Thursday, March 31, 2016

रोज़ खाए मूंगफली के कुछ दाने, ये होंगे 10 बड़े फायदे

रोज़ खाए मूंगफली के कुछ दाने, ये होंगे 10 बड़े फायदे


मूंगफली सेहत का खजाना है। साथ ही, यह वनस्पतिक प्रोटीन का एक सस्ता स्रोत भी हैं। रोज मूंगफली खाने के कई ऐसे फायदे होते हैं, जो खाने वालों को भी नहीं पता होते हैं। ऐसे में अनजाने में ही कुछ ऐसे हेल्दी फायदे मिलने लगते हैं, जिनकी वह कल्पना भी नहीं कर सकता है। एक अंडे की कीमत में जितनी मूंगफली आती है, उसमें अंडे से कई गुना ज्यादा प्रोटीन होता है। दूध और अंडे में इसके मुकाबले कम प्रोटीन होता है।
Health benefits of Ground nuts (mungfali) in Hindi
यह आयरन, नियासिन, फोलेट, कैल्शियम और जिंक का अच्छा स्रोत हैं। थोड़े से मूंगफली के दानों में 426 कैलोरीज, 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 17 ग्राम प्रोटीन और 35 ग्राम वसा होती है। इसमें विटामिन ई, के और बी6 भी भरपूर मात्रा में पाए जाते है। इसलिए यदि आप ऊपर लिखे पोषण के साथ ही आगे लिखे फायदे भी पाना चाहते हैं तो रोजाना लाल छिलके वाले कम से कम 20 मूंगफली के दाने खाएं….
1. मूंगफली में तेल का अंश होने से यह पेट की बीमारियों को खत्म करती है। इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या नहीं होती है। साथ ही, गैस व एसिडिटी की समस्या से भी राहत मिलती है।
2. मूंगफली गीली खांसी में भी उपयोगी है। इसके नियमित सेवन से आमाशय और फेफड़ों को मजबूती मिलती है। पाचन शक्ति को बढ़ाती है और भूख न लगने की समस्या भी दूर होती है।
3. मूंगफली का नियमित सेवन गर्भवती स्त्री के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह गर्भावस्था में शिशु के विकास में मदद करती है।
4. मूंगफली में ओमेगा-6 फैट भी भरपूर मात्रा में मिलता है, जो स्वस्थ कोशिकाओं और अच्छी त्वचा के लिए जिम्मेदार है। इसलिए मूंगफली स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होती है।
5. मूंगफली कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाती है। एक शोध से यह भी पता चला है कि सप्ताह में पांच दिन मूंगफली के कुछ दाने खाने से दिल की बीमारियां होने का खतरा कम रहता है।
6. खाने के बाद यदि 50 या 100 ग्राम मूंगफली रोजाना खाई जाए तो सेहत बनती है, भोजन पचता है, शरीर में खून की कमी नहीं होती है।
7. इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है। कोलेस्ट्रॉल की मात्रा में 5.1 फीसदी की कमी आती है। इसके अलावा कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल (एलडीएलसी) की मात्रा भी 7.4 फीसदी घटती है।
8. प्रोटीन, लाभदायक वसा, फाइबर, खनिज, विटामिन और एंटीआक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए इसके सेवन से स्किन उम्र भर जवां दिखाई देती है।
9. इसमें कैल्शियम और विटामिन डी अधिक मात्रा में होता है, इसलिए इसे खाने से हड्डिया मजबूत हो जाती है।
10. माना जाता है कि रोजाना थोड़ी मात्रा में मूंगफली खाने से महिलाओं और पुरुषों में हार्मोन्स का संतुलन बना रहता है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


सफेद हुए बालों को काला करने के 25 घरेलू नुस्खे


कम उम्र में सफेद हुए बालों को काला करने के 25 घरेलू नुस्खे



कम उम्र में बाल सफेद होना आजकल एक आम समस्या है। इस समस्या के सबसे मुख्य कारण फास्ट लाइफ कल्चर में बालों की ठीक से देखभाल न हो पाना और प्रदूषण आदि हैं। ऐसे में कम उम्र में आई सफेदी को छुपाने के लिए डाई करना या कलर करना ही एकमात्र विकल्प नहीं है।कुछ घरेलू नुस्खे आजमा कर भी सफेद बालों को काला किया जा सकता है। हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे ही सिंपल घरेलू फंडे जिनसे आप कम उम्र में सफेद हुए बालों को फिर से काला बना सकते हैं।
White hair treatment in Hindi
1. तुरई को काटकर नारियल तेल में उबालें व जब तुरई काली हो जाए, तब उसे छानकर किसी बोतल में भर लें। रोजाना इस तेल को बालों में लगाएं। धीरे-धीरे बाल काले होने लगेंगे।
2. तिल का तेल तो बालों के लिए अच्छा होता ही है। साथ ही, इसका सेवन भी बहुत लाभ पहुंचाता है। यदि आप अपने भोजन में तिल को शामिल कर लें तो आपके बाल लंबे समय तक काले और घने बने रहेंगे।
3. सिर धोने के लिए शिकाकाई पाउडर या माइल्ड शैम्पू का इस्तेमाल करें।
4. एक कप चाय का पानी उबालकर उसमें एक चम्मच नमक मिलाएं। इस मिश्रण को बाल धोने से एक घंटे पहले बालों में लगाएं। बाल काले होने लगेंंगे।
5. नारियल तेल में ताजे आंवला को इतना उबाले कि वह काला हो जाए। इस मिश्रण को ठंडा करके रात को सोने से पहले बालों में लगा लें व सुबह बाल धोएं।
6. अदरक को पीसकर उसमें थोड़ा शहद मिलाकर पेस्ट बनाएं और अपने सिर पर लगाएं। इस उपाय को रोजाना अपनाने से सफेद बाल फिर से काले होने लगते हैं।
7. बालों में रोजाना सरसों का तेल लगाने से बाल हमेशा काले रहेंगे।
8. नारियल तेल में मीठे नीम की पत्तियां को इतना उबाले की पत्तियां काली हो जाएं। इस तेल के हल्के हाथों से बालों की जड़ों पर लगाएं। बाल घने व काले हो जाएंगे।
9. रोजाना खाली पेट आंवले का जूस पिएं। बाल लंबी उम्र तक काले रहेंंगे।
10. सूखे आंवले को पानी में भिगोकर उसका पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में एक चम्मच युकेलिप्टस का तेल मिलाएं। मिश्रण को एक रात तक लोहे के बर्तन में रखें। सुबह इसमें दही, नींबू का रस व अंडा मिलाकर बालों पर लगाएं। बालों में नई जान आ जाएगी। 15 दिन तक यह प्रयोग करने से सफेद बाल काले होने लगते हैं।
11. आंवला जूस, बादाम तेल व नींबू का जूस मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं बालों में चमक आ जाएगी व सफेद भी नहीं होंगे।
12. बालों में एलोवेरा जेल लगाने से भी बाल गिरना बंद हो जाते हैं और जल्दी सफेद नहीं होते।
13. रोजाना सुबह थोड़ी मात्रा में आंवला जूस लेने से भी बाल लंबी उम्र तक काले बने रहते हैं।
14. कम उम्र में सफेद होते बालों पर एक ग्राम काली मिर्च में थोड़ा दही मिलाकर सिर में लगाने से भी लाभ होता है।
15. गाय के दूध का मक्खन लेकर हल्के हाथों से बालों की जड़ों में लगाएं। जल्द ही फायदा दिखने लगेगा।
16. आपने अपने घर के बुजुर्गों को सिर पर देसी घी से मालिश करते हुए देखा होगा। घी से सिर की त्वचा को पोषण मिलता है। प्रतिदिन घी से सिर की मालिश करके भी बालों के सफेद होने की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।
17. 2 चम्मच हिना पाउडर, 1 चम्मच दही, 1 चम्मच मेथी, 3 चम्मच कॉफी, 2 चम्मच तुलसी पाउडर, 3 चम्मच पुदीना पेस्ट मिलाकर बालों में लगाएं। तीन घंटे बाद शैम्पू करें। कम उम्र में सफेद हुए बाल फिर काले हो जाएंगे।
18. मेहंदी को नारियल तेल में मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को बालों में लगाने से बालों का रंग आकर्षक डार्क-ब्राउन होने लगता है।
19. 200 ग्राम आंवला, 200 ग्राम भांगरा, 200 ग्राम मिश्री, 200 ग्राम काले तिल इन सभी का चूर्ण बनाकर रोजाना 10 ग्राम मात्रा में लेने से कम उम्र में सफेद हुए बाल फिर से काले होने लगेंगे।
20. बाल धोने में नींबू पानी का उपयोग करें। इससे बाल नेचुरली ब्राउन होने लगते हैं व सफेद नहीं होते हैं।
21. नींबू का रस और नारियल तेल मिलाकर स्कल्प पर नियमित रूप से लगाने पर बाल काले होते हैं।
22. आंवला व आम की गुठली को पीसकर उसे सिर में लगाने से सफेद बाल काले हो जाएंगे।
23. बालों में नीम का तेल व रोज मेरी तेल का इस्तेमाल करने से बाल सफेद नहीं होते हैं।
24. प्याज का रस निकालकर उसे बालों की जड़ों में हल्के हाथों से लगाएं बाल घने व काले होने लगेंगे।
25. आंवला पाउडर में नींबू का रस मिलाकर या ताजे हरे आंवले को पीसकर सिर में लगाने से बाल घने व काले हो जाते हैं।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Wednesday, March 30, 2016

