Thursday, April 16, 2015

सौन्दर्यवर्धक "नारंगी"

सौन्दर्यवर्धक "नारंगी"

              आमाशय, यकृत, पीलिया, आँतों की सफाई, हृदय और दाँतों के रोग, मानसिक थकावट, खुश्की, सुस्ती,प्यास अधिक लगना, चेहरे पर अधिक फुंसियाँ होना आदि विकारों को दूर करने के लिए लम्बे समय तक नित्य नारंगी खाएं या रस पियें। स्वाद बढ़ने हेतु चीनी या मिश्री, सौंठ डाल सकते हैं। नारंगी के छिलके सुखा कर पीस लें। इसमें पानी मिलाकर चेहरे पर मलने से त्वचा मुलायम और सुन्दर होती है। ज्वर में नारंगी खाना या रस पीना लाभदायक है। हृदय की दुर्बलता दूर करने के लिए नारंगी का शर्बत लाभदायक है। अपच दूर करने हेतु नारंगी की कलियों पर पिसी हुई सौंठ और काला नमक डाल कर नित्य खाएं।



रोचक जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें 

No comments:

Post a Comment