ती है और चेहरा एक हफ्ते में साफ दिखने लगता है।

कैसे काम करता है
एक छोटा चम्मच नीम पाउडर में एक बड़ा चम्मच सेब की मदिरा वाला सिरका और एक चम्मच शहद मिलाएं। पेस्ट बना कर चेहरे पर लगाएं। इसे आधे घंटे तक सूखने दें। स्क्रब करें और चेहरा धो लें।



नीम+चावल का पानी+गुलाब की पंखुड़ी+आलमंड आयल
इस घर पर बने मास्क में ब्लीचिंग के गुण होते हैं जिससे आपको त्वचा गोरी होती है और इसमें कसाव आता है।

कैसे काम करता है
5 नीम के पत्ते, मुट्ठी भर गुलाब की पंखुरियाँ और आलमंड आयल की पांच बूँदें गुलाबजल की कुछ बूंदों के साथ मिला लें। इसका पेस्ट बना लें। इस मास्क को चेहरे पर लगाएं और इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगा रहने दें। ठन्डे पानी से धो लें।


नीम+आलू+नीम्बू का रस
इस मास्क में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कील मुहांसों का इलाज करता है और इसमें एंटी फंगल प्रॉपर्टी भी होती है जिससे कील मुहांसे कम होते हैं, चेहरा गोरा होता है और रोमक्षिद्ऱ बंद होते हैं।

कैसे काम करता है
कसे हुए आलू को रात भर गर्म पानी में डुबो कर रखें। सुबह इसका पानी निकाल लें। एक चम्मच निम्बू के रस में एक चम्मच नीम पाउडर मिला लें। अब इसे अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें। इसमें रुई डाल कर लगाएं। 15 मिनट तक रहने दें फिर धो लें।

नीम+एलो वेरा
यह नीम को चेहरे पर लगाने का सबसे आसान तरीका है। इससे चेहरे के अंदर तक छुपी गंदगी निकल जाती है और चेहरा तुरंत चमकदार और सुन्दर दिखने लगता है।

कैसे काम करता है
एक चम्मच नीम के पाउडर में दो बड़े चम्मच एलो वेरा मिला लें। रुई में कुछ बूँद गुलाबजल लें और इससे पहले चेहरे को साफ कर लें ताकि चेरे पर से तेल और साड़ी गंदगी धुल जाए। चेहरे को सूखने दें। अब बनाये गए पेस्ट को चेहरे पर गोल गोल लगा लें। 15 मिनट तक रहने दें और उसके बाद धो लें।







सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Drink black salt water every morning, that will benefit 13



आयुर्वेद के अनुसार काला नमक अपने आहार में शामिल करने से शरीर के कई रोग दूर होते हैं। यह कोलेस्‍ट्रॉल, मधुमेह, हाई बीपी, डिप्रेशन और पेट की तमाम बीमारियों से मुक्‍ती दिलाता है क्‍योंकि इसमें 80 प्रकार के खनिज शामिल हैं।



अगर आप सुबह काला नमक और पानी मिला कर पीना शुरु कर दें तो आपको काफी स्‍वास्‍थ्‍य लाभ पहुंच सकता है। लोंगो को अभी पता नहीं है कि सादे नमक का बहुत ज्‍यादा प्रयोग हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिये हानिकारक हो सकता है इसलिये अच्‍छा होगा कि आप उसे हटा कर काले नकम का सेवन कीजिये।


पाचन दुरस्त करे
नमक वाला पानी मुंह में लार वाली ग्रंथी को सक्रिय करने में मदद करता है। पेट के अंदर प्राकृतिक नमक, हाइड्रोक्लोरिक एसिड और प्रोटीन को पचाने वाले इंजाइम को उत्तेजित करने में मदद करता है। इससे खाया गया भोजन टूट कर आराम से पच जाता है।


मोटापा घटाए
यह पाचन को दुरस्त कर के शरीर की कोशिकाओं तक पोषण पहुंचाता है, जिससे मोटापा कंट्रोल करने में मदद मिलती है। समुंद्री नमक छोड़ कर आपको इस नमक को अपने आहार में शामिल करना चाहिये।



जोड़ों के दर्द में आराम दिलाए
मासपेशियों के दर्द और जोड़ों के दर्द से यह नमक आराम दिलाता है। आपको एक कपड़े में 1 कप काला नमक डाल कर उसे बांध कर पोटली बनानी है। इसके बाद उसे किसी पैन में गरम करें और उससे जोड़ों की सिकाई करें। इसे दुबारा गरम कर के फिर से दिन में दो बार सिकाई करें।



आंत की गैस से छुटकारा दिलाए
अगर गैस से छुटकारा पाना है तो एक कॉपर का बरतन गैस पर चढाएं, फिर उसमें काला नमक डाल कर हल्‍का चलाएं और जब उसका रंग बदल जाए तब गैस बंद कर दें। फिर इसका आधा चम्‍मच ले कर एक गिलास पानी में मिक्‍स कर के पियें।


सीने की जलन से मुक्‍ती
क्षारीय प्रकृति होने के नाते यह पेट में जा कर वहां बनने वाले एसिड को काटता है और सीने की जलन तथा एसिडिटी को ठीक करता है।


कोलेस्‍ट्रॉल लेवल कंट्रोल करे
काला नमक खाने से रक्‍त पतला होता है जिससे वह पूरे शरीर में आराम से पहुंचता है। ऐसे में आपका हाई कोलेस्‍ट्रॉल और ब्‍लड प्रेशर ठीक होता है। हाइ बीपी है तो नमक की जगह पर खाएं यह


मसल स्‍पैजम और क्रैंप में आराम दिलाए
काला नमक में पोटैशिमय होता है जो कि हमारी मासपेशियों को ठीक से काम करने में मदद करता है। इसलिये काले नमक को रोजाना खाने में शामिल करें जिससे मसल स्‍पैजम और क्रैंप ना हो।



मधुमेह को कंट्रोल करे
रिसर्च मे पाया गया है कि काला नमक ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है।


शिशुओं के लिये भी अच्‍छा
काला नमक छोटे बच्चों के लिए सबसे अच्छा है। यह अपच और कफ की जमावट को सीने से हटाता है। अपने शिशु के भोजन में थोड़ा सा काला नमक रोजाना मिलाएं क्‍योंकि इससे उनका पेट भी ठीक रहेगा और कफ आदि से भी छुटकारा मिलेगा।






नींद लाने में लाभदायक
अपरिष्कृत नमक में मौजूदा खनिज हमारी तंत्रिका तंत्र को शांत करता है। नमक, कोर्टिसोल और एड्रनलाईन, जैसे दो खतरनाक सट्रेस हार्मोन को कम करता है। इसलिये इससे रात को अच्छी नींद लाने में मदद मिलती है।


रूसी से मुक्‍ती दिलाए
अगर आपको रूसी और बाल झड़ने की समस्‍या है तो काला नमक और टमाटर का जूस हफ्ते में एक दिन सिर में लगाएं। यह रूसी को दूर करेगा और बालों की ग्रोथ को भी बढ़ाएगा।


शरीर करे डिटॉक्‍स
नमक में काफी खनिज होने की वजह से यह एंटीबैक्टीरियल का काम भी करता है। इस‍की वजह से शरीर में मौजूद खतरनाक बैक्टीरिया का नाश होता है।

