Friday, February 26, 2016

डाइटिंग, एक्सरसाइज नहीं, सिर्फ खड़े रहने से घट जाएगा मोटापा

डाइटिंग, एक्सरसाइज नहीं, सिर्फ खड़े रहने से घट जाएगा मोटापा




दिन में कम से कम छह घंटे खड़े रहने से मोटापा होने की संभावना 32 फीसदी घट सकती है। जर्नल मायो क्लीनिक में प्रकाशित एक शोध में यह दावा किया गया है। अमेरिकन कैंसर सासायटी के केरेम शुवल की अगुवाई में एक शोध टीम ने 2010 से 2015 के बीच 7,000 से अधिक वयस्कों पर मोटापे और चयापचय के खतरे और खड़े रहने की आदत के बीच संबंध का अध्ययन किया।



शोध के मुताबिक, पुरूषों में दिन के एक चौथाई समय यानी छह घंटे खड़े रहने का संबंध मोटापा होने की संभावना में 32 प्रतिशत कमी के रूप में देखा गया। आधे समय खड़े रहने से मोटापे होने की संभावना में 59 प्रतिशत की कमी पायी गई। लेकिन तीन चौथाई से ज्यादा समय खड़े रहने का मोटापे के खतरे में अधिक कमी से कोई संबंध नहीं पाया गया।




महिलाओं में दिन के चौथाई, आधे या तीन-चौथाई समय तक खड़े रहने का संबंध पेट के मोटापे की संभावना में क्रमश: 35 , 47 और 57 प्रतिशत कमी के रूप में देखा गया।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


इन 5 तरीकों से रोकें झड़ते, सफेद होते और कमजोर बाल



इन 5 तरीकों से रोकें झड़ते, सफेद होते और कमजोर बाल


अनियमित दिनचर्या के चलते लोगों को अपने बालों के रख रखाव का समय नहीं मिल पा रहा है। शहरों में बढ़ते प्रदूषण, केयरलेसनेस या कई बार वंशानुगत कारणों से भी लोगों के बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं। ऐसा देखा गया है कि कई बार लाखों रुपया हेयर ट्रीटमेंट प्लान्स में खर्च करने के बाद भी लोगों को झड़ते-कम होते बालों की समस्या से छुटकारा नहीं मिलता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कई ऐसे आसान तरीके हैं जिनकी मदद से आप घर बैठे ही झड़ते बालों की समस्या पर काफी हद तक काबू पा सकते हैं। हम आपको यहां कुछ ऐसे ही नुस्खों के बारे में बता रहे हैं।
1. लौकी और ऑयल का मिक्स लगाएं- लौकी और उसके गुणों से हम सभी अच्छी तरह वाकिफ हैं। लगभग सभी घरों में लौकी की सब्जी खाई जाती है जो कि बहुत गुणकारी है लेकिन क्या आप जानते हैं कि लौकी आपके झड़ते बालों की दिक्कत में भी बहुत फायदेमंद हो सकती है। यदि आप लौकी का रस ऑलिव ऑयल या तिल के तेल में मिला कर लगाएं तो यह आपके झड़ते बालों के लिए बहुत लाभप्रद हो सकता है।
2. नहाने से पहले करें इस तेल से मालिश- नारियल का तेल बालों के लिए बहुत अच्छा होता है यह सभी को मालूम है लेकिन यदि इसी नारियल के तेल को गर्म करके आप थोड़ा नींबू और करी पत्ते को उसमें तब तक गर्म करें जब तक कि करी पत्ते काले ना हो जाएं। इसके बाद इस तेल को यदि सर में लगाया जाए तो यह झड़ते बालों के लिए बेहद लाभप्रद सिद्ध हो सकता है।
3. बादाम और आंवला- यदि आपके बाल तो घने हैं लेकिन उनका कालापन चला गया है तो बादाम और आंवले के तेल को मिलाकर लगाना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। बता दें कि यह दोनों ही तेल बालों के लिए लाभदायक होते हैं और यदि इन दोनों को मिलाकर लगाया जाए तो यह आपके बालों पर कमाल का असर करते हैं।
4. चिप-चिप आज भी है हिट- चिप-चिप होने के चलते युवाओं में कम लोकप्रिय होता चला गया सरसों का तेल बालों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। लेकिन इसके चिपचिपेपन के चलते लोगों ने इसका उपयोग करना बहुत कम कर दिया। यदि 250ग्राम सरसों के तेल में आप 60 ग्राम हिना मिलाकर इसे तब तक उबालें जब तक कि हिना पूरी तरह ना जल जाए। इसके बाद इस तेल को नियमित रूप से इस्तेमाल करें।
5. प्याज का पल्प है कमाल- प्याज के पल्प को नहाने से पहले 10 मिनट यदि बालों की जड़ों में लगा कर छोड़ दें तो यह आपके झड़ते बालों को काफी हद तक रोक सकता







सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


घर से निकलने के पहले जरूर रखना चाहिए इन बातों का ध्यान


घर से निकलने के पहले जरूर रखना चाहिए इन बातों का ध्यान


ज्योतिष शास्त्र में शकुन तथा अपशकुन के ऊपर कई ग्रंथ रचे गए हैं। इन ग्रंथों में कई इस प्रकार के प्रयोग बताए गए हैं जिनके उपयोग से आपके सभी काम सहज ही बन जाएंगे। इनमें ऐसी कई छोटी-छोटी बातें बताई गई हैं जिनका ध्यान रखने पर कार्य में सफलता मिलने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।

उदाहरण के लिए प्रत्येक दिन डेढ़ घंटे राहू काल का समय होता है। इस समय के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। अन्यथा उस कार्य में निश्चित रूप से हानि होती है। परन्तु जो काम इस समय से पूर्व ही शुरु हो चुका है उसे बीच में नहीं छोड़ना चाहिए। जानिए किस वार को कब राहूकाल होता है।

सोमवार - प्रातः 7.30 बजे से 9.00 बजे तक 
मंगलवार - दोपहर 3.00 बजे से 4.30 बजे तक
बुधवार - दोपहर 12.00 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक
गुरुवार - दोपहर 1.30 बजे से 3.00 बजे तक
शुक्रवार - प्रातः 10.30 बजे से 12.00 बजे तक
शनिवार - प्रातः 9.00 बजे से 10.30 बजे तक
रविवार - सायंकाल 4.30 बजे से 6.00 बजे तक

इसके साथ ही घर से निकलते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे कि हमारा प्रत्येक कार्य सफल हो। आइए जानते हैं कि यात्रा को सफल बनाने के लिए किस दिन घर से निकलते समय क्या करना चाहिए.

सोमवार को यात्रा पर रवाना होने से पहले दर्पण में अपना मुंह देख लेना चाहिए। इससे जिस भी काम के लिए यात्रा पर निकल रहे हैं, वह कार्य अवश्य पूर्ण होता है। 

मंगलवार को घर से बाहर कदम रखने के पहले कुछ मीठा यथा गुड़ खाकर निकलना चाहिए।

बुधवार को साबुत धनिया खाकर निकलना शुभ रहता है।

गुरुवार को घर से बाहर कदम रखने के पहले थोड़ा सा जीरा मुंह में रख लेना चाहिए, इससे पूरा दिन अच्छा बीतता है

शुक्रवार को मीठा दही खाकर घर से बाहर निकलना अत्यन्त शुभ रहता है। 

शनिवार को घर से निकलने के पहले अदरक के ताजा काटे हुए एक-दो टुकड़े मुंह में रखने से काम मे सफलना मिलने के अवसर बढ़ जाते हैं। 

