Tuesday, May 5, 2015

पेट की समस्याओं के लिए 'लहसुन' है गुणकारी


पेट की समस्याओं के लिए 'लहसुन' है गुणकारी 

लहसुन हर प्रकार के भोजन में प्रयोग किया जाता है। आप सोच भी नहीं सकते कि लहसुन की एक कली हमारे अंदर पैदा होने वाले अनेको रोगों का नाश कर सकती है। यह कई बीमारियों की रोकथाम तथा उपचार में प्रभावी है। जब आप कुछ भी खाने या पीने से पहले लहसुन खाते हैं तो आपकी ताकत बढ़ती है, तथा यह एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह कार्य करता है। सुबह खाली पेट लहसुन खाने से यह अधिक प्रभावकारी क्यों होता है? इससे बैक्टीरिया ओवरएक्सपोज़्ड हो जाते हैं तथा लहसुन की शक्ति से वे अपनी रक्षा नहीं कर पाते। इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभों की सूची कभी ख़त्म न होने वाली है। कई तकलीफों की अचूक दवा लहसुन का तेल लहसुन बवासीर, कब्ज़ और कान दर्द के उपचार में भी सहायक है। यदि आप बवासीर और कब्ज़ के उपचार में इसका प्रयोग करना चाहते हैं तो कुछ पानी उबालें तथा इसमें अच्छी मात्रा में लहसुन डालें।अपने भोजन में लहसुन का तड़का लगाइए, क्योंकि यह आपके फेफड़े को जानलेवा संक्रमण से बचा सकता है। एक नए अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है। निष्कर्ष के मुताबिक, लहसुन में एक रसायन पाया जाता है, जो सिस्टिक फाइब्रोसिस के मरीजों के फेफड़े में होने वाले संक्रमण के लिए जिम्मेदार जीवाणुओं का खात्मा करता है। सिस्टिक फाइब्रोसिस एक अनुवांशिक बीमारी है, जो फेफड़े को प्रभावित करता है। लहसुन में पाया जाने वाला रसायन 'एलिसिन' संक्रामक जीवाणुओं के समूह के खात्मे में प्रभावी भूमिका निभाता है। इन जीवाणुओं पर अधिकांश एंटिबायोटिक का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। एलिसिन का निर्माण लहसुन में स्वाभाविक तौर पर होता है, जो मिट्टी में पाए जाने वाले कुछ जीवाणुओं से उसकी रक्षा करता है।

No comments:

Post a Comment