त्वचा की समस्‍या
नमक में मौजूद क्रोमियम एक्‍ने से लड़ता है और सल्फर से त्वचा साफ और कोमल बनती है। इसके अलावा नमक वाला पानी पीने से एग्जिमा और रैश की समस्या दूर होती है। सौंदर्य के लिये बड़ा ही फायदेमंद है सेंधा नमक






कैसे बनाएं काला नमक वाला पानी
एक गिलास गुनगुने पानी में आधा छोटा चम्‍मच काला नमक मिलाइये। फिर इसे चम्‍मच से मिक्‍स कीजिये और 24 घंटे के लिये छोड़ दीजिये। उसके बाद जब सारा नमक पानी में घुल जाए तब इसे पी जाइये।





सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Thursday, September 22, 2016

The 12 chrism will face blond and clean, just to try






उबटन एक प्राकृतिक चीज़ है जो हर घर में बनाई जाती है। आपको हल्‍दी और बेसन वाला उबटन तो पता ही होगा लेकिन आज हम आपके सामने 12 तरह के अलग-अलग उबटन बनाने की विधि ले कर आए हैं।


अगर आपके घर पर कोई त्‍योहार या उत्‍सव आने वाला है तो समय आ गया है कि आप उसकी तैयारी अभी से कर लें। चेहरे पर अगर दाग धब्‍बे या झाइयां हैं तो उसे इन प्राकृतिक उबटनों से दूर कर सकती हैं। आइये जानते हैं इनके बारे में...

1. केले का मास्‍क
यह मास्‍क चेहरे के तेल को कम करता है और डेड सेल को हटाता है। एक चम्‍मच मसला हुआ केला, 1 चम्‍मच शहद और 1 चम्‍मच नींबू का रस मिलाएं और चेहरे पर लगाएं। इसे आधे घंटे के लिये सूखने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।






2. मलाई और शहद
यह मास्‍क त्‍वचा में नमी भरता है, जिससे स्‍किन ग्‍लो करने लगती है। 1 चम्‍मच मलाई लें और उसमें 1 चम्‍मच शहद मिक्‍स करें। पहले चेहरे को धो लें और फिर इसका एक कोट लगाएं। 30 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। इस मास्‍क को रोजाना लगाएं।


3. जैतून और बादाम तेल
इस पैक को लगाने से चेहरा मुलायम हो कर चमकदार बन जाएगा। 1 चम्‍मच जैतून तेल में 5 बूंद बादाम तेल मिक्‍स करें और चेहरे पर 5 मिनट तक इससे मसाज करें। फिर इसे रातभर चेहरे पर ही रहने दें और सुबह चेहरे को धो लें।


4. नींबू और ग्‍लीसरीन
दाग धब्‍बों से मुक्‍ती पाने के लिये और चेहरे पर ग्‍लो भरने के लिये यह फेस पैक लगाएं। 1 चम्‍मच ग्‍लीसरीन में 5 बूंद नींबू की बूंद डालें और एक कॉटन बॉल से इसे चेहरे पर लगाएं। फिर चेहरे को 10 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। यह मास्‍क ड्राई स्‍किन के लिये काफी अच्‍छा है।


5. टमाटर और शक्‍कर
टमाटर की दो स्‍लाइस लें, उस पर थोड़ी सी शक्‍कर छिड़के। फिर इसको अपने चेहरे तथा गर्दन पर स्‍क्रब करना शुरु कर दें। फिर इसे 10 मिनट के लिये चेहरे पर ही लगा रखने दें और फिर चेहरे को धो लें।


6. बेसन, दही और हल्‍दी
इस मास्‍क में एंटीऑक्‍सीडेंट और ब्‍लीचिंग गुण होते हैं, जिससे स्‍किन टोन हल्‍की हो जाती है। 1 चम्‍मच बेसन में आधा चम्‍मच दही और चुटकीभर हल्‍दी मिक्‍स करें। फिर इसे पेस्‍ट बनाएं और चेहरे पर लगा कर 30 मिनट तक छोड़ दें। फिर पानी से चेहरे को धो लें।


7. एलो वेरा और टी ट्री ऑइल
चेहरे से पिंपल हटाने हों या फिर दाग धब्‍बे दूर करने हों , तो यह पैक काफी अच्‍छा रहेगा। थोड़ा सा ताजा एलोवेरा जैल लें, उसमें 7 बूंद टी ट्री ऑइल की मिक्‍स करें। इससे चेहरे को धीरे धीरे मसाज करें और फिर 20 मिनट तक छोड़ दें। फिर चेहरे पर बरफ रगड़े और चेहरे को पानी से धो लें।


8. अंडा और बादाम तेल
इस पैक में प्रोटीन और एंटी ऑक्‍सीडेंट होते हैं जो कि चेहरे से बारीक धारियों को दूर करते हैं। अंडे को तोड़ कर उसके सफेद हिस्‍से को निकाल लें, फिर उसमें 5 बूंद बादाम तेल की मिलाएं और फेंट लें। अब इसका पतला सा कोट चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं और 30 मिनट के लिये छोड़ दें। जब स्‍किन सूख जाए तब इसे पानी से धो लें। इसे हफ्ते में दो बार लगाएं।





9. शहद
अगर आपके पास समय नहीं है तो आप केवल शहद को ही चेहरे पर लगा सकती हैं। जब यह सूख जाए तब चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।


10. गाजर, शहद और हल्‍दी
यह आयुर्वेदिक उबटन चेहरे के पोर्स को कम करता है और चेहरे पर निखार लाता है। गाजर को घिस कर उसमें 2 चम्‍मच शहद और चुटकीभर हल्‍दी मिक्‍स करें। फिर इसे चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं और 30 मिनट के बाद चेहरे को गोलाई में रगड़ कर पानी से धो लें।


11. आलू और दही
इस पैक में विटामिन सी, प्रोटीन और आयरन होता है जो कि सनटैनिंग और काले धब्‍बे मिटाता है। आलू को मसल लें और उसका पेस्‍ट बना लें। फिर उसमें 1 चम्‍मच शहद और दूही मिलाएं। चेहरे को धो कर यह पेस्‍ट लगाएं और 20 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। इसको हफ्ते में दो बार लगाएं, आपको चेहरा हमेशा साफ बना रहेगा।






12. ओटमील, शहद, दूध और बादाम तेल
इस पैक में एंटीबैक्‍टीरियल गुण होते हैं, जो गंदगी को बाहर निकालते हैं और चेहरे को गोरा बनाते हैं। 1 चम्‍मच ओटमील को ग्राइंड कर के पावडर बनाएं, फिर उसमें 1 चम्‍मच शहद, 6 बूंद बादाम तेल और दूध मिक्‍स करें। इस पेस्‍ट को चेहरे पर लगाएं और जब यह सूख जाए तब चेहरे को स्‍क्रब करें और फिर प्‍लेन पानी से धो लें।































सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Eat the right things, even if there is gas in the stomach 5 food



क्‍या होता है जब आपके पेट में गैस बनती है, पेट फूलने लगता है और अन्‍य गैस्‍ट्रिक समस्‍याएं पैदा होने लगती हैं? जी हां, आप डॉक्‍टर के पास जाते हैं और ढेर सारी दवाइयां और सीरप पीते हैं।

पर इससे अच्‍छा है कि ऐसे फूड को खाने से बचा जाए जो पेट में गैस बनाते हैं। आइये जानते हैं इनके बारे में....