रविवार को घर से निकलने के पहले घर से पान खाकर निकलना शुभ होता है



सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


इन घरेलू नुस्खों से दूर होगी गैस और कब्ज की समस्या, 10 टिप्स



इन घरेलू नुस्खों से दूर होगी गैस और कब्ज की समस्या, 10 टिप्स




अगर आप गैस और कब्ज से परेशान हैं और बिना मेडिसन लिए ठीक होना चाहते हैं तो आपके घर में उपलब्ध कुछ चीजें ही ये काम कर सकती हैं। आइए जानते हैं घर में आसानी से उपलब्ध ऐसी चीजों के बारे में जो आपको गैस व कब्ज से परमानेंट राहत दे सकती हैं।
1. संतरा- संतरा विटामिन सी का शानदार माध्यम है।� इसमें प्रचुर मात्रा में फाइबर भी पाया जाता है। रोजाना एक संतरा सुबह और एक शाम को खाने से कब्ज की समस्या से राहत मिलती है। हालांकि अगर आप संतरे में मौजूद सफेद रेशों को बिना हटाए खाएं तो यह ज्यादा फायदेमंद है।
2. किशमिश- संतरे की ही तरह किशमिश में फायबर और नैचुरल लक्सएटिव्ज होता है। एक मुट्ठी किशमिश को पूरी रात पानी में भिगोएं और सुबह खाली पेट इसे खाएं। इससे ना केवल सामान्य व्यक्ति को बल्कि गर्भवती महिलाओं को भी फायदा होता है।
3. नींबू- पाचन को संतुलित करने के लिए नींबू एक रामबाण उपाय है। इसमें मौजूद लवण ना केवल आपका पेट ठीक कर देता है बल्कि आंतों को भी साफ रखता है। नींबू के रस में नमक मिलाकर सुबह-सुबह पीने से पेट साफ रहता है और गैस और कब्ज में राहत मिलती है।
4. पालक - कब्ज दूर करने के लिए 100 ग्राम पालक का ज्यूस सुबह इतने ही पानी में मिलाकर पीने से चमत्कारिक फायदा मिलता है। यह आपकी आंतों को मजबूत करता है और साफ भी करता है।
5. त्रिफला चूर्ण - त्रिफला तीन श्रेष्ठ औषधियों हरड, बहेडा व आंवला के पिसे मिश्रण से बने चूर्ण को कहते है। इस चूर्ण को सुबह खाली पेट गर्म पानी से या फिर शहद के साथ लिया जाना चाहिए। रात में सोने से पहले भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
6. पुदीना- खाना पचाने के लिए पुदीना सबसे असरकार चीज है। पुदीने के पत्तों को चबाकर खाने से पेट हल्का हो जाता है। चाहें तो इसकी चाय भी बनाकर पी सकते हैं।
7. अलसी- कब्ज और गैस की समस्या के लिए अलसी असरकारक माना गया है। इसमें भी फायबर की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। अलसी के बीजों का पाउडर बनाकर गर्म पानी के साथ लेने से कब्ज-गैस की समस्या से निजात मिलती है।
8. जीरा - छाछ या पानी में से किसी भी एक में भुने हुए जीरे का पाउडर मिलाकर पिने से अपच और गैस की समस्या दूर होती है। छाछ में मिलाकर पीने से छाछ का भी स्वाद बढ़ जाता है।
9. सुखी मेथी के दाने - मेथी के दानों को कब्ज और गैस की समस्या के लिए रामबाण उपाय बताया गया है। मेथी के दानों में काला नमक मिलाकर इस्तेमाल करें, तुरंत राहत मिलेगी।
10. अदरक - अदरक का उपयोग गैस और खांसी-जुकाम दूर करने के लिए किया जा सकता है। गैस होने पर अदरक के टुकड़ों को धीरे-धीरे चूसें, जल्द राहत मिलेगी। अदरक के टुकड़ों में नमक मिलाकर चूसने से खांसी में भी राहत मिलती है।











सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Saturday, February 6, 2016

पिंपल फोड़ने से पहले जान लें ये बातें

पिंपल फोड़ने से पहले जान लें ये बातें


क्‍या आपके चेहरे पर पिंपल निकलता है तो आप उसे फोड़ देते हैं? अगर हां, तो आपको ऐसा बिल्‍कुल भी नहीं करना चाहिये। चेहरे पर निकले मुंहासे को कभी फोड़ना नहीं चाहिये नहीं तो, चेहरे पर दाग पड़ जाता है और चेहरा बहुत ही ज्‍यादा खराब दिखने लगता है। पिंपल को फोड़ने पर इंफेक्‍शन हो जाता है, जो कि और भी ज्‍यादा घातक है। मुहासों ने गंभीर रूप ले लिया हो, तो त्वचा रोग विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।

