Tuesday, May 26, 2015

गर्मियों में आने वाली नकसीर से दिलाये निजात : "गुलकंद"

गर्मियों में आने वाली नकसीर से दिलाये निजात : "गुलकंद"

यूं तो गुलकंद पूरे सालभर प्रयोग किया जा सकता है लेकिन गर्मियों में यह शरीर के लिए कवच का काम करता है। आइए जानते हैं इसके फायदों के बारे में।
गुलकंद के प्रयोग से कब्ज का नाश होता है, डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं रहती और जलन जैसी तकलीफों में आराम मिलता है।
गर्मी से आंखों में जलन व लालिमा, पेशाब में कमी, रुकावट या पीलापन, अधिक पसीना आना, त्वचा में खुजली या रंग फीका पडऩे जैसी परेशानियों में गुलकंद का इस्तेमाल लाभकारी होता है।
गुलकंद से गर्भाशय, आमाशय, मूत्राशय और मलाशय की बढ़ी हुई गर्मी दूर होती है।
यह दिमाग और आमाशय की शक्ति को बढ़ाता है। यदि भोजन करने के बाद गुलकंद खाया जाए तो यह दिमाग के लिए लाभदायक होता है।
प्रतिदिन 10-15 ग्राम गुलकंद सुबह और शाम दूध के साथ खाने से नकसीर का पुराने से पुराना रोग भी ठीक हो जाता है।
उच्च रक्तचाप (हाई ब्लड प्रेशर) से पीडि़त रोगी को प्रतिदिन 25-30 ग्राम गुलकंद खाने से कब्ज की समस्या नहीं रहती। गुलकंद रक्त विकार दूर करता है।
सुबह और शाम इसे खाने से अधिक पसीने व शरीर से बदबू आने की समस्या दूर होती है। पेट साफ रहता है, भूख बढ़ती है और शरीर में ताकत आती है।

No comments:

Post a Comment