पेट में गैस बनती है तो भूल कर भी ना खाएं ये फूड



1.पत्‍ता गोभी- लिस्‍ट में पहले नाम पर है पत्‍ता गोभी। यह सब्‍जी पचाने में काफी मुश्‍किल होती है और अगर इसे रात में खाया जाए तो पेट में गैस, अपच और अन्‍य समस्‍याएं पैदा होती हैं।



2.आलू- अगर आपको पहले से ही पेट फूलने या गैस्‍ट्रिक से संबन्‍धित कई समस्‍याएं हैं तो, अच्‍छा होगा कि आप यह सब्‍जी रात में ना खाएं। इसमें ढेर सारा स्‍टार्च होता है जो यदि दाल के साथ खाया गया तो बहुत ही ज्‍यादा नुकसान करता है।



3.खीरा- बहुत से लोंग मानते हैं कि अगर खीरे को रात में खाया जाए तो वजन कम करने में मदद मिलती है। मगर यह गैस्‍ट्रिक प्रॉब्‍लम पैदा कर सकता है क्‍योंकि इसमें ढेर सारा पानी और फाइबर होता है, जिससे पाचन क्रिया में बाधा आती है, जिससे गैस बनने लगती है।



4.तरबूज- खीरे की ही तरह तरबूज में भी पानी और फाइबर की मात्रा अधिक पाई जाती है, जो कि पचाने में थोड़ा मुश्‍किल होता है। इसके साथ ही इसमें शक्‍कर भी होती है जिससे पेट फूलने लगता है।




5.दुग्ध उत्पाद: दुग्ध उत्पाद जैसे दूध में शुगर लैक्‍टोज होता है, जो बहुत से लोंगो को नहीं हजम हो पाता। इससे गैस और पेट में मरोड होने लगती है। कई लोंगो को तो दूध पी कर डायरिया भी हेा जाता है।





सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, September 20, 2016

Ginger and salt immediately bring rid of phlegm




अदरक हमारी रसोंई का एक बड़ा हिस्‍सा है। इसे भोजन के साथ साथ चाय बनाने में भी प्रयोग किया जाता है। यह पेट की हर बीमारी से राहत भी दिलाती है। पर क्‍या आप जानते हैं कि अदरक का एक टुकड़ा बलगम यानी कफ से लड़ने में कितना अहम हिस्‍सा निभाती है? 

आइये जानते हैं अदरक और नमक किस तरह से भयंकर कफ को भी दूर कर देती है। अदरक कैसे होती है मददगार अदरक, सांस वाली नली के संकुचन में आ रही बाधा को कम करती है। जिससे सूखी खांसी से निपटने में मदद मिलती है। इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट भी होता है, जो गले और सांस लेने वाली नली में जमा टॉक्‍सिन को साफ करता है और कफ को बाहर निकालता है।  यही नहीं अदरक में ऐसे गुण भी पाए जाते हैं, अस्‍थमा और ब्रोंकाइटिस को दूर करने में लाभदायक होते हैं। यदि अदरक में नमक मिला दिया जाए तो इसकी ताकत दोगुनी बढ़ जाती है क्‍योंकि नमक गले में फसे म्‍यूकस को निकालने में तेजी से मदद भी करता है और बैक्‍टीरियल ग्रोथ को भी रोकता है।कैसे करें प्रयोग हांलाकि अदरक और नमक को एक साथ चबाने से बहुत ज्‍यादा असर होता है लेकिन बहुत से लोग ऐसा नहीं कर पाते। इसलिये अच्‍छा है कि आप इसका थेाड़ा सा काढ़ा बना कर पी जाएं। 


 अदरक और नमक: अदरक को छील कर धो लें और छोटे पीस में काटें। फिर उस पर थोड़ा सा नमक छिड़के। अब इसे चबाएं और इसका रस निगल लें। उसके बाद शहद चाटना ना भूलें जिस्‍से इसका स्‍वाद गायब हो जाए। अदरक का काढा: अदरक का और भी फायदा पाने के लिये उसका काढ़ा पीजिये। इसे बनाने के लिये एक गिलास खौलते हुए पानी में थोड़े से अदरक के टुकड़े डालें और चुटकीभर नमक मिलाएं। फिर पानी को आधा हो जाने तक खौलाएं और गैस बंद कर दें। फिर इसे छान कर रख लें और जब यह पीने लायक ठंडा हो जाए तब इसे पी लें।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


If the skin is dry, keep the hydrate

हाईड्रेटेड त्वचा की उम्र धीरे धीरे बढ़ती है और ऐसी त्वचा पर मुंहासे आने की संभावना भी कम होती है। जी हाँ, आपने सही सुना! आपकी समझ के विपरीत त्वचा को मॉस्चराइज़ करने से मुंहासे आने की संभावना कम हो जाती है। त्वचा के पी एच स्तर को सामान्य बनाये रखने के लिए उचित मात्रा में नमी की आवश्यकता होती है। यदि पी एच का स्तर सामान्य नहीं रहा तो मुंहासे आने की संभावना बहुत अधिक होती है। कई बार त्वचा के बहुत अधिक तैलीय (ऑइली) होने पर चेहरे को मॉस्चराइज़ करने के लिए तेलों का ही प्रयोग किया जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह अतिरिक्त ऑइल पहले से ही उपस्थित ऑइल के प्रभाव को प्रभावहीन बना देता है। ड्राई स्‍किन से जल्‍द छुटकारा मिलेगा जब लगाएंगी ये 7 चीजें कुछ कारणों से यह वास्तव में काम करता है। अत: यहाँ त्वचा को हमेशा हाईड्रेटेड रखने के उत्तम तरीके बताए गए हैं। इन तरीकों के बारे में जानें तथा उनका उपयोग करें।

 1. ग्लिसरीन: ग्लिसरीन अत्यंत शुष्क त्वचा के लिए बहुत अच्छा मॉस्चराइज़र है। नहाने से पहले या मुंह धोने से पहले चेहरे पर ग्लिसरीन लगायें। अधिक लाभ के लिए अपने मॉस्चराइज़र में ग्लिसरीन मिलकर लगायें। 

2. नारियल का तेल: जी हां, नारियल तेल का उपयोग चेहरे पर किया जा सकता है। रात में सोते समय नारियल के तेल से चेहरे की मालिश करें तथा सुबह उठकर नरम और मुलायम त्वचा पायें। स्किन को हाईड्रेटेड रखने के लिए इस उपाय को अवश्य अपनाएँ। रूखी त्वचा को कांतिमय बनाने के लिये 20 उपाय 

3. एलो वेरा जैल: त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए एलो वेरा सबसे अच्छा घटक है। इसका उपयोग आप दिन में कभी भी कर सकते हैं। 

4. विटामिन ई ऑइल: विटामिन सी के कैप्सूल से तेल निकालकर उसे अपने लोशन या क्रीम में मिलाकर लगायें और त्वचा को मॉस्चराइज़ करें। विश्वास करें, त्वचा को हाइड्रेटेड रखने के लिए इसे अपनाएँ और आप बाद में अवश्य हमें शुक्रिया कहेंगे। 

5. ऑलिव ऑइल (जैतून का तेल): ऑलिव ऑइल त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है क्योंकि इसमें पोषक तत्व तथा विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। रात में सोने से पहले इस तेल से त्वचा की मालिश करें और सुबह आपकी त्वचा नरम और मुलायम हो जायेगी। 