पिंपल फोड़ने के नुकसान


  • पिंपल को फोड़ने से वह त्‍वचा के आसपास के ऊतकों में चला जाता है। इससे उस जगह पर कई सारे रोगाणु फैलने के चांस बढ़ जाते हैं। ऐसा करने पर भयंकर इंफेक्‍शन बढ़ जाता है।
  • जब आप पिंपल फोड़ते हैं, तो आप चेहरे पर एक गहरा घाव बना देती हैं, जिससे वह घाव समय के साथ बढ़ता चला जाता है और वह एक दाग का रूप ले लेता है।
  • पिंपल फोड़ने से चेहरे पर लाल रंग के दाग बन जाते हैं, जो कि कई दिनों तक फूले नजर आते हैं। यह दाग मेकअप से भी नहीं छुपते।
  • क्‍या आप जानती हैं कि एक पिंपल फोड़ने से चेहरे पर दूसरा पिंपल जल्‍दी ही निकल आता है।

पिंपल के लिए अपनाएं ये घरेलू उपचार


अगर चेहरे पर मुंहासे हैं, तो कुछ घरेलू उपायों को आजमाना चाहिये, जिससे वह जल्‍द से जल्‍द ठीक होना शुरु हो जाएं।
  • चंदन और हल्दी पावडर का पेस्ट दूध के साथ मिलाकर बना लें। पानी के साथ घिसा हुआ जायफल भी एक्ने और पिंपल के इलाज में कारगर होता है।
  • ग्वारपाठे के रस के नियमित सेवन से त्वचा के कई रोग खत्म होते हैं। ग्वारपाठे का रस सीधे त्वचा पर भी लगाया जा सकता है। इसे आधा कप सुबह शाम लेना चाहिए। गर्भवती महिलाएँ इसका सेवन न करें।
  • रात को सोने से पहले चेहरे को अच्छी तरह से साफ करें। एक चम्मच खीरे के रस में हल्दी मिलाकर चेहरे पर लगा लें। आधे घंटे बाद धो लें।

  • एक चाय के चम्मच भर जीरे का पेस्ट बना लें। चेहरे पर एक घंटे तक लगा रहने दें। बाद में धो लें।
  • पिंपल ठीक करने के लिए चेहरे पर नीम का फेस पैक लगाएं। ताजी नीम की पत्तियां और चंदन पाउडर का लेप बना लें। इसे 15 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें और फिर चेहरा ठंडे पानी से धो लें।

इसके साथ-साथ, जब आपको पिंपल हों तो अपनी डाइट का खास खयाल रखें। अपनी डाइट में सुधार करें। ऑइली फूड को इग्नोर करें और फल और सब्जियां खाएं। साथ ही ढेर सारा पानी पीएं। इससे शरीर की गंदगी बाहर निकल जाएगी।

गले की खराश को दूर करने के लिए कुछ कारगर घरेलू नुस्खे

गले की खराश को दूर करने के लिए कुछ कारगर घरेलू नुस्खे



सर्दियों के मौसम में सर्दी-जुकाम व गले में खराश होना एक आम बात है। सर्दी-जुकाम होने से पहले आपके गले में दर्द व खराश जैसे लक्षण दिखाई देने लगते हैं।इस लेख में जानें गले में खराश को दूर करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे।
gale me khrash ke gharelu nuskhe


लंबे समय तक गले में खराश होना काफी तकलीफदेह हो जाता है साथ ही यह आपके गले को भी जाम कर देता है। गले मे होने वाली खराश अन्य बीमारियों की तरह लंबे समय तक नही रहती लेकिन कुछ ही दिनों में यह आपको पूरी तरह से प्रभावित कर बीमार कर देती हैं।

क्या है गले की खराश

गले में खराश एक बहुत ही सामान्य श्वसन समस्या है। यह मूल रूप से तब होती है जब गले की नाजुक अंदरूनी परत वायरस/ बैक्टीरिया से संक्रमित होती है, जिसके परिणामस्वरूप सूजन, स्राव खांसी और शरीर के सामान्य संक्रमण के प्रभाव के लक्षण होते हैं। कभी-कभी लंबे समय तक गले में रहने वाली खराश किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर को दिखाएं और पूरी चिकित्सा लें।

आमतौर पर गले की खराश का कारण वायरल होता है और यह कुछ समय बाद अपने आप ठीक हो जाता है लेकिन यह जितने दिन रहता है काफी कष्ट देता है। जानिए गले की खराश को दूर करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में-

