Wednesday, May 6, 2015

सेहत बनाये तथा कमजोरी भगाए " चुकंदर "

सेहत बनाये तथा कमजोरी भगाए " चुकंदर "

चुकंदर में फॉस्फोरस, क्लोरीन, आयोडीन, आयरन और विटामिन होते हैं। इसे खाने से हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है। इसमें मौजूद एंटीआक्सीडेंट शरीर को रोगों से बचाए रखते हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट होता है जो शरीर से आलस और थकान को दूर कर एनर्जी देता है।इसमें नाइट्रेट नामक तत्व  होता है जो रक्त के दबाव और दिल से जुड़ी समस्याओं को  कम करता है।
चुकंदर खाने से खून साफ होकर त्वचा में चमक आती है। इसमें आयरन काफी ज्यादा मात्रा में होता है। यह शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण कर एनीमिया की समस्या नहीं होने देता।
जिन महिलाओं को माहवारी से संबंधित समस्याएं हों, वे रोजाना एक गिलास चुकंदर का जूस पी सकती हैं। रोजाना एक गिलास चुकंदर, गाजर, पालक, आंवला और सेब से बना मिक्स जूस पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है। चुकंदर को नियमित खाने से कब्ज और बवासीर जैसे पेट संबंधी रोगों में लाभ होता है। इसे आप सलाद या सब्जी बनाकर भी खा सकते हैं।
एनीमिया में सुबह-शाम रोज 1 कप चुकन्दर का रस सेवन करना काफी फायदेमंद साबित होता है। जो लोग जिम में काफी वर्कआउट करते हैं, उनके लिए चुकंदर का रस बहुत फायदेमंद है। यह ऐसे लोगों की ऊर्जा का स्तर तुरंत सुधारता है। उच्च रक्तचाप के शिकार हैं तो इसे पीने से केवल 1 घंटे में आपका रक्तचाप सामान्य हो सकता है। चुकंदर का रस हाइपरटेंशन और हृदय संबंधी समस्याओं को दूर रखता है। खासतौर पर स्त्रियों के लिए यह  बहुत लाभकारी होता है। पीरियड्स से संबंधित कई समस्याओं में इसका सेवन लाभप्रद होता है।
पीलिया, हेपेटाइटिस और उल्टी के उपचार में लाभप्रद है। इसका रस गेस्ट्रिक अल्सर में भी फायदा करता है। चुकंदर में बिटेन नामक तत्व पाया जाता है, जो शरीर में टय़ूमर बनने की आशंकाओं को नष्ट कर देता है। इसे नियमित रूप से सलाद के रूप में खाते रहने से पेशाब की जलन में फायदा होता है। इसका सूप पथरी में  भी लाभदायक है।
खूबसूरती में चार चांद
लाल लाल चुकंदर ना सिर्फ आपको सेहतमंद रखता है, बल्कि खूबसूरती में भी चार चांद लगाता है।
इससे नाखून लाल, मजबूत एवं चमकदार हो जाते हैं। चुकंदर के रस में टमाटर का रस तथा एक चम्मच हल्दी का पाउडर मिला कर कुछ दिन लगातार सेवन करने  से त्वचा का रंग साफ हो जाता है। रूसी होने पर चुकंदर के रस में सिरका मिला कर सिर पर लगाएं। हाथ-पैर बहुत फटते हों तो चुकंदर को पानी में उबाल कर उस काढ़े में हाथ-पैर डुबो कर रखने से फटना बन्द हो जाता है। इसके ताजे पत्ते को मेहंदी के साथ पीस कर सिर पर लेप करने से बालों का गिरना बंद हो जाता है। इसके पत्तों को रगड़ कर मोच वाले स्थान पर रख कर पट्टी बांधने से चोट-मोच ठीक हो जाती है।
ध्यान रखें
इसका जूस हमेशा किसी अन्य सब्जी या फल जैसे गाजर, सेब, अनार आदि के जूस में मिला कर पीना चाहिए।

No comments:

Post a Comment