6. रोज़ वॉटर (गुलाब जल): चेहरे को दिन भर नम बनाये रखने के लिए चेहरे पर गुलाब जल छिडकें। जब भी आपको त्वचा सूखी लगे तब आप इसका छिड़काव करें। यह हाईड्रेटेड त्वचा पाने का सबसे आसान तरीका है।






















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Saturday, September 17, 2016

Add exercise to laugh, be healthy



एक अध्ययन में पता चला है कि हंसने को अपने शारीरिक व्यायाम में शामिल किए जाने से बुजुर्ग लोगों के मानसिक स्वास्थ्य, एरोबिक और व्यायाम करने के आत्मविश्वास में सुधार आता है। इस अध्ययन में बुजुर्ग लोगों ने एक मध्यम हंसी वाले व्यायाम सक्रिय हंसी में भाग लिया। इस शारीरिक व्यायाम में मजबूती, संतुलन और लचीलेपन वाले कसरतों में बनावटी हंसी को शामिल किया गया।

निष्कर्षों से पता चलता है कि बनावटी हंसी से बुजुर्गों के कार्यात्मक और संज्ञानात्मक हानि से बचाव का एक आदर्श तरीका हो सकता है। प्रतिभागियों के मानसिक स्वास्थ्य, एरोबिक और व्यायाम के दूसरे परिणामों में भी महत्वपूर्ण सुधार हुए। इसके अलावा 96.2 प्रतिशत प्रतिभागियों ने पाया कि हंसी उनके लिए पारंपरिक व्यायाम कार्यक्रम में एक आनंदायक जोडी गई वस्तु हो सकती है। प्रतिभागियों में से 88.9 प्रतिशत ने कहा कि हंसी व्यायाम को ज्यादा सुलभ बना देती है। करीब 88.9 प्रतिशत ने कहा कि हंसी के इस कार्यक्रम ने उन्हें दूसरी गतिविधियों में शामिल होने को प्रेरित किया है।

जार्जिया स्टेट विश्वविद्यालय के स्त्रातक छात्र, प्रमुख लेखक क्लीस्टी ग्रेनी ने कहा,हंसी और व्यायाम के संयोजन के प्रभाव से बुजुर्ग लोगों पर ने व्यायाम करना शुरू किया और कार्यक्रम में बने रहे। शारीरिक गतिविधि से स्वास्थ्य लाभ और निष्क्रियता से होने वाले जोखिम के बावजूद, बहुत सारे वयस्क अपने सेहत के लिए जरूरी शारीरिक गतिविधि नहीं करते। शोधकर्ताओं का कहना है कि बुजुर्ग लोगों के लिए रोज की शारीरिक गतिविधि से जुडे रहने की प्रेरणा को बनाए रखना एक चुनौती है।


अमेरिकी विभाग के स्वास्थ्य और मानव सेवाएं 2008 के शारीरिक गतिविधि दिशा निर्देशों के अनुसार, वयस्कों को हफ्ते में कम से कम पांच दिन करीब 30 मिनट की शारीरिक गतिविधि मनचाहे स्वास्थ्य परिणाम के लिए करनी चाहिए। इन स्वास्थ्य फायदों में मृत्युदर में कमी और कई पुरानी बीमारियों जैसे दिल से जुडी बीमारियां, उच्च रक्तचाप, स्ट्रोक, टाइप-2 मधुमेह, उपापचय सिंड्रोम, ऑस्टियोपोरोसिस, कोलन कैंसर, अवसाद, चिंता आदि का खतरा कम होता है।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Learn More: Health-related these things



बहुत अधिक पसीना आना, होंठ, कटे-फटे नजर आना, लगातार सिर में रहना जैसे लक्षण हमें आने वाली बामारियों से आगाह करते हैं। सेहत से जुडे इन संकतों की पहचान कर बीमारियों से निपटा जा सकता है।


सिरदर्द लगातार होना
कभी-कभार सिरदर्द के कई कारण हो सकते हैं, जैसे-नींद पूरी होना, भूख लगना, तनाव आदि। अक्सर सिरदर्द हो, तोयह पेनकिलर बंद करने ेस भी हो सकता है। या फिर ट्यूमर, स्ट्रोक्स, मेनीन जाइटिस या हैमरेज की गंभीर चेतावनी भी हो सकती है।
इलाज
सिरदर्द के किसी अन्य बीमारी में परिवर्तित होनकी संभावना बहुत कम होती है। अत: ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। अक्सर होने वाले सिरदर्द के लिए डॉक्टर को सिरदर्द की अवधि, तीव्रता, जगह और अन्य डिटेल बताकर उनकी सलाह से इलाज करवाएं।

अत्यधिक पसीना आना
पसीना आना एक प्राकृतिक क्रिया है, जो शरीर का तापमान नियमित रखने में मदद करती है, पसीना गर्मी और आद्र्रता की वजह से आता है। जब रात के वक्त ज्यादा पसीना आने लगे, तो यह शरीर में होने वाले सीरियस इंफेक्शन की ओर इशारा करता है। इसके अलावा यह कई भावनात्मक तनाव, जैसे, गुस्सा, घबराहट, शर्मिंदगी आदि के कारण भी आ सकता है।
इलाज
पसीना ज्यादा आता है या नहीं, इसकी पहचान करना बहुत मुश्किल है। अमूमन पसीना व्यक्ति की प्रकृति के अनुसार कम या ज्यादा आता है। इसका आना पानी पीने की मात्रा और शरीर की गर्मी पर भी निर्भर करता है।
यदि ऐसा महसूस हो कि पसीना बहुत ज्यादा आ रहा है। तो डॉक्टर से संपर्क करें।

पीठ दर्द
पीठ दर्द के अनेक कारण हो सकते हैं, जैसे- लंबे समय तक बैठकर काम करना, जिम में अत्यधिक वर्कआउट करना, ज्यादा वजन उठाना आदि।
कई बार स्पाइनल डिस्क के बीच में गैप हो जाता है। इससे भी दर्द होता है। स्लिप डिस्क औरसाइटिका से भी पीठ दर्द की शिकायत होती है।
इलाज
यदि अक्सर पीठ दर्द होता है तो डॉक्टर की सलाह से दर्द का कारण जानकर उपचार करवाएं।


सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


A drug of many diseases, cumin and pepper, milk






अगर आप उन लोंगो में से एक हैं, जो अपने स्‍वास्‍थ्‍य के प्रति काफी सचेत रहते हैं और हर वक्‍त बीमारियों से लड़ने के लिये तैयार रहते हैं, तो जीरे और काली मिर्च वाला दूध पियें। इसको रोजाना सोने से पहले पियें और गजब के फायदे देंखे।

इस स्‍वास्‍थ्‍य से भरे पेय में ढेर सारे विटामिन और मिनरल्‍स होते हैं जो बॉडी की कोशिकाओं को पोषण देते हैं और किसी भी बीमारी से लड़ने के लिये उसे तैयार करते हैं।

दूध, जीरे और काली मिर्च का यह पेय सर्दी, जुखाम, वायरल बुखार, अपच आदि में लाभदायक होता है। रोजाना पीने से आपका इम्‍यून सिस्‍टम मजबूत होता है।






सामग्री-
दूध - 1 चम्‍मच
जीरा- 1 चम्‍मच
काली मिर्च पावडर - ½ चम्‍मच




बनाने की विधि-

एक पैन में दूध गरम करें।
दूसरी ओर मिक्‍सी में जीरा और काली मिर्च पावडर पीस लें।
अब दूध को गिलास में डाल कर उसमें पिसा जीरा और काली मिर्च पावडर मिक्‍स करें।
आपका ड्रिंक रेडी है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Thursday, September 15, 2016