5 चीजें, तेजी से घटाएंगी वजन




गर्मी में यह 5 चीजें, तेजी से घटाएंगी वजन


1 दही - गर्मी के दिनों में दही का प्रयोग आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा। यह आपको पोषण तो देगा ही, शरीर में गर्मी बढ़ने से भी रोकेगा और आपका वजन भी घटाएगा। इसके अलावा यह देर तक आपका पेट भरा रखेगा जिससे आप ओवर ईटिंग से भी बचे रहेंगे।

2  छाछ - छाछ का प्रयोग कर आप छरहरी काया पाने में कामयाब हो सकते हैं। चाहें तो इसे मसालों के साथ पी सकते हैं या फिर सब्जियों के साथ अपने भोजन में शामिल कर सकते हैं।

व्यायाम या पैदल चलना  - खास तौर से गर्मी के दिनों में ज्यादा से ज्यादा पैदल चलना आपका वजन तेजी से कम कर सकता है। इन दिनों में शरीर से पसीना ज्यादा निकलता है, और फैट कम होता है। इसके साथ-साथ आप व्यायाम को भी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।


4 लौकी - गर्मी के दिनों में लौकी, गिल्की जैसी सब्जियां हल्की और फायदेमंद होती हैं। यह आपका वजन कंट्रोल करने के साथ-साथ बेहतर पाचन में भी बेहद फायदेमंद साबित होती हैं।

5 नींबू - गर्मियों में नींबू पानी का सेवन खूब किया जाता है। यह शरीर को ऊर्जा देने के साथ-साथ, तरलता बनाए रखने और वजन कम करने में भी बेहद फायदेमंद साबित होता है।


















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


हेल्थ टिप्स


हेल्थ टिप्स


* पसीने में पानी पीना, छाया में बैठकर अधिक हवा खाना, छाती व सिर में दर्द पैदा करते हैं।

* भोजन के दौरान थोड़ा-थोड़ा पानी पीना, भोजन के बाद ज्यादा पानी नहीं पीना चाहिए।

* दिनभर बैठक का काम करने वाले व्यक्ति को प्रातः घूमना चाहिए।

* जूठा पानी पीने से टीबी, खांसी व दमा आदि बीमारियां पैदा होती हैं।

* पेट में पानी हो तो दो गोले नारियल का पानी नित्य सेवन करें।

* महिलाओं को विशेषकर अंगूर सेवन ज्यादा करना चाहिए।

* दही में बेसन मिलाकर उबटन की तरह मलें, शरीर की बदबू रफूचक्कर हो जाएगी।

* सांस फूलने पर दही की कढ़ी में देसी घी डालकर कुछ दिन खाएं।

* लू से छुटकारा पाने के लिए मिश्री के शरबत में एक कागजी नीबू निचोड़कर पीएं।

* कांच या कंकर खाने में आने पर ईसबगोल भूसी गरम दूध के साथ तीन समय सेवन करें।

* घाव न पके, इसलिए गरम मलाई (जितनी गरम सहन कर सकें) बांधें।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, March 29, 2016

क्यों गंजे हो रहे हैं पुरुष



जवानी में क्यों गंजे हो रहे हैं पुरुष? जानिए कारण और समाधान




अधिकतर लोग जवानी में बाल झड़ने की समस्या से परेशान रहते हैं। इससे होने वाली मानसिक तकलीफ को सिर्फ वही पुरुष समझ सकता है जो असल में इससे गुज़रता है। क्योंकि बालों का झड़ना एक ऐसी समस्या है जो किसी भी पुरुष से उसकी जवानी में ही उसके चेहरे की खूबसूरती छीन लेती है। भला कौन इंसान भरी जवानी में बच्चों के मुँह से अपने लिए अंकल का संबोधन सुनना चाहेगा। किसी भी व्यक्ति के जवानी में बालों के झड़ने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। यहाँ हम आपको इसके पीछे के कारणों और उनके समाधानों के बारे में बता रहे हैं।

आनुवंशिक कारणों से- ज्यादातर लोगों में बाल झड़ने के कारण आनुवांशिक होते हैं। डॉक्टरों के मुताबिक लोगों में आनुवांशिक कारणों से एक निश्चित पैटर्न में बाल झड़ते हैं। इस तरह के लोगों में उनके बाल उड़ने का पैटर्न उनके पिता या दादा से मिलता जुलता है।

हारमोन में परिवर्तन से- बालों का झड़ना हारमोनों में हुए परिवर्तन के कारण भी होता है। ऐसी स्थिति में उन लोगों में बालों का झड़ना देखा जाता है जिनके पूर्वजों में यह समस्या कभी नहीं देखी गई है। आम तौर पर टेस्टोस्टेरॉन की कमी या अधिकता इसके लिए ज़िम्मेदार होती है।

गंभीर रूप से बीमार पड़ने या बुखार होने से- कई लोगों में बहुत ज्यादा तेज़ बुखार या बीमार पड़ने पर भी बाल उड़ जाते हैं। इस तरह की समस्या से उड़े बालों को कई बार वापस उगा पाना संभव होता है। 

कैंसर केमोथेरेपी या अत्यधिक विटामिन ए की वजह से- कई बार विटामिन ए की अत्याधिक डोज़ के कारण भी बाल उड़ जाते हैं। ऐसे लोगों को विटामिन-ए से परिपूर्ण चीज़ों का सेवन बन्द करने को कहा जाता है।

भावनात्मक या शारीरिक तनाव की वजह से- आज व्यक्ति की जीवन शैली इतनी अधिक असंतुलित हो चुकी है। कि वह पूरे वक्त तनाव से घिरा रहता है। ऐसे मे लगातार तनाव के कारण भी कई बार बालों का झड़ना शुरु हो जाता है।

क्या हैं समाधान-
1.केश प्रत्यारोपण
ऐसे लोग जिनमें एक बालों को उगाने वाली जड़ें ही समाप्त हो चुकी हैं में बालों को उगाने के लिए हेयर ट्रांसप्लांट का तरीका बेहद कारगर है। इसमें सिर के उन हिस्सों से जहां बाल अब भी सामान्य रूप से उग रहे होते है, से केश-ग्रंथियां लेकर उन्हें गंजेपन से प्रभावित हिस्सों में ट्रांसप्लांट कर दिया जाता है। इसमें त्वचा संबंधी संक्रमण का खतरा बहुत कम होता है।

2. दवाओं के इस्तेमाल से
जिन लोगों में बालों का झड़ना शुरु हुआ है या पूर्णतः गंजापन नहीं आया है में माइनोक्सिडिल नामक दवा का इस्तेमाल किया जाता है। कम बालों वाले हिस्सों पर रोज़ इसका इस्तेमाल करने से बाल गिरना रुक जाता है तथा नये बाल उगने लगते हैं। यह दवा रक्त वाहिनियों को सशक्त बनाती है और इससे प्रभावित हिस्सों में रक्तसंचार और हारमोन की आपूर्ति बढ़ जाती है। एक और दवा जिसका नाम फाइनस्टराइड है की एक टेबलेट रोज लेने से बालों का गिरना रुक जाता है तथा कई मामलों में नये बाल भी उगने लगते हैं। 

3.कॉस्मेटिक उपचार
सिंथेटिक केश बालों के प्रयोग से भी गंजेपन को हटाया जा सकता है। गंजेपन से प्रभावित हिस्से को ढंकने के लिए विशेष रूप से निर्मित बालों का प्रयोग किया जाता है। किंतु ध्यान देने की बात यह है कि इन बालों के नीचे की खोपड़ी को नियमित रूप से धोते रहना जरूरी है।

4.सही देखरेख- सही देखरेख करने से भी बालों की संख्या में फर्क देखने को मिला है। यदि समय समय पर बालों को सही शैम्पू से धोया जाता रहे और उन्हें पर्याप्त पोषण मिलता रहे तो भी बालों की संख्या में वृद्धि होती है। हाँ, किन्तु यह देखने की ज़रूरत अवश्य है कि किस व्यक्ति को कौन सा शैम्पू और हेयर ऑयल सूट करता है।  

5.बालों को कस कर बांधना और हर वक्त कंघी करते रहना- पत्ते डालों वाली कंघियों से गीले बालों में कंघी न करें, इससे बाल जल्दी टूटते हैं। इससे बाल के डंडे पर जोर पड़ता है और वह कमजोर पड़ जाता है। कंघी ज्यादा करना भी बालों के गिरने का कारण होता है जो 100 बार कंघी करने के नीयम से उल्टा है। बाल सोने के पहले कंघी करने से सारी गंदगी छूट जाती है और बाल साफ करने में मदद मिलती है। बालों को रंग लगाना, स्टाइल करना, गरम ट्रीटमेन्ट और केमिकल ट्रीटमेंट कमजोर करके गिराता है। 
सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