  • हर 2 घंटे गर्म पानी में नमक डालकार गरारा करें क्योंकि गर्म पानी और नमक गले में ठंडक देते हें, एंटीसेप्टिक होने के नाते यह संक्रमण को कम करने में मदद करता है।
  • रात को सोते समय दूध और आधा पानी मिलाकर पिएं।
  • रूखा भोजन, सुपारी, खटाई, मछली, उड़द इन चीजों से परहेज करें।
  • 1 कप पानी में 4-5 कालीमिर्च एवं तुलसी की 5 पत्तियों को उबालकर काढ़ा बना लें और इसे धीरे-धीरे चुसकी लेकर पिएं।
  • ज्यादा तैलीय व मैदे से बनी चीजों का सेवन करने से बचें।
  • गले में खराश होने पर जब भी प्यास लगें तो गुनगुना पानी ही पिएं।

  • कालीमिर्च को 2 बादाम के साथ पीसकर सेवन करने से गले के रोग दूर हो सकते हैं।
  • शरीर में टॉक्सिन की मौजूदगी गले की खराश को और बढ़ा देती है, इसलिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ का सेवन करें, ताकि टॉक्सिन शरीर से बाहर निकल सकें।
  • अदरक की चाय भी गले की खराश में बहुत लाभदायक है।
  • दो-तीन लौंग के साथ एक-दो लहसुन की कलियों को पीस कर पेस्ट बना लें इसमें थोड़ा सा शहद मिला लें। इस मिश्रण को दिन में दो या तीन बार लें।
  • दूध में थोड़ी सी हल्दी डालकर इसे उबाल लें और बिस्तर पर जाने से पहले इसे पीएं। हल्दी में एंटीस्पेटिक होने की वजह से यह गले में आराम पहुंचाएंगा।














बेदाग त्‍वचा के लिए अपनायें ये घरेलू नुस्‍खे

बेदाग त्‍वचा के लिए अपनायें ये घरेलू नुस्‍खे


पार्लर और सौंदर्य निखारने की नई तकनीक हमारी मुश्किलें आसान तो करती हैं, लेकिन कई बार इनके बुरे प्रभाव भी पड़ते हैं। कास्मेटिक्स से आज पूरा बाज़ार भरा पड़ा है और हर ब्रैंण्ड आपको खूबसूरत बनाने का वादा करता है। अपने फेवरेट ब्रैण्ड पर तो हम सभी विश्वास करते हैं। लेकिन त्वचा के मामले में अगर नये विकल्पों की बात करें तो शायद ही हममें से कोई इन्‍हें अपनाने की कोशिश करेगा। महंगे क्रीम, पार्लर या स्पा की बात करें तो शायद खूबसूरती आपको हर तरफ नज़र आयेगी। लेकिन क्या वाकई में इनके अलावा खूबसूरत दिखने का कोई विकल्प नहीं।

Beautiful Skin in Hindi


डाक्टरों का मानना है कि सौंदर्य के वे उत्पाद जिनसे पूरा बाज़ार भरा पड़ा है उनके कारण त्वचा संबंधी समस्याएं भी आ सकती हैं। अगर हम कुछ ऐसे नुस्खों की बात करें जो आपकी दादी नानी के ज़माने से सौंदर्य के लिए इस्तेमाल होते आ रहे हैं तो आप उसे ज़रूर आज़मायेंगे। ऐसे भी प्राकृतिक उत्पाद हैं जिन्हें हम भूल चुके हैं और जो सौंदर्य के लिए आवश्यक हैं।

क्लींन्जर हो तो ऐसा 

एक टमाटर के रस को दो बड़े चम्मच दूध के साथ मिला लें। इस मिश्रण को चेहरे पर लगायें और 10 से 15 मिनट तक छोड़ दें, फिर चेहरा पानी से धो लें। विशेषज्ञों का भी मानना है कि इस क्लीनज़र से ना सिर्फ त्वचा आयल फ्री होती है बल्कि डेड सेल्स भी निकल जाते हैं।

क्रीमी मसाज

चेहरे पर निखार लाने के लिए क्रीम लगायें और अपवर्ड सर्कुलर मूवमेंट में चेहरे की मसाज करें। इससे आपकी त्वचा में निखार तो आयेगा ही साथ ही त्वचा के डेड सेल्स भी निकल जायेंगे।