20 home remedies for acne and blemishes



युवावस्था में हार्मोन्स में परिवर्तन और असंतुलन के कारण मुंहासें आना कोई असामान्य बात नही है। युवावस्था में हम अपनी त्वचा की देखभाल अच्छी तरह से नही कर पाते, विशेषकर तब जब हमें मुहांसे आते हैं। इसके कारण मुहांसों के दाग पड़ जाते हैं। खूबसूरत त्‍वचा हर कोई चाहता है मगर उसे मेंटेन करना थोड़ा मुश्‍किल होता है। कहीं बाहर आने से पहले आपको अपने चेहरे को धोना चाहिये लेकिन बहुत सी लड़कियां ऐसा नहीं करती। इसके अलावा अगर आप प्रतिदिन मेकअप लगाती हैं तो रात को सोने से पहले मेकअप जरुर उतार लें, नहीं तो मुंहासे और भी ज्‍यादा फैल जाएंगे। वैसे तो मुंहासों के दाग हटाने के लिये बहुत से उपाय हैं, लेकिन कुछ घरेलू उपचार ऐसे हैं, जिन्‍हें आप बिना किसी साइड इफेक्‍ट के प्रयोग कर सकती हैं। नीचे दिये गए 20 घरेलू उपचार आपके चेहरे से मुंहासों के दाग-धब्‍बों को दूर करने में बहुत सहायक होगें, तो इन्‍हें आजमाइये और पाइये दमकता हुआ सुंदर चेहरा। 

#1: चंदन का मास्क सामग्री: चंदन का पाउडर , गुलाब जल विधि: 1. इन दोनों सामग्रियों को अच्छी तरह मिलकर पेस्ट बनाएं और इसे अपने चेहरे पर लगाएं। 2. इसे एक घंटे के लिए लगा रहने दें। 3. पानी से अच्छी तरह धो डालें। 

#2: मेथी पेस्ट सामग्री: मेथी की पत्तियां विधि: 1. मेथी की पत्तियों का पेस्ट बनाएं और उसे चेहरे पर मास्क की तरह लगाएं। 2. 30 मिनिट बाद इसे धो डालें। 

# 3: ठंडक पहुँचाने वाला पैक सामग्री मेथी दाना विधि: 1. मेथी दानों को पानी में उबालें और ठंडा होने पर इस घोल को मुहांसों के दागों पर लगाएं। 2. चेहरा धोने के लिए इसका उपयोग करें। इसे पोछें नही, पानी को अपने आप सूखने दें। 

#4: ऑलिव ऑइल (जैतून का तेल) सामग्री: जैतून का तेल विधि: 1. प्रभावित भागों पर प्रतिदिन तेल से मालिश करें। 2. इसमें मॉस्चराइजिंग का गुण होता है जो त्वचा को नरम बनाता है और मुंहासों के निशान को कम करता है। फाउंडेशन लगाते वक्‍त अक्‍सर लड़कियां करती हैं ये 4 गल्‍तियां बच्‍चे की हड्डियों को मजबूत बनाने वाले नेचुरल फूड बकरीद स्‍पेशल: पनीर एग रोल्‍स Featured Posts 

# 5: एलोविरा जूस (रस) सामग्री एलोविरा जूस विधि: 1. एलोविरा पौधे का रस मुंहासों के दाग ठीक करने के लिए बहुत उपयोगी है तथा साथ ही साथ जब मुंहासें आते हैं तब भी यह बहुत उपयोगी है। 2. मुंहासों के दागों को मिटाने के लिए चेहरे पर प्रतिदिन इसका जूस लगाएं। 

# 6: शहद से उपचार सामग्री: शहद विधि: 1. मुंहासों के निशानों पर शहद लगाएं। 2. इसे कुछ देर ऐसे ही छोड़ दें और बाद में धो डालें। शहद के जीवाणुरोधी गुणों के कारण मुहांसों के निशान कम हो जाते हैं। 

# 7: नीबू से उपचार सामग्री: नीबू का रस विधि: 1. मुंहासों के निशानों पर नीबू लगाएं और कुछ देर बाद धो लें। 

#8: गुलाबजल टोनर सामग्री गुलाबजल विधि: 1. यदि आपके पास गुलाब जल नही है तो आप गुलाब की कुछ पत्तियों को पानी में उबालकर गुलाबजल बना सकते हैं। 2. बन जाने के बाद इसे अपने चेहरे पर लगाएं।

#9: आलू से सफ़ाई सामग्री: आलू विधि: 1. कुछ आलू को कद्दूकस कर लें और इससे एक पेस्ट बनाएं। 2. पिसे हुए आलू को प्रभावित जगह पर लगाएं और इसे सूखने के लिए छोड़ दें। कुछ देर बाद पानी से धो डालें। 

#10: स्वयं को हाइड्रेट रखें दिन के दौरान जितना हो सके थोडा थोडा करके भरपूर पानी पीयें। पानी की उचित मात्रा आपकी त्वचा को स्वस्थ बनाती है और दाग धब्बों को कम करती है।   

#11: सब्जियों का जूस पीयें सब्जियां पोषक तत्वों और प्रोटीन्स का बहुत अच्छा स्त्रोत हैं। अत: सप्ताह में कम से कम 3 - 4 बार सब्जियों का जूस पीयें। इससे आपकी त्वचा की रंगत भी निखरेगी।

#12: ग्रीन टी पीयें ग्रीन टी पीने से शरीर के विषारी पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। मुंहासों के धब्बों और निरुत्साही दिखने वाली त्वचा से छुटकारा पाने के लिए प्रतिदिन 1-2 कप ग्रीन टी पीयें। 

#13: टमाटर से उपचार सामग्री: टमाटर विधि: 1. एक टमाटर काटें तथा इसे अपने चेहरे पर रगड़ें। 2. इसे कुछ देर लगा रहने दें तथा बाद में धो डालें। 

#14: बर्फ बर्फ के कुछ टुकडें लें और उन्हें दाग धब्बों पर रगड़ें, इसे प्रतिदिन करें। 

#15: प्रतिदिन व्यायाम करें प्रतिदिन कम से कम 30 मिनिट व्यायाम करें। प्रतिदिन व्यायाम करने से न सिर्फ वज़न कम होता है बल्कि मुंहासों पर भी नियंत्रण रहता है। 

#16: टी ट्री ऑइल टी ट्री ऑइल की कुछ मात्रा लें और प्रभावित जगह पर लगाएं। इसे रात भर ऐसे ही छोड़ दें। इससे सूजन और लालिमा कम होगी।   

#17: अपने चेहरे को साफ़ रखें बाहर से आने के बाद अपना चेहरा धोएं। इससे बैक्टीरिया और धूल भी दूर होती है।

 #18: मेकअप निकालें यदि आप मेकअप करती हैं तो जैसे ही आप घर पहुंचें जितना जल्दी हो सके मेकअप निकाल दें। इसके अलावा बहुत लम्बे समय तक एक ही उत्पाद का उपयोग न करें। तेल पर आधारित उत्पाद लेने से बचें। 