हेयर वेक्सिंग से होने वाले इन खतरा




लड़कियां जान लें हेयर वेक्सिंग से होने वाले इन खतरों के बारे में





लड़कियां अपनी बॉडी को खूबसूरत व आकर्षक दिखाने के लिए शरीर के कई अंगों की हेयर वेक्सिंग कराती हैं। इसके लिए कई तरह की विधियां प्रयोग में लाती हैं। जिसमें से कुछ विधियां काफी दर्द देने वाली और जटिल भी होती हैं। लड़कियां अंडर आर्म्स और प्राइवेट पार्ट की हेयर रिमूविंग पर विशेष ध्यान देती हैं। आजकल बिकनी वैक्स का ट्रेंड जोरों पर है। लड़कियां बिकनी लाइन के बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग और शेविंग का सहारा लेती हैं। इससे संक्रमण का खतरा पैदा होने का डर रहता है।
शोध से मिली जानकारी
एक शोध में इस बात का पता चला है जो महिलाएं अक्सर बिकनी वैक्स क राती हैं उनमें सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज यानी एसटीआई होने का खतरा होता है हाल ही में एक अध्ययन जामा डर्माटोलोजी ऑफ जरनल में दिया गया था। इसके मुताबिक, वैक्‍सिंग से सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज होने का खतरा बढ़ जाता है।
प्यूविक हेयर के लिए खतरा
शोध में पता चला है कि प्यूबिक हेयर (वजाइना के बाल) हटाने के दौरान वायरस या बैक्टीरिया शरीर के अंदर चले जाते हैं। यानी एसटीडी के बढऩे के कारणों में एक कारण प्यूबिक हेयर रिमूव भी बताया गया। अध्ययन के मुताबिक, महिलाओं में प्यूबिक हेयर को सजाने और संवारने का चलन तेजी से बढ़ रहा है।
वेक्सिंग सुरक्षित तरीका नहीं
लेकिव वैक्सिंग सुंदरता पाने का सुरक्षित तरीका नहीं है। दरअसल, वैक्सिंग से त्वचा और उसके अंतर्निहित संरचनाओं को नुकसान पहुंचता है। स्टडी में ये भी पाया गया कि दूषित वैक्सिंग टूल के जरिए बैक्टीरिया ट्रांसफर होते हैं। साथ ही ये बात भी सामने आई कि प्यूबिक हेयर वैक्सिंग करने स्किन जलने का भी एक कारण होता है। इससे पहले भी कई शोधों में ये बात साबित हो चुकी है कि बिकनी वैक्सिंग से सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिजीज का खतरा बढ़ जाता है।
अगर आप बिकनी वैक्स कराना ही चाहती हैं तो इन सावधानियों को बरतना ना भूलें
वैक्सिंग कराते समय रखें ये सावधानियां
बैक्टिरियल इंफेक्शन से बचने के लिए वैक्सिंग करते समय इस्तेमाल किया जाने वाला औजार का साफ होना बहुत जरूरी है। अगर आप वैक्सिंग के बाद टाइट कपड़े पहनेंगी तो जलन-सूजन जैसी परेशानी भी हो सकती है। अच्छा होगा कि वैक्स के बाद कॉटन के इनरवेयर या फिर ढीले-ढाले कपड़े पहनें। पीरियड्स से पहले ब्राजीलियन वैक्सिंग कराने से बचें। ध्यान रखें कि आप जिस पार्लर में जाती हैं वह साफ-सुथरा हो और वैक्सिंग करने वाली ब्यूटी एक्सपर्ट के हाथ साफ हों। उसे कि सी तरह का इंफेक्शन न हो।
पहने ढीले कपड़े
वैक्स का तापमान सही होना चाहिए वरना यह स्किन को जला भी सकता है। वैक्स से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि स्ट्रिप्स नई हों। इसके अलावा कॉटन के साथ फर्स्ट एड किट और ऐंटिसेप्टिक भी वहां पास में होने चाहिए। वैक्सिंग पूरी होने के बाद स्किन साफ कपड़े या नैपकिन से पोछें। स्किन सूखने पर कॉटन के या फिर ढीले-ढाले कपड़े पहनें। इसके तुरंत बाद नहा लें। टावल से पोछने के बाद कम से कम 24 घंटों के लिए ढीले कपड़े पहनें।











सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, March 28, 2016

दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शरीर को होते हैं ये फायदे



दूध में हल्दी मिलाकर पीने से शरीर को होते हैं ये फायदे



आयुर्वेद में हल्दी को सबसे बेहतरीन नेचुरल एंटीबायोटिक माना गया है। इसलिए यह स्किन, पेट और शरीर के कई रोगों में उपयोग की जाती है। हल्दी के पौधे से मिलने वाली इसकी गांठें ही नहीं, बल्कि इसके पत्ते भी बहुत उपयोगी होते हैं। ये तो हुई बात हल्दी के गुणों की, इसी प्रकार दूध भी प्राकृतिक प्रतिजैविक है। यह शरीर के प्राकृतिक संक्रमण पर रोक लगा देता है। हल्दी व दूध दोनों ही गुणकारी हैं, लेकिन अगर इन्हें एक साथ मिलाकर लिया जाए तो इनके फायदे दोगुना हो जाते हैं। इन्हें एक साथ पीने से यह कई स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं दूर होती हैं।
Health Benefits Milk with Turmeric Hindi

1 . हडि्डयों को पहुंचाता है फायदा

रोजाना हल्दी वाला दूध लेने से शरीर को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलता है। हड्डियां स्वस्थ और मजबूत होती है। यह ऑस्टियोपोरेसिस के मरीजों को राहत पहुंचाता है।

2. गठिया दूर करने में है सहायक

हल्दी वाले दूध को गठिया के निदान और रियूमेटॉइड गठिया के कारण सूजन के उपचार के लिए उपयोग किया जाता है। यह जोड़ो और पेशियों को लचीला बनाकर दर्द को कम करने में भी सहायक होता है।

3. टॉक्सिन्स दूर करता है

आयुर्वेद में हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल शोधन क्रिया में किया जाता है। यह खून से टॉक्सिन्स दूर करता है और लिवर को साफ करता है। पेट से जुड़ी समस्याओं में आराम के लिए इसका सेवन फायदेमंद है।

4. कीमोथेरेपी के बुरे प्रभाव को कम करते हैं

एक शोध के अनुसार, हल्दी में मौजूद तत्व कैंसर कोशिकाओं से डीएनए को होने वाले नुकसान को रोकते हैं और कीमोथेरेपी के दुष्प्रभावों को कम करते हैं।

5. कान के दर्द में आराम मिलता है

हल्दी वाले दूध के सेवन से कान दर्द जैसी कई समस्याओं में भी आराम मिलता है। इससे शरीर का रक्त संचार बढ़ जाता है जिससे दर्द में तेजी से आराम होता है।

6. चेहरा चमकाने में मददगार

रोजाना हल्दी वाला दूध पीने से चेहरा चमकने लगता है। रूई के फाहे को हल्दी वाले दूध में भिगोकर इस दूध को चेहरे पर लगाएं। इससे त्वचा की लाली और चकत्ते कम होंगे। साथ ही, चेहरे पर निखार और चमक आएगी।

7. ब्लड सर्कुलेशन ठीक करता है

आयुर्वेद के अनुसार, हल्दी को ब्लड प्यूरिफायर माना गया है। यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को मजबूत बनाता है। यह रक्त को पतला करने वाला आैर लिम्फ तंत्र और रक्त वाहिकाओं की गंदगी को साफ करने वाला होता है।

8. शरीर को सुडौल बनाता है

रोजाना एक गिलास दूध में आधा चम्मच हल्दी मिलाकर लेने से शरीर सुडौल हो जाता है। दरअसल गुनगुने दूध के साथ हल्दी के सेवन से शरीर में जमा फैट्स घटता है। इसमें उपस्थित कैल्शियम और अन्य तत्व सेहतमंद तरीके से वेट लॉस में मददगार हैं।

9. स्किन प्रॉब्लम्स में है रामबाण

हल्दी वाला दूध स्किन प्रॉब्लम्स में भी रामबाण का काम करता है।

10. लीवर को मजबूत बनाता है

हल्दी वाला दूध लीवर को मजबूत बनाता है। यह लीवर से संबंधित बीमारियों से शरीर की रक्षा करता है और लिम्फ तंत्र को साफ करता है।

11. अल्सर ठीक करता है

यह एक शक्तिशाली ऐन्टी-सेप्टिक होता है और आंत के स्वस्थ बनाने के साथ-साथ पेट के
अल्सर और कोलाइटिस का उपचार करता है। इससे पाचन बेहतर होता है और अल्सर, डायरिया और अपच नहीं होता।

12. महावारी में होने वाले दर्द से राहत देता है

हल्दी वाला दूध माहवारी में होने वाले दर्द में राहत देता है। गर्भवती महिलाओं को इस सुनहरे दूध को आसान प्रसव, प्रसव बाद सुधार, बेहतर दूध उत्पादन और शरीर को जल्दी सामान्य करने के लिए हल्दी का दूध लेना चाहिए।