अण्डे से निखारें चेहरे की चमक

तैलीय त्वचा वालों को चेहरे पर अण्‍डे का सफेद भाग लगाना चाहिए और शुष्क त्वचा वालों को अण्डे की जर्दी। अण्डे को चेहरे पर लगाने से त्वचा के रोमछिद्र सीमित होते हैं और झुर्रियां भी देर से पड़ती हैं।

Beautiful Skin in Hindi


यह भी ट्राई करें

प्राकृतिक तौर पर खूबसूरती पाने के लिए चेहरे पर फलों का रस लगाकर 10 से 15 मिनट तक छोड़ दें। यह एक आसान सा घरेलू नुस्खा है। झुर्रियों से बचने के लिए आप सेब, नीबू या अनानास का रस लगा सकते हैं। क्योंकि फलों में एस्ट्रिसन्जेंट के साथ ब्लीचिंग के गुण भी होते हैं।

ब्लैक हैड्स को कहें गुडबाय

सभी उम्र के लोगों में यह समस्या बहुत आम है जिसका इलाज बहुत आसान है। ब्लैंकहैड्स निकालने के लिए एक बड़े चम्मच से पीसी हुई काली मिर्च लें और इसमें दही मिला लें। इस मिश्रण को 10 से 15 मिनट तक चेहरे पर लगायें और चेहरा धो लें।

रेशमी बालों के लिए

ककड़ी, केले, टमाटर और दही का पेस्ट बनायें और बालों को धोने के बाद इस मिश्रण को बालों में लगायें। यह प्राकृतिक कंडीशनर है।  


सुंदर दिखने के लिए आप यह तकनीक तो अपना सकते हैं लेकिन इससे भी महत्वपूर्ण है आपका खान-पान और व्यायाम। एक बहुत पुरानी कहावत है कि आप जैसा खाते हैं वैसे ही दिखते हैं। अपनी डायट में फाइबर युक्त फल, हरी सब्जि़यां और एण्टीआक्सिडेंट शामिल करें। कम से कम 7 से 8 घंटों की नींद ज़रूर लें क्योंकि आराम करना भी अच्छी त्वचा के लिए आवश्यक है।