#19: चेहरे को हाथ न लगाएं यदि आप मुंहासे के बारे में लगातार चिंता करती रहेंगी और इन्हें हाथ लगाती रहेंगी तो यह और अधिक बढ़ेंगे। इसके अलावा दाग धब्बे भी आ जायेंगे और सूजन भी बढ़ेगी। अत: स्थिति को और खराब होने से बचाने के लिए अपने चेहरे को बार बार हाथ न लगाएं। 

#20: बेकिंग सोडा सामग्री: बेकिंग सोडा पानी विधि: 1. बेकिंग सोडा को पानी के साथ मिलकर एक गाढ़ा पेस्ट बनाएं और इसे चेहरे पर लगाएं। 2. 20 मिनिट बाद इसे निकाल दें और अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो डालें।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


8 makeup tips for acne-infested face



त्‍वचा पर दाने होना एक आम समस्‍या है लेकिन क्‍या कभी आपने सोचा है कि ये होते क्‍यूं हैं। दरअसल, त्‍वचा में कई सूक्ष्‍म छिद्र होते हैं जिनमें तेल ग्रंथियां होती हैं जिनसे तेल निकलने पर ये छिद्र बदं हो जाते हैं और वहीं पर दाना बन जाता है। कोई भी महिला या पुरूष नहीं चाहता है कि उसके चेहरे या शरीर में अन्‍य कहीं कोई दाना हो। यह आपको भद्दा बना देता है और त्‍वचा की सारी चमक उड़ जाती है, साथ ही आपका कॉन्‍फीडेंस भी हवा हो जाता है। कई बार, दाने होने ही वजह गलत तरीके से मेकअप करना भी होता है। बेकार उत्‍पादों को त्‍वचा पर लगाना या सही उत्‍पादों को गलत तरीके से लगाना भी दाने पड़ने का बड़ा कारण होते हैं। मुंहासे वाली त्‍वचा पर मेकअप करना सही या गलत मेकअप करने का रूल नम्‍बर 1 यह होता है कि आप अपनेही प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करें, किसी और व्‍यक्ति के उत्‍पादों का इस्‍तेमाल आपको मुश्किल में डाल सकता है।  साथ ही अपनी स्‍कीन के टोन के हिसाब से प्रोडक्‍ट का चयन करें। गोरे होने पर फाउंडेशन या फेस पाउडर को उसी हिसाब से सेलेक्‍ट करने में ही समझदारी होती है। बोल्‍डस्‍काई आज आपको बताएगा कि अगर आप दानों रहित त्‍वचा चाहती हैं तो किन बातों का ध्‍यान मेकअप करते समय रखना चाहिए:  

1. साफ ब्रश का इस्‍तेमाल करें - मेकअप करने से पहले हाथों को धुल लें। चेहरे को भी साफ कर लें। साफ या नए ब्रश का इस्‍तेमाल ही करें। गंदा ब्रश, आपके चेहरे पर दाने पैदा कर सकता है। 

2. सभी ब्रश को हमेशा साफ रखें - आपके घर में ड्रेसिंग पर पडे ब्रश हो, तो उन्‍हें समय-समय पर साफ करते रहें। गंदे ब्रश से चेहरे पर भी गंदगी ही होगी। ब्रश को नियमित रूप से साफ रखना चाहिए या किसी बॉक्‍स में करके रखना चाहिए। 

3. प्रोडक्‍ट सामग्रियों की जांच करें - जब भी किसी उत्‍पाद को खरीदें, उस उत्‍पाद में क्‍या-क्‍या पड़ा हुआ है, इसकी जांच कर लें। जिन उत्‍पादों में अमोनिया या सल्‍फर होता है या वो ऑयल फ्री होते हैं उन्‍हें ही लें। कोकोनट बटर, ल्‍यूरिक एसिड, लानोलिन ऑयल, आइसोप्रोपल आइसोस्‍टेरेट आदि युक्‍त सामग्री को न खरीदें। 

4. लाइटर स्‍ट्रोक को लगाएं - अगर आप दानोंरहित बेस्‍ट मेकअप करना चाहती हैं तो अपनी त्‍वचा पर लाइटर स्‍ट्रोक मेकअप करें। इससे दाने नहीं होंगे और त्‍वचा पर बुरा प्रभाव भी नहीं पडेगा। 

5. समय दें - हड़बड़ाहट में मेकअप न करें। आराम से समय दें। फाउंडेशन लगाने के बाद सूखने दें, उसके बाद ही आगे मेकअप करें। इससे चेहरे पर डलनेस नहीं आएगी और सारा मेकअप पुतेगा नहीं। 

6. मैट प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल करें - मेकअप के लिए मैट प्रोडक्‍ट बेस्‍ट होते हैं। कंसीलर आदि भी ऐसे ही इस्‍तेमाल करें। अगर आपके चेहरे में किसी हिस्‍से में कुछ समस्‍या है तोा हार्ड प्रोडक्‍ट या मेकअप उसे और उभर सकते हैं। जैसे- डार्क सर्कल। 


7. प्राइमर इस्‍तेमाल करें - अगर आपको दानों की समस्‍या रहती है तो ब्रांडेड प्राइमर का इस्‍ेमाल करके आपकी प्रॉब्‍लम सॉल्‍व हो सकती है। इससे चेहरे के दाने और रेडनेस की समस्‍या भी आसानी से छुपाई जा सकती है। ऑयल फ्री प्राइमर का इस्‍तेमाल ही करना चाहिए, इससे मेकअप लम्‍बे समय तक टिका रहता है। 

8. सोने से पहले मेकअप उतार दें - सोने से पहले मेकअप को अच्‍छी तरह निकाल देना चाहिए। इससे दाने नहीं होते हैं। पर्याप्‍त मात्रा में पानी पीने से भी लाभ मिलता है। भरपूर नींद भी सहायक होती है।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


These 6 budget Apanaiye Bchaiye money and Beauty Tips



महीने के आखिरी दिन आते आते पॉकेट में पैसे थोड़े कम हो जाते हैं। ऐसे में आप खुद की खूबसूरती को निखारने के लिये क्‍या कर सकती हैं?


आज हम आपको बताएंगे कि आप बिना पैसे खर्च किये प्राकृतिक चीजों से अपनी देखभाल कर सकती हैं। आइये जानते हैं कैसे...

गरम-ठंडे पानी से नहाएं
अपने दिन की शुरुआत गरम और ठंडे पानी से नहा कर कीजिये। इस विधि से आपका ब्‍लड सर्कुलेशन बढ़ेगा, आपके अंदर एनर्जी भरेगी, निगेटिविटी खतम होगी और शरीर शुद्ध होगा। सबसे पहले गरम पानी से नहाएं और फिर दो मिनट के बाद ठंडे पानी को शरीर पर डालें। ऐसा कई बार करें और इसी तरह से नहाएं।







स्‍क्रब करने के लिये बेकिंग सोडा
बेकिंग सोडा से चेहरा एकदम साफ और मुलायम हो जाता है। अगर इसमें थोड़ा नींबू का रस और पानी भी मिला दिया जाए तो यह और भी असरदार बन जाता है। इस पेस्‍ट को चेहरे पर 2 मिनट के लिये स्‍क्रब करें और फिर चेहरे को धो लें।

मॉइस्‍चराजर की जगह तेल का प्रयोग
स्‍किन को स्‍क्रब करने के बाद उसको मॉइस्‍चराइज कीजिये। इसके लिये आपको तेल लगाना होगा। अगर आपकी स्‍किन ड्राई है तो आपके लिये जोजोबा ऑइल और जितनी स्‍किन तेलिये और पिंपल से भरी है उनके लिये बादाम का तेल अच्‍छा रहेगा। ये तेल त्‍वचा में अच्‍छी प्रकार से समा जाते हैं और चिपचिप भी नहीं करते।