13. सर्दी खांसी में है रामबाण

हल्दी वाले दूध के एंटीबायोटिक गुण के कारण सर्दी-खांसी में ये एक कारगर दवा का काम करता है। हल्दी वाला दूध मुक्त रैडिकल्स से लड़ने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट का बेहतरीन स्रोत है। इससे कई बीमारियां ठीक हो सकती हैं।

















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


नेत्र ज्योति बढ़ाने व चश्मा उतारने में साहयक है ये 14 घरेलू नुस्खे



नेत्र ज्योति बढ़ाने व चश्मा उतारने में साहयक है ये 14 घरेलू नुस्खे




कम उम्र में चश्मा लग जाना आजकल एक सामान्य सी बात है। इस समस्या से जूझ रहे लोग इसे मजबूरी मानकर हमेशा के लिए अपना लेते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है कि अगर किसी कारण से एक बार चश्मा लग जाए तो वह उतर नहीं सकता। चश्मा लगने का सबसे प्रमुख कारण आंखों की ठीक से देखभाल न करना, पोषक तत्वों की कमी या अनुवांशिक हो सकते हैं। इनमें से अनुवांशिक कारण को छोड़कर अन्य कारणों से लगा चश्मा सही देखभाल व खानपान का ध्यान रखने के साथ ही देसी नुस्खे अपनाकर उतारा जा सकता है।



आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे ही घरेलू नुस्खे जो आंखों की समस्या में रामबाण की तरह काम करते हैं….


1. पैर के तलवों पर सरसों के तेल की मालिश करके सोएं। सुबह के समय नंगे पैर हरी घास पर चलें व नियमित रूप से अनुलोम-विलोम प्राणायाम करें। आंखों की कमजोरी दूर हो जाएगी।

2. एक चने के दाने जितनी फिटकरी को सेंककर सौ ग्राम गुलाबजल में डालकर रख लें। रोजाना रात को सोते समय इस गुलाबजल की चार-पांच बूंद आंखों में डाले। साथ ही,पैर के तलवों पर घी की मालिश करें इससे चश्में के नंबर कम हो जाते हैं।

3. आंवले के पानी से आंखें धोने से या गुलाबजल डालने से आंखें स्वस्थ रहती है।

4. बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें। रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें।


5. बेलपत्र का 20 से 50 मि.ली. रस पीने और 3 से 5 बूंद आंखों में काजल की तरह लगाने से रतौंधी रोग में आराम होता है।

6. आंखों के हर प्रकार के रोग जैसे पानी गिरना , आंखें आना, आंखों की दुर्बलता, आदि होने पर रात को आठ बादाम भिगोकर सुबह पीस कर पानी में मिलाकर पी जाएं।

7. केला, गन्ना खाना आंखों के लिए लाभकारी है। गन्ने का रस पिएं। एक नींबू एक गिलास पानी में पीते रहने से जीवन भर नेत्र ज्योति बनी रहती है।

8. हल्दी की गांठ को तुअर की दाल में उबालकर, छाया में सुखाकर, पानी में घिसकर सूर्यास्त से पूर्व दिन में दो बार आंख में काजल की तरह लगाने से आंखों की लालिमा दूर होती है व आंखें स्वस्थ रहती हैं।

9. सुबह के समय उठकर बिना कुल्ला किए मुंह की लार (Saliva) अपनी आंखों में काजल की तरह लगाएंं।लगातार 6 महीने करते रहने पर चश्मे का नंबर कम हो जाता है।

10. कनपटी पर गाय के घी की हल्के हाथ से रोजाना कुछ देर मसाज करने पर आंखों की रोशनी बढ़ती है।

11. रात्रि में सोते समय अरण्डी का तेल या शहद आंखों में डालने से आंखों की सफेदी बढ़ती है।

12. नींबू एवं गुलाबजल का समान मात्रा में मिलाकर बनाया गया मिश्रण एक-एक घंटे के अंतर से आंखों में डालने से आखों को ठंडक मिलती है।

13. त्रिफला चूर्ण को रात्रि में पानी में भिगोकर, सुबह छानकर उस पानी से आंखें धोने से नेत्रज्योति बढ़ती है।

14. बादाम की गिरी, बड़ी सौंफ व मिश्री तीनों को समान मात्रा में मिला लें। रोज इस मिश्रण को एक चम्मच मात्रा में एक गिलास दूध के साथ रात को सोते समय लें।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Saturday, March 26, 2016

आयुर्वेदिक चिकित्सा से मिटाये खुजली की समस्या


आयुर्वेदिक चिकित्सा से मिटाये खुजली की समस्या


जब त्वचा की सतह पर जलन का एहसास होता है और त्वचा को खरोंचने का मन करता है तो उस बोध को खुजली कहते हैं। खुजली के कई कारण होते हैं जैसे कि तनाव और चिंता, शुष्क त्वचा, अधिक समय तक धूप में रहना, औषधि की विपरीत प्रतिक्रिया, मच्छर या किसी और जंतु का दंश, फंफुदीय संक्रमण, अवैध यौन संबंध के कारण, संक्रमित रोग की वजह से, या त्वचा पर फुंसियाँ, सिर या शरीर के अन्य हिस्सों में जुओं की मौजूदगी इत्यादि से।







खुजली होने पर सावधानी

खुजली होने पर प्राथमिक सावधानी के तौर पर सफ़ाई का पूरा ध्यान रखना चाहिये।खुजली का जब भी दौरा पडे, आप साफ़ मुलायम कपडे से उस स्थान को सहला दिजिये।प्रवॄति के अनुसार ठंडे या गरम पानी से उस स्थान को धो लिजिये ( किसी को ठंडे पानी से तो किसी को गरम पानी से आराम होता है, उसके मुताबिक अपने लिये पानी का चयन कर लें)।साबुन जितना कम कर सकते हैं कम कर लेना चाहिये, और सिर्फ़ मॄदु साबुन का ही उपयोग करें।कब्ज हो तो उसका इलाज करें।






खुजली के लिए आयुर्वेदिक उपचार

खुजली वाली जगह पर चन्दन का तेल लगाने से काफी राहत मिलती है। दशांग लेप, जो आयुर्वेद की 10 जड़ी बूटियों से तैयार किया गया है, खुजली से काफी हद तक आराम दिलाता है। नीम का तेल, या नीम के पत्तों की लेई से भी खुजली से छुटकारा मिलता है। गंधक खुजली को ठीक करने के लिए बहुत ही बढ़िया उपचार माना जाता है। नीम के पाउडर का सेवन करने से त्वचा के संक्रमण और खुजली से आराम मिलता है। सुबह खाली पेट एलोवेरा जूस का सेवन करने से भी खुजली से छुटकारा मिलता है। नींबू का रस बराबर मात्रा में अलसी के तेल के साथ मिलाकर खुजली वाली जगह पर मलने से हर तरह की खुजली से छुटकारा मिलता है। नारियल के ताज़े रस और टमाटर का मिश्रण खुजली वाली जगह पर लगाने से भी खुजली दूर हो जाती है। शुष्क त्वचा के कारण होनेवाली खुजली को दूध की क्रीम लगाने से कम किया जा सकता है। 25 ग्राम आम के पेड़ की छाल, और 25 ग्राम बबूल के पेड़ की छाल को एक लीटर पानी में उबाल लें, और इस पानी से ग्रसित जगह पर भाप लें। जब यह प्रक्रिया हो जाए तो ग्रसित जगह पर घी थपथपाकर लगायें। खुजली गायब हो जाएगी।

खुजली के लिए सबसे कारगर उपाय है तेल की मालिश जिससे रूखी और बेजान त्‍वचा को नमी मिलती है।












































सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Friday, March 25, 2016

जाने किस दिशा में सिर रखकर सोना होता है लाभदायक



जाने किस दिशा में सिर रखकर सोना होता है लाभदायक



हर व्यक्ति अलग-अलग तरह सोता है। सोने के समय दिशाओं को लेकर भी तमाम भ्रंतियां हैं। अकसर लोग कहते हैं कि उत्तर दिशा की तरफ सिर रख कर नहीं सोना चाहिए। यदि ऐसा है तो वो क्या कारण है फिर कौंन सी दिशा में सर रखकर सोना चाहिए। आज हम आपको बता रहे हैं कि किस तरफ सिर करके सोने से सकारात्मक ऊर्जा मिलती है।
1- रक्त से संबंधित कोई समस्या, जैसे एनीमिया या रक्ताल्पता आदि होने पर डॉक्टर आपको आयरन लेने की सलाह देते हैं। क्योंकि यह रक्त का एक बेहद महत्वपूर्ण तत्व होता है। पृथ्वी के भी चुंबकीय क्षेत्र (मैगनेटिक फील्ड) होते हैं। तो यदि आप उत्तर दिशा की ओर सिर कख कर 5 से 6 घंटों तक उस तरह रहते हैं, तो चुंबकीय खिंचाव आपके दिमाग पर दबाव डालने लगता है।
2- हमारा दिल शरीर के तीन-चौथाई भाग में ऊपर की ओर मौजूद होता है, क्योंकि गुरुत्वाकर्षण के खिलाफ रक्त को ऊपर की ओर पहुंचाना नीचे की ओर पहुंचाने से ज्यादा कठिन होता है। दरअसल हमारी जो रक्त शिराएं शरीर में ऊपर की ओर जाती हैं, वे नीचे की ओर जाने वाली धमनियों के बनिस्पद बहुत परिष्कृत होती हैं। पर दिमाग में जाते समय ये लगभग बालों जितनी पतली होती हैं। इतनी पतली कि ये एक अतिरिक्त रक्त की बूंद को भी ऊपर नहीं ले जा सकती हैं। इस पर अतिरिक्त दबाव पडऩे पर ये फट सकती हैं और हैमरेज (रक्तस्राव) हो सकता है।
3- आमतौर पर देखा जाता है कि 35 साल की उम्र के बाद बुद्धिमत्ता का स्तर कई रूपों में गिर जाता है जब तक कि हम इसे बनाए रखने के लिए बहुत मेहनत न करें। गलत दिशा में सोने पर इन धमनियों को नुकसान हो सकता है। ऐसा गलत दिशा में सोने पर दिमाग पर पडऩे वाले चुंबकीय खिंचाव के कारण होता है।
4- जब शरीर क्षैतिज स्थिति में होता है, तो तुरंत नाड़ी की गति को धीमा होता महसूस किया जा सकता है। शरीर यह बदलाव इसलिए लाता है क्योंकि यदि रक्त उसी स्तर पर पंपहोता रहेगा, तो सिर में जरूरत से ज्यादा रक्त जा सकता है और गंभीर नुकसान पहुंच सकता है। तो यदि कोई अपना सिर उत्तर दिशा की ओर रखता है और 5 से 6 घंटों तक उसी स्थिति में रहता है, तो चुंबकीय खिंचाव सीधा दिमाग पर दबाव डालता है।
6- एक निश्चित आयु को पार कर लेने के बाद रक्तशिराएं कमजोर होने लगती हैं तो लगातार गलत दिशा में सर रख कर सोने से रक्तस्राव और लकवे के साथ स्ट्रोक भी हो सकता है। हालांकि ज़रूरी नहीं कि ऐसा सभी के साथ हो। कई लोगों को गलत दिशा में सोने पर उत्तेजित या परेशान होकर जागजानें जैसी समस्या हो सकती है। क्योंकि सोते समय दिमाग में जितना रक्त संचार होना चाहिए, उससे ज्यादा होता है। एक-दो दिन में इससे कोई समस्या नहीं होती है, लेकिन लंबे समय तक लगत दिशा में सिर रख कर सोने से समस्याएं हो सकती हैं।
7- सोते समय सिर करने के लिये पूर्व सबसे अच्छी दिशा होती है। पूर्वोत्तर ठीक है, पश्चिम भी ठीक रहती है। यदि कोई विकल्प न हो तो दक्षिण दिशा में सिर रखकर भी सोया जा सकता है। लेकिन उत्तर दिशा में सर रख कर सोना बिल्कुल ठीक नहीं है। जब तक आप उत्तरी गोलार्ध में हैं, यही सही है उत्तर के अलावा किसी भी दिशा में सिर करके सोया जा सकता है। लेकिन दक्षिणी गोलार्ध में होने पर दक्षिण दिशा की ओर सिर करके न सोएं।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


एक छोटी सी इलाइची आप के लिए है बड़ी फायदेमंद, जानें कैसे



एक छोटी सी इलाइची आप के लिए है बड़ी फायदेमंद, जानें कैसे





जयपुर। सफल दाम्पत्य जीवन के लिए जरूरी है कि पति-पत्नी के बीच शारीरिक संबंध मजबूत हों। इसके लिए पौरूष क्षमता का प्रबल होना बेहद जरूरी है। इसे बेहतर करने के लिए लोग तरह-तरह के उपचार करते हैं। लेकिन इसके लिए सही खानपान व नियमित व्यायाम बेहद जरूरी होता है। इसके अलावा भी प्रकृति में भी ऐसी कई चीजें हैं जिनके सेवन ये यौन क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। हम आप को एक छोटी सी इलाइची के बड़े गुणों के बारे में बता रहे हैं। जानते हैं इलाइची कैसे पौरूष क्षमता को बढ़ाने में मददगार होती है।
इलायची का सेवन आमतौर पर सांस और मुंह को साफ रखने के लिए अथवा मसाले के रूप में किया जाता है। यह दो प्रकार की होती है, हरी या छोटी इलायची व बड़ी इलायची। इलायची को वाजीकरण नुस्खे के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है। इलायची एक ऐसे टॉनिक के रूप में भी काम करती है जिससे कामोत्तेजना में वृद्धी होती है। यह शरीर को ताकत प्रदान करने के साथ-साथ असमय स्खलन व नपुंसकता की समस्या से भी मुक्त कराने में सहायक होती है।
ऐसे करें सेवन
इसका सेवन करने के लिये दूध में इलायची डालकर उबालें। ठीक से उबल जाने के बाद इसमे थोड़ा शहद मिलाएं और नियमित रूप से रात को सोते समय इसका सेवन करें। इसके नियमित सेवन से यौन क्षमता में इजाफा होता है और दामपत्य जीवन सुखमय बनता है।
मुंह के छालों में लाभदायक
इसका अलावा मुंह में छाले की समस्या को दूर करने के लिए बड़ी इलायची को महीन पीसकर उसमें पिसी हुई मिश्री मिलाकर जीभ पर रखने से छाले दूर होते हैं। लेकिन रात के समय इलायची न खायें, इससे खट्टी डकारें आने की शिकायत हो सकती है।
महिलाएं न करें सेवन
महिलाओं को इसका अधिक सेवन नहीं करना चाहिये, क्योंकि इसके अधिक सेवन से महिलाओं में गर्भपात होने की भी संभावना होती है।







सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, March 21, 2016

वजन और Fat बढ़ाने में फायदेमंद हैं ये 15 टिप्स









वजन और Fat बढ़ाने में फायदेमंद हैं ये 15 टिप्स



हैंगर में टंगे कपड़े, कमजोर पहलवान आदि जैसे टीजिंग के अगर आप भी कभी शिकार हुए हैं, तो इसके पीछे की वजह से आप बखूबी वाकिफ होंगे। एक तरफ जहां दुनिया के 70 प्रतिशत लोग वजन बढ़ने से परेशान हैं, तो वहीं 20 प्रतिशत अपने दुबलेपन से परेशान हैं। सिर्फ 10 प्रतिशत लोग ही हेल्दी लाइफ एन्जॉय कर रहे हैं। कमजोरी से फर्क सबसे पहले शरीर के बाहरी हिस्से पर दिखता है। हड्डियां दिखने के साथ ही गाल अंदर की ओर धंसते चले जाते हैं और धीरे-धीरे कमजोर शरीर कई प्रकार की बीमारियों से भी ग्रस्त हो जाता है। कुछ महिलाएं अक्सर शादी से पहले दुबलेपन की समस्या से परेशान रहती हैं। तो ऐसे में क्या खाएं, कौन-सी एक्सरसाइज अपनाएं, जिससे कम समय में दुबलेपन से छुटकारा मिले। इन सभी प्रॉब्लम्स के लिए दिए जा रहे हैं कुछ टिप्स….





दुबलेपन की समस्या को दूर करने के टिप्स (Weight gain tips in Hindi) –

1. दिन की शुरुआत हल्के-फुल्के एक्सरसाइज और योग से करें, क्योंकि इससे भूख बढ़ती है।

2. एक्सरसाइज के तौर पर मॉर्निंग वॉक भी किया जा सकता है। फ्रेश एयर के साथ ही मेटाबॉलिज्म भी सही रहेगा।

3. ब्रेकफास्ट में दूध, मक्खन और घी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें। हेल्दी रखने के साथ ही ये वजन बढ़ाने में मददगार होते हैं।

4. प्रोटीन एनर्जी का अच्छा स्रोत होता है। इसके लिए दाल, फिश, चिकन, मटन और अंडा खाना ठीक रहेगा।

5. किशमिश रात में भिगों दें और सुबह खाएं। दो-तीन महीने में फर्क नजर आने लगेगा। साथ ही, किशमिश फैट को हेल्दी कैलोरी में बदलने का काम करता है।

6. दुबलेपन को दूर करने के लिए अखरोट खाना भी अच्छा ऑप्शन रहेगा, क्योंकि इसमें मोनो अनसैचुरेटेड फैट होता है। यह काफी फायदेमंद होता है।

7. केले को संपूर्ण आहार माना गया है। रोजाना तीन-चार केले खाने से जल्द ही फर्क दिखाई देने लगता है।

8. आलू की मात्रा को भी खाने में बढ़ाएं। आलू कार्बोहाइड्रेट का खजाना है। इसे खाकर जल्द ही वजन बढ़ाया जा सकता है।

9. कुछ दिनों के लिए खाने को सरसों और रिफाइंड तेल में न पकाकर नारियल तेल में पकाएं। नारियल तेल भी दुबलेपन की समस्या को दूर करने में फायदेमंद होता है।

10. डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे दूध, दही और पनीर में फैटी एसिड्स मौजूद होते हैं और साथ ही बहुत ज्यादा मात्रा में कैलोरी भी। अलग-अलग तरीकों से इनका ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करें।

11. वजन बढ़ाने के लिए चाय, कॉफी, शराब, सिगरेट आदि से दूर रहना बहुत जरूरी है।

12. भरपूर नींद लें। 7-8 घंटे की नींद लेने से वजन बढ़ाने में मदद मिलती है।

13. खजूर को या छुहारे को दूध में उबालें। रात को सोने से पहले अच्छे से चबाकर खाएं और दूध पी लें। दो-तीन महीने तक लगातार खाने से फायदा होगा।

14. दूध में शहद डालकर पीना भी फायदेमंद होता है।

15. कब्ज, अपच और गैस की समस्या होने पर डॉक्टर से संपर्क करें, क्योंकि कई बार कमजोरी के पीछे ये कारण भी होते हैं।
दुबलेपन के कारण

कमजोरी शरीर के पीछे कई वजहें होती हैं, जिन्हें जानना बहुत ही जरूरी है।

1. ज्यादातर इसके पीछे वंशानुगत समस्या होती है, जिसे हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाकर काफी हद तक सॉल्व किया जा सकता है।

2. ब्लड की कमी होने से भी दुबलेपन की समस्या हो सकती है।

3. एक्सरसाइज करते वक्त समय और पोजिशन का खास ध्यान रखें।

4. हॉर्मोन्स की गड़बड़ी से भी शरीर कमजोर होने लगता है।

5. स्ट्रेस, किसी प्रकार की चिंता और नींद की कमी एकदम से घटते वजन के पीछे की वजह होती है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


मोटापा घटाने के लिये रात में करने चाहिए ये 4 जरुरी काम






मोटापा घटाने के लिये रात में करने चाहिए ये 4 जरुरी काम









आज हर पांच में से तीसरा व्‍यक्‍ति मोटापे से परेशान है। अगर आप भी कई महीनों से मोटापा घटाने की कोशिश कर रहे हैं और इसमें कामियाबी हांसिल नहीं कर पा रहे हैं, तो कुछ जरुरी नियमों का पालन करें।



रात को अगर आप सोने से पहले कुछ जरुरी नियमों का पालन कर लेते हैं, तो समझिये कि वजन घटाना आपके लिये चुटकियों का काम हो जाएगा। हमारा शरीर चर्बी घटाने का काम नियमित रूप से दिन और रात में करता रहता है, इसलिये नीचे दिये कुछ आसान से काम जरुर कीजियेगा, जिससे आप झट से मोटापा घटा लें।

ग्रीन टी पियें:



रात को सोने से पहले ग्रीन टी पीने पर शरीर का मैटाबॉलिज्‍म बढ़ता है, जिससे रातभर आपका वजन कम होता रहता है।


मिर्च का सेवन:



वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है, कि मोटापा घटाने के लिये मिर्च का सेवन करना चाहिये। सोने से पहले इसका सेवन भोजन में करें जिससे लगातार वजट घटने की प्रक्रिया चलती रहे।
शक्‍कर और स्‍टार्च ना खाएं:



शक्‍कर और स्‍टार्च कार्ब्‍स होते हैं, जो कि इंसुलिन के निकलने की प्रक्रिया को उत्‍तेजित कर देते हैं। इंसुलिन शरीर में मुख्य फैट स्‍टोरेज हार्मोन होता है। जब इंसुलिन की मात्रा कम रहती है, तब शरीर उसमें जमा फैट को बर्न करना शुरु कर देता है, इसलिये रात को कार्ब न खाएं।
पूरी नींद लें:



खराब नींद आपके वजन को बढ़ा कर मोटापे का शिकार बना सकती है। सोने से पहले कुछ रिलैक्‍सेशन टेक्‍नीक का इस्‍तमाल करें, जैसे ध्‍यान, सुकून भरा संगीत सुने, गरम पानी से स्‍नान, आदि। अच्‍छी नींद लेने से शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बढ़ता है और फैट बर्न होता है। सोने से शरीर का हार्मोन कंट्रोल होता है जिसेस बार बार भूंख नहीं लगती और शरीर की ऊर्जा भी नहीं घटती।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


चेहरे को देखकर आप पता लगा सकते है इन स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में



चेहरे को देखकर आप पता लगा सकते है इन स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में




आपने अक्‍सर लोगों को आपस में कहते सुना होगा कि क्‍या हुआ, चेहरा बड़ा उतरा-उतरा सा लग रहा है। ये बात बिल्‍कुल सही होती है, आपकी नासाज़ तबियत का जिक्र, चेहरा अपने आप बयां कर देता है। हाल ही में इस बारे में हुए अध्‍ययन से पता चला है कि आपका चेहरा बता देता है कि आपके शरीर में अंदर-अंदर क्‍या चल रहा है।



अगर आपको बहुत ज्‍यादा पसीना आता है तो इसका मतलब है कि आपके शरीर में हारमोन्‍स सम्‍बंधी समस्‍या है। आपके होंठो और आंखों का रंग आपके शरीर में खून की मात्रा को बताता है। त्‍वचा की चमक आपके शरीर में पोषक तत्‍वों के बारे में इंगित करती है। आइए जानते हैं ऐसी कई अन्‍य बातें, कि आपके चेहरे से आपके स्‍वास्‍थ्‍य के बारे में और क्‍या-क्‍या जाना जा सकता है:-


चेहरे के बाल: कई महिलाओं को चेहरे पर बाल होते हैं जो देखने में काफी भद्दे लगते हैं। यह पॉलीसिस्‍टिक ओवेरियन सिंड्रोम के कारण हो जाते हैं। इस सिंड्रोम के होने से मासिक धर्म में अनियमितता और प्रजनन क्षमता पर बुरा असर पड़ता है।


फटे होंठ: अगर आपके होंठ काफी फटते हैं यानि आपके शरीर में पानी की कमी है। कई बार थॉयराइड की शिकायत होने पर भी होंठ फट जाते हैं। जोड़ों में दर्द और लिवर में समस्‍या होने पर भी होंठ और त्‍वचा फटने लगती हैं।

पसीना: जिस व्‍यक्ति के चेहरे पर काफी पसीना आता है, उसे हाइपरहिड्रोसिस नाम की समस्‍या होती है। ऐसी औरतों में मासिक धर्म की गड़बड़ी होती है या उन्‍हे मेनोपॉज शुरू हो जाता है। अगर आपको बहुत पसीना आता है तो शीघ्र ही डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करें।

फीकी त्‍वचा: अगर किसी व्‍यक्ति के चेहरे की त्‍वचा बहुत फीकी है तो इसका मतलब है कि उसका ब्‍लड़ प्रेशर काफी लो है। शरीर में डिहाईड्रेशन और थकान की समस्‍या होने पर भी त्‍वचा में फीकापन आ जाता है।


होंठो का रंग: होंठो और आंखों का रंग, व्‍यक्ति के शरीर में रक्‍त की मात्रा को निर्धारित करता है। रंग यदि हल्‍का होता है तो स्‍पष्‍ट है कि उस शख्‍स के शरीर में रक्‍त की मात्रा काफी कम है।

नाक और आंखों के नीचे रैश: अगर नाक और आंखों के नीचे रैसेज होने लग जाएं तो इसका मतलब है कि उस व्‍यक्ति को किसी प्रकार का चर्मरोग अंदर ही अंदर हो रहा है। ऐसे में आपको शीघ्र ही डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करना चाहिए।

ड्राई स्‍कीन: त्‍वचा में रूखापन, शरीर की अस्‍वस्‍थता के बारे में बताता है। अगर आपके शरीर में डिहाईड्रेशन की समस्‍या है या डाइबटीज की समस्‍या है या थॉयराइड की दिक्‍कत हो रही है तो सबसे पहले त्‍वचा में रूखापन आना शुरू हो जाएगा।

गले में धब्‍बे: जिन महिलाओं को गर्दन में धब्‍बे हो जाते हैं उन्‍हे शरीर में असंतुलित हारमोन्‍स की समस्‍या होती है। इसके लिए बेहतर होता है कि थॉयराइड और पीसीओएस टेस्‍ट करवा लिया जाएं।

चेहरे पर सूजन: चेहरे पर सूजन, मुख्‍यत: तीन कारणों से आती है: नींद पूरी न होना या आपकी किडनियों का सही तरीके से कार्य न करना या हद्य का सही से रक्‍त संचार न करना। अगर आप पर्याप्‍त नींद लेते हैं लेकिन फिर भी चेहरे पर सूजन बनी हुई रहती है तो अपनी किडनियों और हद्य की जांच करवा लें, लेकिन इससे पहले डॉक्‍टरी सलाह अवश्‍य ले लें।









सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


पेट की चर्बी कम करने के लिए ये है 5 बेहतरीन एक्सरसाइज






पेट की चर्बी कम करने के लिए ये है 5 बेहतरीन एक्सरसाइज






आपका चेहरा या हाइट कितनी भी अच्छी क्यूँ ना हो, लेकिन अगर आपका पेट बाहर निकला है, तो आपकी पूरी पर्सनालिटी ही खराब दिखेगी। आज हम आपको पेट अंदर करने के लिये महत्‍वपूर्ण व्यायाम सिखाएंगे, जिसे बिना जिम जाए किया जा सकता है।