स्वस्थ रहना है तो इन 20 बातों को अनदेखा न करें

<<<< स्वस्थ रहना है तो इन 20 बातों को अनदेखा न करें>>>>>>>>>>>>
1. आजकल बढ़ रहे चर्म रोगों और पेट के रोगों का सबसे बड़ा कारण दूधयुक्त चाय और इसके साथ लिया जाने वाला नमकीन है. 
2. कसी हुई टाई बाँधने से आँखों की रोशनी पर नकारात्मक प्रभाव होता है 
3. अधिक झुक कर पढने से फेफड़े,रीढ़,और आँख की रौशनी पर बुरा असर होता है
4. अत्यधिक फ्रीज किये हुए ठन्डे पदार्थों के सेवन से बड़ी आंत सिकुड़ जाती है.
5. भोजन के पश्चात स्नान स्नान करने से पाचन शक्ति मंद हो जाती है इसी प्रकार भोजन के तुरंत बाद मैथुन, बहुत ज्यादा परिश्रम करना एवं सो जाना पाचनशक्ति को नष्ट करता है.
6. पेट बाहर निकलने का सबसे बड़ा कारण खड़े होकर या कुर्सी मेज पर बैठ कर खाना और तुरंत बाद पानी पीना है. भोजन सदैव जमीन पर बैठ कर करें. ऐसा करने से आवश्यकता से अधिक खा नहीं पाएंगे. भोजन करने के बाद पानी पीना कई गंभीर रोगों को आमंत्रण देना है.
7. भोजन के प्रारम्भ में मधुर-रस (मीठा), मध्य में अम्ल, लवण रस (खट्टा, नमकीन) तथा अन्त में कटु, तिक्त, कषाय (तीखा, चटपटा, कसेला) रस के पदार्थों का सेवन करना चाहिए
8. भोजन के बाद हाथ धोकर गीले हाथ आँखों पर लगायें. यह आँखों को गर्मी से बचाएगा.
9. नहाने के कुछ पहले एक गिलास सादा पानी पियें. यह हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से बहुत हद तक दूर रखेगा.
10. नहाने की शुरुवात सर से करें. बाल न धोने हो तो मुह पहले धोये. पैरों पर पहले पानी डालने से गर्मी का प्रवाह ऊपर की ओर होता है और आँख मस्तिष्क आदि संवेदन शील अंगो को क्षति होती है.
11. नहाने के पहले सोने से पहले एवं भोजन कर चुकने के पश्चात मूत्र त्याग अवश्य कर्रें. यह अनावश्यक गर्मी, कब्ज और पथरी से बचा सकता है.
12. कभी भी एक बार में पूर्ण रूप से मूत्रत्याग न करें बल्कि रूक रुक कर करें. यह नियम स्त्री पुरुष दोनों के लिए है ऐसा करके प्रजनन अंगों से सम्बंधित शिथिलता से आसानी से बचा जा सकता है. (कीगल एक्सरसाइज)
13. खड़े होकर मूत्र त्याग से रीढ़ की हड्डी के रोग होने की सम्भावना रहती है. इसी प्रकार खड़े होकर पानी पीने से जोड़ों के रोग ऑर्थरिटिस आदि हो जाते हैं.
14. फल, दूध से बनी मिठाई, तैलीय पदार्थ खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए. ठंडा पानी तो कदापि नहीं.
15. अधिक रात्रि तक जागने से प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है .
16. जब भी कुल्ला करें आँखों को अवश्य धोएं. अन्यथा मुह में पानी भरने पर बाहर निकलने वाली गर्मी आँखों को नुकसान पहुचायेगी.
17. सिगरेट तम्बाकू आदि नशीले पदार्थों का सेवन करने से प्रत्येक बार मस्तिष्क की हजारों कोशिकाएं नष्ट हो जाती है इनका पुनर्निर्माण कभी नहीं होता.
18. मल मूत्र शुक्र खांसी छींक अपानवायु जम्हाई वमन क्षुधा तृषा आंसू आदि कुल 13 अधारणीय वेग बताये गए हं इनको कभी भी न रोकें. इनको रोंकना गंभीर रोगों के कारण बन सकते हैं .
19. प्रतिदिन उषापान करने कई बीमारियाँ नहीं हो पाती और डॉक्टर को दिया जाने वाला बहुत सा धन बच जाता है.उषापान दिनचर्या का अभिन्न अंग बनायें.
20. रात्रि शयन से पूर्व परमात्मा को धन्यवाद अवश्य दें. चाहे आपका दिन कैसा भी बीता हो. दिन भर जो भी कार्य किये हों उनकी समीक्षा करते हुए अगले दिन की कार्य योजना बनायें अब गहरी एवं लम्बी सहज श्वास लेकर शरीर को एवं मन को शिथिल करने का प्रयास करे. अपने सब तनाव, चिन्ता, विचार आदि परमपिता परमात्मा को सौंपकर निश्चिंत भाव से निद्रा की शरण में जाएँ.

