Wednesday, August 31, 2016

सरसों के तेल में हल्‍दी मिला कर खाएं, होंगे फायदे






अपनी निजी जिंदगी में हम सभी किसी ना किसी रोग से पीडित हैं। चाहे वह कब्‍ज, भूख ना लगना, अस्‍थमा या हृदय से संबन्‍धित बीमारी ही क्‍यूं ना हो।

इन बीमारियों को ठीक करने के लिये हम अच्‍छे खासे पैसे भी खर्च करते हैं मगर उससे भी कोई फरक नहीं पड़ता। हम आपको बताना चाहेंगे कि हमारे किचन में ही कुछ ऐसी सामग्रियां रखी हैं, जो दवाइयों को भी फेल कर सकती हैं।

अपनी निजी जिंदगी में हम सभी किसी ना किसी रोग से पीडित हैं। चाहे वह कब्‍ज, भूख ना लगना, अस्‍थमा या हृदय से संबन्‍धित बीमारी ही क्‍यूं ना हो। इन बीमारियों को ठीक करने के लिये हम अच्‍छे खासे पैसे भी खर्च करते हैं मगर उससे भी कोई फरक नहीं पड़ता। हम आपको बताना चाहेंगे कि हमारे किचन में ही कुछ ऐसी सामग्रियां रखी हैं, जो दवाइयों को भी फेल कर सकती हैं। कहने का मतलब है कि सरसों का तेल और हल्‍दी तो हर किचन में मौजूद होता है। बस 2 टीस्‍पून सरसों के तेल में 1 टीस्‍पून हल्‍दी मिला कर 2 मिनट तक गरम कीजिये और फिर इसे एक चम्‍मच में डाल कर मुंह में डाल लीजिये।ऐसा हफ्ते में तीन बार खाना खाने के बाद करें। यह मिश्रण आपको किन -किन बीमारियों से राहत दिलाता है, आइये जानते हैं इसके बारे में -




भूख को उत्तेजित करे: इसका सेवन करने से पेट में खाना पचाने वाले जूस का प्रोडक्‍शन तेज हो जाता है, जिससे आपको अच्‍छी भूख लगने लगती है।

कब्‍ज से राहत दिलाए: अगर कब्‍ज की काशियत है तो हल्‍दीऔर सरसों के तेल का नियमित सेवन करना चाहिये।
दिल के लिये लाभकारी: ये दो सामग्रियां शरीर से खराब कोलेस्‍ट्रॉल को निकालती हैं, जिससे हृदय तक खून का फ्लो अच्‍छा हो जाता है।
कैंसर से बचाए: इस घरेलू उपचार से शरीर में बनने वाली कैंसर की सेल्‍स का विकास होता है क्‍योंकि इनमें phytonutrients और एंटीऑक्‍सीडेंट काफी भारी मात्रा में पाया जाता है।

अस्‍थमा से राहत दिलाए: इसके सेवन से फेफड़ों की जकड़न दूर होती है और अस्‍थमा से राहत मिलती है।
शारीरिक दर्द से छुटकारा दिलाए: ये दोंनो मिश्रण जब एक साथ मिलते हैं तो इनमें सूजन को खत्‍म करने वाला गुण पैदा होता है। यह शरीर के किसी भी हिस्‍से से दर्द और सूजन को कम कर सकते हैं।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


No comments:

Post a Comment