नीचे दी हुई एक्सरसाइज से आप अपने लोअर एब्स की मासपेशियों को टाइट बना सकते हैं और पेट को अंदर कर सकते हैं। पेट की चर्बी को पूरी तरह से खतम होने में समय लगता है इसलिये अपनी डाइट पर हमेशा कंट्रोल रखें, नहीं तो चर्बी दुबारा वापस आ सकती है। पेट अंदर करने के लिये आपको कड़ी महनत करनी पडे़गी इसलिये यह मान कर ना चलें कि हफ्तेभर के अंदर ही आप स्लिम और ट्रिम दिखने लगेंगे। अगर आप सचमुच चाहते हैं कि आप स्मार्ट दिखें तो इन एक्सरसाइजों को नियमित रूप से करना ना भूलें।

साइड प्लैंक (Side Plank)


यह एक्सरसाइज प्लैंक की ही तरह होती है लेकिन इसमें शरीर को एक करवट पर रख कर एक हाथ के सहारे शरीर को खड़ा करना पड़ता है। शरीर को एक हाथ और दोनों पैरों के सहारे टिका कर 30 सेकेंड तक रखें। अपने पेट और जांघों को ऊपर की ओर उठाने की कोशिश करें। इसे दस बार करें। इससे अत्यधिक फैट बर्न होता है और अलग अलग अंगों की मासपेशियां मजबूत होती हैं।


सिंगल लेग स्ट्रेच (Single leg stretch)


पीठ के बल लेट कर अपने एक पैर को 90 डिग्री पर उठाते हुए अपने दोनों हाथों से पैर के टखने को पकडे़। उसके बाद उस पैर को नीचे रखें और दूसरे पैर को उठा कर पकडे़ और फिर छोड़ें। ऐसा 10 बार करें।
एब्डॉमिनल क्रंचेस (Abdominal crunches)


पीठ के बल लेट जाएं। घुटनों को मोड लें। अपने हाथों को मोडकर सिर के नीचे रख लें। अपने कंधों को जमीन से थोडा ऊपर की तरफ उठाएं। सामान्य स्थिति में आएं। यह एक्सरसाइज कम से कम 12 बार करें।
टीज़र (Teaser)


जमीन पर पीठ के बल लेंटे और अपने दोनों हाथों को कान की सीधाई में ऊपर उठाएं। सांस अंदर लें। फिर सांस को बाहर छोड़ते हुए अपने दोनों पैरों को जमीन से ऊपर उठाएं। ऐसा करने पर आपके शरीर की पोजिशन V जैसी बन जाएगी। फिर धीरे से सांस लें और अपनी सामान्य पोजिशन पर आ जाएं। अपने अंगूठों तथा अंदर की जांघों को कस कर जकड़े रहें, जिससे पैर टोन बनें। ऐसा 10 बार करें।

क्रंच (Crunches)


जिस तरह से हम पुश अप्‍स कई विधियों से कर सकते हैं ठीक उसी तरह से हम क्रंच भी कई विधियो से कर सकते हैं। आप लोवर एब्‍स और साइड फ्लैब के लिये अलग अलग वेरियेशन कर सकते हैं। आइरन मैन एक बहुत ही पॉपुलर व्यायाम है। आपको आइरन मैन पोजिशन में देर तक रहना है, जिससे आपका शेप निखर सके।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Friday, March 18, 2016

आज बना शनि-पुष्य तथा सुकर्मा योग का सुयोग, सभी को होगा फायदा



आज बना शनि-पुष्य तथा सुकर्मा योग का सुयोग, सभी को होगा फायदा









आज एकादशी के साथ शनि पुष्य का शुभ संयोग बन रहा है। साथ में ही सूर्य-चन्द्रमा की युति होने से सुकर्मा नामक योग भी बना हुआ है जो समस्त शुभ कार्यों हेतु अत्यन्त शुभ है। इन योगों के चलते नौकरी करने वाले लोगों को मान-सम्मान तथा अन्य लोगों को धन का लाभ होगा।



मेष - नए सामाजिक परिचय फायदेमंद होंगे। उन्नति का मार्ग प्रशस्त होगा। संतान से विवाद हो सकता है। कारोबार में लाभदायी परिवर्तन की संभावना बन रही है।



वृष - समाजिक कार्यों में आपकी सहभागिता रहेगी। धार्मिक यात्रा के योग हैं। कार्यस्थल पर आपके कार्यों की प्रशंसा होगी। कार्यक्षेत्र का विस्तार हो सकता है। आवास संबंधी समस्या रह सकती है।



मिथुन - राजकार्य में आ रही बाधा दूर होगी। राज्यपक्ष से लाभ एवं प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। नौकरी में लापरवाही हानिकारक होगी। पारिवारिक समस्याओं का समाधान होगा।



कर्क - कार्यक्षेत्र में लाभ बढ़ेगा। निवेश एवं बचत में वृद्धि होगी। पारिवारिक समस्याओं का समाधान होगा। कार्य में आशातीत सफलता मिलेगी। किसी असहाय की मदद करने का अवसर मिलेगा।



सिंह - किसी की देखा देखी न करें। कार्यक्षेत्र में प्रसन्नता का वातावरण बनेगा। व्यापार के क्षेत्र का विस्तार होगा। जीवनसाथी से संबंधों में मधुरता आएगी। नई योजनाएं सफल होंगी। देव स्थल पर भ्रमण होगा।



कन्या - नए व्यवसायिक सौदों में सफलता मिलने के योग बनते हैं। किसी की आलोचना, नकल न करें। मित्रों के सहयोग से अधूरे कार्य पूर्ण होंगे। अंतरराष्ट्रीय ख्याति मिलने के योग हैं।



तुला - कम समय में काम को पूरा करेंगे। धैर्य, संयम रखकर काम करें। व्यापार में लाभदायक सौदे होने से स्थिति मजबूत होगी। माता का स्वास्थ्य ठीक रहेगा। नौकरी में स्थानांतरण के योग बनेंगे।



वृश्चिक - आजीविका के नए संसाधन स्थापित होंगे। रुके हुए कार्य पूर्ण किए जा सकेंगे। वाहन सावधानी से चलाएं। विद्यार्थियों को परिश्रम से अच्छे फल मिलने की उम्मीद है। विरोधियों से सावधान रहें।



धनु - अपने व्यवहार को नम्र रखें। जल्दबाजी में लिए फैसले बदलने होंगे। पारिवारिक स्थिति संतोषप्रद रहेगी। व्यापार में किए परिश्रम का पूरा फल आज मिलेगा। नये संबंध बनेंगे।



मकर - नौकरी में नई जवाबदारी मिलने के योग हैं। पुराने रुके कार्य पूरे हो सकेंगे। गृहस्थ जीवन शांतिमय रहेगा। जोखिम-जवाबदारी के कार्यों से दूर रहें। संतान से सुख मिलेगा।



कुंभ - दिन की शुरुवात प्रसन्नचित्त होगी। पारिवारिक संबंध मधुर होंगे। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। नए कार्यों में सफलता मिलने की पूर्ण संभावना बनती है। आत्मविश्वास बढ़ेगा।



मीन - व्यावसायिक दृष्टि से समय लाभदायक और अनुकूल है। नए अनुबंध व्यापार को उन्नती देंगे। प्रियजनों से मिलने के संयोग प्राप्त होंगे। निजी जीवन में आवेश में आकर कोई कार्य न करें। सामाजिक आयोजनों में रुचि लेंगे।








सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


चेहरे पर फलों का रस मुहांसों को दूर करने में मदद करता है








चेहरे पर फलों का रस मुहांसों को दूर करने में मदद करता है












अपने चेहरे से मुहांसे हटाने के लिए हर प्रकार का तरीका अपनाने के लिए तैयार रहते हैं। आपके चेहरे के मुहांसों को हटाने में फलों का रस काफी फायदेमंद होता है। क्योंकि कई फलों में विटामिन सी होता है, अतः इनके प्रयोग से त्वचा जवान रहती है और पिम्पल्स चेहरे से दूर होते हैं। इसमें जलन से बचाने वाले भी कई गुण होते हैं तथा एंटी ऑक्सीडेंट्स भी काफी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। ये काफी महत्वपूर्ण तत्व हैं जिनकी मदद से त्वचा के दाग धब्बे और कोलेजन को पूरी तरह हटाया जा सकता है। कील मुंहासे का उपचार, कई बार ये एक्ने और दाग धब्बे हॉर्मोन की असमानता की वजह से चेहरे पर पैदा होते हैं। फलों के रस हॉर्मोन की समस्याओं के निपटारे में काफी सहायता करते हैं और आपको जवान रखने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं।