झटपट चेहरा चमकाने के 23 घरेलू नुस्खे

झटपट चेहरा चमकाने के 23 घरेलू नुस्खे
चमकता चेहरा किसे अच्छा नहीं लगता है, लेकिन फिर भी अधिकतर लोग इस दुविधा में रहते हैं कि आखिर वे कम समय में कैसे अपना चेहरा चमका सकते हैं। वैसे तो परफेक्ट स्किन पाना बहुत आसान काम नहीं है। इसके लिए सही खान-पान के साथ ही त्वचा की उचित देखभाल भी जरूरी है, लेकिन आजकल अधिकतर लोग समय की कमी के कारण त्वचा पर ज्यादा ध्यान नहीं दे पाते। इस वजह से स्किन डल हो जाती है। यदि आपके साथ भी यही समस्या है, तो हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे आसान घरेलू तरीके जिन्हें आप अपना लेंगे तो चेहरा चमकने लगेगा।
1. दो छोटे चम्मच बेसन में आधा छोटा चम्मच हल्दी मिलाएं। इस मिश्रण में दस बूंद गुलाब जल व दस बूंद नींबू मिलाकर फेंटे। उसके बाद थोड़ा कच्चा दूध मिलाकर पतला लेप बना लें। इस लेप को नहाने से पहले चेहरे पर लगाएं। आधे घंटे बाद चेहरे को धो लें। चेहरा चमकने लगेगा।
2. आंखों के नीचे काले घेरे हों तो रोजाना आंखों के आसपास कच्चे आलू के टुकड़े से हल्के हाथों से मसाज करें। कुछ ही दिनों में काले घेरे दूर हो जाएंंगे।
3. 1 चम्मच शहद लेकर उसे चेहरे पर हल्के हाथों से लगाएं। 15-20 मिनट लगा रहने दें, फिर चेहरा धो लें। तैलीय त्वचा हो तो शहद में चार-पांच बूंद नींबू का रस डालकर लगाएं।
4. जौ का आटा, हल्दी और सरसों का तेल पानी में मिलाकर उबटन बना लें। रोजाना शरीर पर मालिश कर गर्म पानी से नहाएं। दूध में केसर मिलाकर पिएं।
5. अखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है। अखरोट खाने से और इसके तेल से मसाज करने पर चेहरे की कांति बढ़ती है।
6. संतरे का जूस पिएं। संतरे के छिलकों को सुखाकर पेस्ट बना कर चेहरे पर लगाएं। यह काफी कारगर नुस्खा है।
7. मुल्तानी मिट्टी में गुलाब जल मिलाकर लगाने से रंगत निखरने लगती है।
8. दो चम्मच खीरे का रस, आधा चम्मच नींबू का रस और चुटकी भर हल्दी मिलाकर लगाएं।
9. चार चम्मच मुल्तानी मिट्टी, दो चम्मच शहद, दो चम्मच दही और एक नींबू का रस साथ मिलाकर त्वचा पर लगाएं। आधे घंटे बाद चेहरा धो लें।
10. रोज सुबह खाली पेट एक गिलास गाजर का जूस पीने से रंगत निखरने लगती है।
11. नीम त्वचा की रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाता है। इसके उपयोग से पिंपल्स दूर हो जाते हैं। चार-पांच नीम की पत्तियों को मुल्तानी मिट्टी में मिलाकर थोड़ा पानी डालें और पीस लें। यह लेप चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद चेहरा धो लें।
12. केला चेहरे की झुर्रियां मिटाता है। यह त्वचा में कसाव लाता है। पका केला मैश कर चेहरे पर लगाएं। आधे घंटे बाद चेहरा धो लें।
13. एक चम्मच शहद व एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएं। त्वचा निखर जाएगी।
14. जब भी बाहर जाएं तो सनस्क्रीन क्रीम या लोशन लगाएं। सूरज की कठोर किरणें त्वचा की रंगत को कम कर देती हैं।
15. ग्रीन टी एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। इसके नियमित सेवन से त्वचा के दाग-धब्बे दूर होते हैं।
16. खीरे का रस सांवलापन दूर करने में बहुत सहायक होता है। खीरे का रस निकालकर उसे चेहरे पर लगाकर 15 मिनट रहने दें। फिर चेहरा धो लें। चेहरा चमकने लगेगा।
17.रोज कम से कम आठ से दस गिलास पानी पीने से त्वचा पर झुर्रियां नहीं पड़तीं।
अनार में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो त्वचा को पूरी उम्र जवान बनाए रखने में मदद करते हैं। इसलिए रोजाना अनार का जूस पीने से रंगत निखरती है।
19. खाने में दाल को जरूर शामिल करें। दाल में प्रोटीन होता है। इसे खाने से त्वचा चमकदार बनती है।
20. स्वस्थ शरीर और स्वस्थ त्वचा के लिए कम से कम 8 घंटे की नींद जरूर लेनी चाहिए।
21. 1/2 चम्मच चिरौंजी को 2 चम्मच दूध में भिगो दें। कुछ घंटे बाद पीसकर पेस्ट बनाकर लगाएं। 15 मिनट बाद धो लें। इस पैक को नियमित रूप से डेढ़ महीने लगाने पर रंग निखरने लगता है।
22. कच्चा दूध त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है। थोड़ा कच्चा दूध लेकर उसे चेहरे पर मलें। सूख जाने पर उस पर खाने वाला नमक लगाकर धीरे-धीरे मसाज करें। इससे मृत त्वचा निकल जाएगी।
23. बेसन, हल्दी, नींबू, दही और गुलाब जल को मिलाकर लेप बनाकर चेहरे पर लगाएं। इस लेप को सप्ताह में एक बार लगाएं।