Saturday, July 16, 2016

सिर्फ मसाला नहीं औषधि भी है हल्दी



भारतीय खानपान में हल्दी का प्रयोग सदियों से होता आ रहा है। यह सिर्फ मसाला नहीं बल्कि गुणकारी औषधि भी है। यह खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ शरीर, पेट और त्वचा जैसी कई बीमारियों के इलाज में भी लाभप्रद है। आयुर्वेद में इसे अच्छा एंटीसेप्टिक बताया गया है। पर्याप्त मात्रा में आयरन पाए जाने के कारण हल्दी शरीर में खून का निर्माण करने में मदद करती है।

कनाडा में हुए एक शोध के मुताबिक हल्दी न सिर्फ हार्टअटैक के खतरे से बचाती है, बल्कि क्षतिग्रस्त हृदय की मरम्मत भी करती है। यह कैंसर से लेकर अल्जाइमर के रोग के इलाज में काफी उपयोगी होती है। हल्दी का इस्तेमाल किचन के अलावा कई और रोगों के इलाज में किया जा सकता है।





मुहांसों से दिलाए छुटकारा

हल्दी में एंटीसेप्टिक और एंटी-बैक्‍टीरियल गुण मुंहासें कम करने में मदद करते है। हल्दी और चंदन का पेस्ट बना कर मुंहासे पर लगाएं। आप चाहें तो सिर्फ हल्दी को पानी में मिलाकर चेहरा धो लें। इससे भी मुहांसे कम हो जाएंगें।



कटने और जलने का है बेस्ट डॉक्टर

अगर आपके चेहरे पर कहीं चोट लग गई है तो हल्दी से बेस्ट दवा कुछ नहीं। आपको बस ये करना है कि चोट वाली जगह पर थोड़ी सी हल्दी लगाए। बस और क्या? हो गया आपकी चोट का इलाज। बिच्छू, मक्खी जैसे किसी विषैले कीड़े के काटने पर हल्दी का लेप लगाना चाहिए।



हड्डियों को मजबूत बनाए

रात को सोते समय हल्दी की एक इंच लंबी कच्ची गांठ को एक गिलास दूध में उबालें। थोड़ा ठंडा होने पर इसे पी लें। ऑस्टियोपोरोसिस जैसे रोगों का खतरा कम होता है।
साथ ही मोच या हड्डी टूट जाने पर हल्दी का लेप लगाने से फायदा होता है।




दांतों के लिए फायदेमंद

दांतों से पीलापन दूर करने के हल्दी में सेंधा नमक व सरसों का तेल मिलाकर दांतों को साफ करें। कच्ची हल्दी की गांठ को अच्छी तरह भून कर पीस लें। पिसे मिश्रण से दर्द वाले दांत की मालिश करें। आराम मिलेगा।



टाइप 2 डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद

हल्दी में मौजूद कुरकुमिन नामक तत्‍व ब्लड शुगर को कम करता है और ग्लूकोज के चयाचपय को बढ़ाकर मधुमेह को नियंत्रित रखता है। दिन में भोजन के साथ आधा-आधा चम्मच हल्दी पाउडर के सेवन से आराम मिलता है।



अन्‍य लाभ
दमा के मरीजों को दूध में हल्दी चूर्ण मिलाकर सुबह शाम लेना चाहिए।

हल्दी और गुड़ को मिलाकर खाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

मुंह में छाले हो जाने पर गुनगुने पानी में हल्दी पाउडर डालकर कुल्ला करें।

दरदरी पिसी हल्दी को ताजी मिलाई के साथ मिलाकर चेहरे व हाथ पर लगाने कर सूखने दें। गुनगुने पानी से चेहरा धो ले। त्वचा चमक उठेगी।


लिवर के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद होती है।

मासिक के दिनों में पेट दर्द होने पर गरम पानी के साथ हल्दी को लेने से दर्द से राहत मिलती है।

प्रतिदिन एक चुटकी हल्दी को खाने से भूख बढ़ती है।

हल्दी की गांठ को पानी के साथ मिलाकर पिस लें। नहाने से पहले इसे उबटन की तरह लगाएं। हफ्ते भर में त्वचा में निखार आएगा।

चर्म रोग में हल्दी औषधि का काम करती है।

पीलिया होने पर छाछ में हल्दी को घोलकर पीने से लाभ होता है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


No comments:

Post a Comment