लोगो के चेहरे पर अगर एक मुहांसा है और वो उस पर ध्यान नही देते है। मुहांसे के कारण, जिससे उनके चेहरे पर एक से ज्यादा मुहांसे हो जाते है। किसी भी प्रयोग में सौ प्रतिशत परिणाम नही मिलता है। विभिन्न क्रीम और स्क्रब्स लगाने से इस समस्या को बेहतर स्तर तक कम किया जा सकता है, लेकिन अंत में इसका हमारे चेहरे पर गलत प्रभाव पड़ता है प्राकृतिक रस आपकी त्वचा के काले धब्बे को दूर करने की कोशिश करते है, आपके मुहांसों को दूर करते है और इनसे आपकी त्वचा पर कोई गलत असर भी नही पड़ता है।
रस मुहांसों को दूर करने के लिए (Juices to clear pimples)
एलोवेरा का रस (Aloe vera juice for pimples)

मुहांसों को दूर करने और चिकनी त्वचा पाने के लिए एलोवेरा ही पहला विकल्प है । पिम्पल के उपाय, एलोवेरा को काटकर इसके रस अलग करे अपने चेहरे पर पूरी तरह से लगाये मुहांसों और सुस्त त्वचा से छुटकारा पाने के लिए हफ्ते में 4-5 बार करे तुम इस रस में एक चुटकी हल्दी भी डाल सकते हो तुम्हे अच्छे परिणाम प्राप्त होंगे और आपकी त्वचा कोमल रहेगी ।
टमाटर का रस (Tomato juice to clear pimples)


मुहांसों से निपटने के घरेलू उपाय


टमाटर का रस एक असरदार प्राकृतिक रस है । मुहासे से छुटकारा, जो दानो और काले धब्बो के उपचार में बहुत अच्छा काम करता है, इससे मुहांसों के निशान भी हलके हो जाते है । एक छोटा टमाटर ले कर इसे काटे, इसका रस निकाल ले फिर इसे अपने चेहरे पर लगाये और कुछ समय के लिए छोड़ दे उसके बाद अपना चेहरा ठन्डे पानी से धो ले सप्ताह में दो से तीन बार ये प्रक्रिया करे आपको अच्छे परिणाम मिलेंगे ।
खरबूजे का रस (Cantaloupe juice for reducing pimples)

खरबूजा एक स्वादिष्ट मीठा फल है । जो हमारी सेहत के लिए भी अच्छा होता है ।एक खरबूजा ले उसके छोटे छोटे टुकड़े करे और उसका रस बनाने के लिए पीस ले अब इसे अपने चेहरे पर लगाये कुछ समय रखे और फिर ठन्डे पानी से धो ले । खरबूजे में त्वचा के स्वास्थ्य के लिए कुछ विटामिन होते है, जिससे आपकी त्वचा को लाभ मिलता है । आपके चेहरे की त्वचा मुलायम होती है ।
संतरे का रस (Orange juice for pimples)

स्वादिष्ट संतरे के रस में विटामिन भरपूर मात्रा में होता है । इससे चेहरे की त्वचा पर चमक आती है । पिम्पल हटाने के उपाय, रोज एक गिलास संतरे का रस पीने से चेहरे का रंग निखरता है और मुहांसों से मुक्ति मिलती है ।
गाज़र का रस (Carrot juice for avoiding pimples)

गाज़र के रस के उपयोग से आपको बेहतर परिणाम मिलेंगे रोज सुबह खाली पेट एक गिलास गाज़र का रस आपकी त्वचा को साफ़ रखता है और चेहरे से मुहांसों को दूर करता है लगातार इस तरीके से आपको सही परिणाम भी मिलेंगे ।
नींबू का रस (Lemon juice for treating pimples)

नींबू के रस आपके चेहरे के दानो को बाहर निकालने में मदद करता है । नींबू का रस निचोड़ कर एक क्यू की नोक की मदद से कुछ बूंदे चेहरे पर जहाँ दाने है वहां लगाये, एक नींबू में वो प्राकृतिक गुण होते हे जिससे चेहरे के काले धब्बे हल्के होते है और दाने कम होते है ।


त्वचा के मुहांसों को हटाने के प्राकृतिक घरेलू नुस्खे

इन प्राकृतिक रसो को आप घर पर ही बनाते हो ,इसलिए आपको इनके उपयोग से कोई गलत प्रभाव भी नही पड़ता है ।
फलों के रस में मौजूद विटामिन (Vitamins present in juices)

फलों के रस में विटामिन्स होते हैं जिनकी मदद से एक्ने दूर होता है और त्वचा काफी आकर्षक बनती है। फलों में मौजूद विटामिन सी आपकी त्वचा पर मौजूद एक्ने को दूर करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह आपकी त्वचा की परतों से सारे ऑक्सीडेंट्स निकालने में भी काफी उपकारी है। अगर आप विटामिन से का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो आपके शरीर के सारे घाव काफी जल्दी ठीक हो सकते हैं। सारे फलों के रसों में नींबू का रस चेहरे से एक्ने और महीन रेखाएं पूरी तरह हटाने के लिए काफी प्रभावी उपचार है। आप जब तेज़ चिलचिलाती धूप से वापस आएं तो नींबू का रस बनाएं। इससे आपकी प्यास अच्छे से बुझेगी और आपकी त्वचा और स्किन टोन बिलकुल नियंत्रित रहेगा।
रंग वाले फलों के रस (Fruit juices with color)

कई लोग रंग के आधार पर फलों के रस का सेवन करते हैं। नारंगी जैसे भड़कीले रंगों से वे ज़्यादा प्रभावित होते हैं और इसी रंग के रसों का सेवन करना पसंद करते हैं। नीचे उन फलों के नाम दिए हुए हैं जिनसे आप चमकदार रंग का रस निकाल सकते हैं।
पपीता (Papaya for treating pimples)

आप अब घर बैठे पके पपीते के माध्यम से पपीते का रस बना सकते हैं। इसके लिए आधा पपीता लें और इसकी त्वचा और बीजों को निकाल दें। इससे एक पल्प बनाएं और इसमें चीनी डालें। इस पल्प को एक गिलास में लें तथा एक ब्लेंडर की मदद से इसे इस तरह पीसें कि कोई दाना ना रह जाए। एक बार यह हो जाने के बाद इसमें पानी और काला नमक मिलाएं। इसे पी लें और त्वचा की परतों से ऑक्सीडेंट्स को दूर करें।
संतरे का रस (Juice with orange)


मुहांसे हटाने के घरेलू उपाय

बाज़ार से संतरे ले आएं और इसका रस निकालें तथा इसमें नमक और चीनी मिलायें। आपको और ज़्यादा फायदा होगा अगर आप इसमें चीनी कम डालें और प्राकृतिक रस ही निकालें। मुहासे की दवा, संतरे का रस विटामिन ए और सी से भरपूर होता है। इससे आपकी त्वचा के ऑक्सीडेंट्स निकलेंगे और चेहरे से एक्ने भी पूरी तरह ठीक हो जाएगा। संतरे के रस की मदद से चेहरे की टोन पर जलन की समस्या भी पूरी तरह ठीक हो जाती है।

मीठे आलू का रस (Sweet potato juice cures pimples)

इस चमकदार रस को बनाने के लिए आपको मीठा आलू और पीली मिर्च की आवश्यकता होगी। 2 गाजरों तथा 2 मीठे आलूओं को छीलें तथा किस लें। आलू आधे उबले हुए होने चाहिए। इसमें आधी पीली मिर्च का प्रयोग करें। इन सबको अच्छे से ग्राइंड कर लें और इससे रस निकाल लें। पल्प को निचोड़ें और इससे रस निकालें। इस रस को पी लें और एक्ने से मुक्त त्वचा पाएं।
वेजिटेबल जूस (Vegetable juice for pimples)

यह काफी रंगीन रसों में से एक है और इसे नीले और बैंगनी रंग के फलों की मदद से बनाया जाता है। आपको इसके लिए कुछ फलों और सब्ज़ियों की ज़रुरत होगी, जैसे रास्पबेरी, ब्लूबेरी, लाल मिर्च, लाल बंदगोभी, तरबूज़ तथा बीट। इन सबको पीसकर इनका पल्प बना लें। ये सारे फल और सब्ज़ियाँ एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं। मुहासे होने का कारण, इनकी मदद से आपकी त्वचा को उन प्रदूषक तत्वों से सुरक्षा प्राप्त होगी जो कि पर्यावरण में पाए जाते हैं। इस रस को रोज़ाना पीने का प्रयास करें तथा एक्ने और महीन रेखाओं की समस्या से पूरी तरह निजात पाएं।
नींबू और बेरी का रस (Berry juice with lime for pimples)

चेहरे पर दाने के उपाय, थोड़ी सी बेरी लें और इसे अच्छे से ग्राइंड करके इसका पल्प बना दें। इस पल्प को एक गिलास में लें तथा इसमें पर्याप्त मात्रा में चीनी और नमक डालें। इसे पहले थोड़े से पानी के साथ मिलाएं। एक बार जब इसमें चीनी और नमक अच्छे से घुल जाएं तो इसमें थोड़ा और पानी डालें। अगर आपको ठन्डे पानी से लगाव है तो इस मिश्रण में थोड़े बर्फ के टुकड़े और एक गिलास पानी मिलाएं। यह एक काफी फायदेमंद रस है जिसकी मदद से आप एक्ने और मुहांसों से दूरी बनाए रख सकते हैं।

















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।