हेयर कंडीशनिंग के लिये शहद
अगर आपके बाल रूखे और डैमेज हैं, तो 2 चम्‍मच शहद में 1 चम्‍मच जैतून या नारियल तेल और 1 चम्‍मच छाछ मिक्‍स कर के गैस पर रख कर थोड़ा गरम कर लीजिये। फिर बालों को धो कर उस पर इसे लगाइये और शावर कैप पहन लीजिये। 10 मिनट के बाद बालों को दुबारा धो लीजिये। ऐसा हर हफ्ते करें।



मैनीक्‍योर और पैडीक्‍योर के लिये नींबू
पैडीक्‍योर करने के लिये एक टब में कुछ बूंद बेबी शैंपू, 1 चम्‍मच रॉक सॉल्‍ट और एक नींबू निचोड़ें। नींबू में विटामिन सी होता है जो काली पड़ गई त्‍वचा को निखारता है। टब में गरम पानी डालें और उसमें अपने पैरों को 15 मिनट के लिये डुबोएं। फिर प्‍यूमिक स्‍टोन से पैरों को रगड़ें और फिर उसे पोछ लें। उसके बाद पैरों पर मॉइस्‍चराइजर लगा लें।










मैनीक्‍योर करने के लिये अपने हाथों को एक बडे़ कटोरे में गरम पानी और नींबू का रस मिला कर 15 मिनट तक डुबोए रखें। फिर उन्‍हें बाहर निकाल कर नाखूनों को काटें और पोछ कर उस पर मॉइस्‍चराइजर लगाएं।







काले घरों के लिये खीरा या ठंडा टी बैग रखें
अगर आंखों के नीचे काले घेरे हो गए हैं, तो आप आलू की स्‍लाइस या खीरे की स्‍लाइस या फिर ठंडे टी बैग्‍स भी आंखों पर रख सकती हैं। इससे क्रीम जैसा ही फायदा होता है।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Gloing Skin Face Mask for a way to make coffee


जब बात खूबसूरती की आती है, तब लड़कियां फल, सब्‍जियां, दही, मलाई और ना जाने खाने की कौन कौन सी चीजों का इस्‍तमाल नहीं करती। इसी में एक है कॉफी, जिसका आप फेस

मास्‍क तैयार कर के कुछ ही हफ्तों में चमकता हुआ चेहरा पा सकती हैं। कॉफी स्‍वाद में तो लाजवाब होती ही है साथ ही में इसे लगाने से हजारों फायदे भी मिलते हैं।





इससे पहले हमने आपको कॉफी का स्‍क्रब बनाने की विधि बताई थी। तो देर ना करें, अगर आपके घर पर कॉफी है तो उसे दरदरा पीस लें और नीचे बताई हुई विधि से फेस पैक तैयार करें।






1 चम्‍मच कॉफी को 2 चम्‍मच पिसे ओट्स के साथ मिक्‍स करें। फिर इसमें 1 छोटा चम्‍मच शहद मिला कर दरदरा पेस्‍ट तैयार करें। फिर इसमें 1-2 चम्‍मच दालचीनी पावडर मिक्‍स कर के इसे चेहरे पर 20 मिनट तक लगाए रखें। उसके बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।






इस रूटीन को हफ्ते में 2 बार करें और फिर देंखे कि आपका चेहरा कितनी अच्‍छी तरह से चमक उठता है। यह कॉफी मिश्रण चेहरे से डेड स्‍किन हटा कर उसे मुलायम बनाता है। साथ ही कॉफी में मौजूद कैफीन से चेहरे के पोर्स बंद होते हैं, तथा चेहरा टाइट बनता है, जिससे झुर्रियों का नामो निशान खतम होता है।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Wednesday, September 14, 2016

No hair rub-rub wipes, these are the right way to dry hair


नहाने के बाद बालों को सुखाना बड़ा ही आसान काम लगता है। मगर यह उतना आसान नहीं है जितना आपको लगता है। क्‍या आपको पता है कि नहाने के बाद हमारे बाल और अधिक कमजोर हो जाते हैं और अगर उन्‍हें ठीक से ना सुखाया गया तो 30% से 40% तक बाल झड़ जाते हैं। अगर आप बालों को रगड़ रगड़ कर पोछती हैं तो, बाल बीच से टूट कर दो मुंहे भी हो सकते हैं। इसलिये आज हम आपको बालों को कैसे सुखाया जाए, यह बात बताने वाले हैं। 

तो ज़रा ध्‍यान दें... बालों को सुखाने का बेहतरीन तरीका सीखें हाथों से बालों को निचोड़ें: अपने हाथों से गीले बालों को निचोड़ें और फिर तौलिये का प्रयोग करें। गीले बालों को मोडे़ नहीं तो वह टूट सकते हैं। मोटे तौलिये का प्रयोग ना करें: मोटा तौलिया बालों के लिये बहुत खराब होता है। इससे बाल फिजी हो जाते हैं, तथा कमजोर हो कर टूटने लगते हैं। बालों को पोछने के लिये महीन तौलिये का या फिर पुरानी टी शर्ट का प्रयोग करें क्‍योंकि वह बहुत मुलायम होते हैं। तौलिये से बालों को पोछें: बालों में पानी हो तो उसे कभी भी तौलिये से तेजी से ना रगड़ें। इसकी बजाए बालों के नीचे छोर को पकड़ कर उसमें से पानी निचोड़ें। ऐसा तब तक करें जब तक कि बालों का सारा पानी न निचुड़ जाए। 

बालों को झटकें: गीले बालों को झटक कर उसमें से पानी निकालें। फिर अपनी उंगलियों से बालों की जड़ो की थोड़ी देर मसाज करें। इससे बालों की जड़ों में खून का फ्लो तेज होगा और बालों की ग्रोथ अच्‍छी तरह से होगी। बकरीद स्‍पेशल: पनीर एग रोल्‍स जानें, अक्‍सर ठुड्डी और टी ज़ोन पर ही मुंहासे क्‍यों आते हैं? दीपिका ने चुराया सब का दिल, जब दिंखी वह सब्‍यासाची की ब्‍लैक ड्रेस में Featured Posts हेयर सीरम लगाएं: हेयर सीरम लगाने से बाल ऊपर से सुरक्षित रहते हैं। हथों में हल्‍का सा हेयर सीरम लें और उसे बालों की जड़ों तक लगाएं। ब्‍लो ड्राय: अगर हो सके तो ब्‍लो ड्राय करने से बचें। अगर इसका उपयोग भी कर रही हैं, तो कोशिश करें कि बाल 80 प्रतिशत तक सूख चुके हों। ड्रायर को कूलेस्‍ट मोड पर सेट कर के ही प्रयोग करें।





सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Learn Chikungunya home remedies


चिकनगुनिया एक वायरल संक्रमण है जो कि एडीज एइजिपटी मच्‍छर की वजह से फैलता है। इसके काटने से बुखार, जोड़ो में दर्द और शरीर पर चकत्‍ते पड़ जाते हैं। इसका सबसे खराब लक्षण है जोड़ों में दर्द होना जो कि लंबे समय तक चलता है।  चिकनगुनिया में जोड़ों का दर्द एक हफ्ते या दो हफ्ते तक ही रहता है लेकिन कुछ केसो में इसे महीने लग जाते हैं ठीक होने में। इसके लिये कोई खास ट्रीटमेंट नहीं है लेकिन एक्‍सपर्ट की माने तो अच्‍छी डाइट लेने और आराम करने से रोगी जल्‍द ठीक हो जाता है। 

