Thursday, June 30, 2016

पीली हल्दी सेहत को रखे हैल्दी..

हल्दी ‘टर्मरकि’ भारतीय वनस्पति है। आयुर्वेद में हल्दी को एक महत्वपूर्ण औषधि कहा गया है। हल्दी का भारतीय रसोई में इसका महत्वपूर्ण स्थान है और धार्मिक रूप से इसको बहुत शुभ समझा जाता है। विवाह में तो हल्दी की रसम का अपना एक विशेष महत्व है 
यदि पैरों में बिवाइयों हों, तो उन पर सरसों का तेल लगाएं और ऊपर से थोडा-सा हल्दी पाउडर डालें।

यदि कोई जहरीला कीडा काट ले, तो प्रभावित भाग पर ताजा हल्दी का रस लगाने से फायदा होता है।

खांसी से निजात पाने के लिए हल्दी की एक छोटी-सी गांठ मुंह में रखकर चूसें। इससे कुछ ही दिनों खांसी से राहत मिलेगी। -

आंखों में दर्द हो, तो पानी में हल्दी डालकर गरम कर लें और ठंडी हो जाने पर छानकर उस पानी से आंखें धोएं। 

हल्दी में विटामिन, खनिजलवण, प्रोटीन, वसा आदि सभी कुछ होता है, हल्दी में पाया जानेवाला करक्यूमिन नामक पीला 
तत्व दिमागी संतुलन को बनाए रखने में कारगर होता है। हल्दी सभी आवश्यक पोषक व रायायनिक तत्वों से परिपूर्ण है।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


No comments:

Post a Comment