जानें, चिकनगुनिया के लक्षणों को और बचाएं अपनी जान आइये जानते हैं चिकनगुनिया के कुछ घरेलू उपचार जिससे रोगी को काफी आराम मिल सकता है, खासतौर पर जोड़ों के दर्द से: जानिये चिकनगुनिया का घरेलू उपचार अपनी डाइट में ढेर सारे फल और सब्‍जियों को शामिल करें।  अदरक की चाय और ग्रीन टी पियें, जिससे सूजन में आराम मिले।  पानी की कमी को दूर करने के लिये ढेर सारा पानी और तरल पदार्थ का सेवन करें।  कोशिश करें कि आप भरपूर नींद लें और अपनी बॉडी को रिलैक्‍स करें, इससे आपके जोड़ों का दर्द जल्‍दी ही ठीक होगा।  घर पर रह कर हल्‍दी फुल्‍की एक्‍सरसाइज करें, जिसमें स्‍ट्रेचिंग शामिल हो। 

इससे जोड़ों का दर्द दूर होगा।  साथ ही जोड़ों पर हल्‍के हाथों से नारियल के तेल से मसाज भी करें। इससे दर्द और सूजन दोंनो ही दूर होगी।  बरफ को तौलिये में लपेट कर जोड़ों की कुछ देर तक सिकाई करें।  रैश पड़ने पर जैतून तेल और विटामिन ई टैबलेट मिक्‍स करके प्रभावित स्‍थान पर लगाएं।  रोगी को दिन में तीन-चार बार पपीते की पत्‍तियों का रस पिलाएं।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, September 13, 2016

Eliminate fatigue and weakness is No. 1 in the drink

हमारा 60-70 प्रतिशत शरीर पानी से बना हुआ है। जब हमारे शरीर में पानी की मात्रा कम हो जाती है तो इसे कई बीमारियों से जुजना पडता है। शरीर में पानी की कमी होने पर कमजोरी, थकन व चक्कर आने जैसे लक्षण नज़र आ सकते हैं। ऐसी समस्या से निपटने के लिए व्यक्ति को सबसे पहले ओरल हाइड्रेशन साल्ट (ओआरएस) के घोल का सेवन करना चाहिए। इस ओआरएस के घोल को घर पर बड़ी आसानी से तैयार किया जा सकता है तथा या थकान व कमजोरी से तुरंत छुटकारा दिलाता है। 

हालांकि ओआरएस किसी भी मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाता है, लेकिन आपातकालीन स्थिति में ना मिलने पर घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि आप इसे घर पर ही तैयार कर सकते हैं। निर्जलीकरण के कारण केवल थकन व कमजोरी ही महसूस नहीं होती बल्कि होंठो का सूखना, बदबूदार सांस, सिर दर्द व दिल की धड़कन का तेज़ होने जैसे लक्षण भी दिखाई दे सकते हैं। यदि सही समय पर इलाज ना किया जाए तो यह बीमारी एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या के रूप में प्रकट हो सकती है। 

एक नजर डालें: ओआरएस को तैयार करने की विधि: इसे तैयार करने के लिए आपको एक जग पानी, 5 चम्मच चीनी और आधा चम्मच नमक चाहिए। एक जग में साफ पानी भरें। अब इसमें 5 चम्मच चीनी और आधा चम्मच नमक डालकर मिलाएं। चीनी व नमक को पानी में अच्छे से घोलें। इसे तैयार करते वक्त चीनी व नमक को दी गई मात्रा में ही डालें। दी गई सामग्री के अलावा घोल में और कुछ ना डालें। 

किसी भी तरह के रंग या कृत्रिम स्वीटनर का इस्तेमाल ना करें। सारी सामग्री घुल जाने पर इस घोल को गिलास में डाल कर पिएं। आप इसे पूरे दिन थोडा-थोडा करके पी सकते हैं। आप इसे फ्रिज में भी स्टोर कर सकते हैं। तैयार किए गए पूरे घोल का केवल 24 घंटों के भीतर पी कर खत्म करें। अतः अगले दिन फिर से ताज़ा घोल तैयार करें। यह सबसे सरल व प्राकृतिक हाइड्रेटिंग एजेंट है जिसे आप तुरन्त घर पर तैयार कर सकते हैं, यह घोल 5 मिनट में थकन व कमजोरी से निजात दिलाता है।
























सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, September 12, 2016

Get rid of facial Janiyon


कुदरत ने हमें तमाम ऐसी चीजें उपहार में दी हैं, जो हमारी हेल्थ के साथ-साथ खूबसूरती की भी देखभाल बखूबी करती हैं। बस आपको जरूरत है ठीक प्रकार से जानने की। लेकिन अगर स्किन की देखभाल में प्रति लापरवाही बरतने से स्किन पर उसका असर जल्द ही नजर आने लगता है। जैसे-मुंहासे, ब्लैक हेड्स, झांइयां और झुर्रियां आदि जल्दी ही नजर आने लगती हैं। साथ ही त्वचा बेजान और कांतिहीन हो जाती है। अगर स्किन की देखभाल नियमित और प्राकृतिक रूप से की जाए तो वह लम्बे टाइम तक जवां नजर आएगी। तो आईये जानने-




झांइयों के लिए पैक
एक चम्मच ताजा क्रीम में पांच पिसे हुए बादाम और नींबू के रस की बूंदें मिलाकर पेस्ट बना लें। अब अच्छी तरह से इसे फेस पर लगाएं। 10-15 बाद साफ पानी से धो लें।




सफेद तिल और हल्दी की बारबर-बारबर मात्रा लें और थोडे से पानी के साथ अच्छी तरह पीस लें। फिर इस पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाएं। सूखने पर उबटन की तरह मलकर छुडाएं।




झांइयोंं पर पपीते का गूदा मलने से काफी लाभ होता है।

















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Know: Sehtbre benefits of light-hearted flower Makhana






देखने में सुंदर और वजन में हल्का-फुल्हा फूल मखाना। लेकिन आप में से बहुत कम लोग यह जानते हैं कि मखाना पोषक तत्वों की भरपूर मात्रा होती है जो आपके कई रोगों को भी ठीक कर सकता है। फूल मखाना किसी औषधि से कम नहीं होता है। तो आइये जानते हैं फूल मखाने के गुणों बारे में...




लंबे वक्त जवां दिखना है, तो एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर मखाने खाएं। दरअसल ये एंटी एजिंग डाइट है। कैल्शियम से भरपूर मखाना जोडों के दर्द में फायदेमंद होता है। गठिया में भी इसे खाने आराम मिलता है।




मखानों को देसी घी में भूनकर खाने से आंखों की रोशनी तेज होती है साथ ही दस्त जैसे रोग से छुटकारा मिलता है।




फूल मखाने में कार्बोहाईडे्रट, प्रोटीन, वसा, खनिज लवण, फॉस्फोरस एवं लौह पदार्थ भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं।




मखानों को देसी घी में भूनकर खाने से आंखों की रोशनी तेज होती है साथ ही दस्त जैसे रोग से छुटकारा मिलता है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।