Tuesday, September 27, 2016

Health benefits of dark chocolate



ज्यादा चॉकलेट खाना स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा नहीं होता है, लेकिन थोड़ी मात्रा में चॉकलेट खाने पर यह दवा की तरह काम करती है। जब भी कोई बच्चा चॉकलेट खाता है तो घर के बड़े उसे ये समझाते हैं कि चॉकलेट खाना उसकी हेल्थ के लिए नुकसानदायक हो सकता है। दरअसल, इसका एक कारण चॉकलेट के गुणों से अनजान होना भी है। जी हां, चॉकलेट में भी कुछ ऐसी खूबियां होती हैं, जिनके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। चलिए आज जानते हैं चॉकलेट की कुछ ऐसी ही खूबियों के बारे में। (यहाँ चॉकलेट से मतलब डार्क चॉकलेट से है जिसमे कोको बिन्स की मात्रा ज्यादा होती है। )





1.तनाव दूर करती है
चॉकलेट में मूड ठीक करने और तनाव दूर करने का गुण पाया जाता है। जब भी आपका मूड खराब हो थोड़ी चॉकलेट खाएं। अच्छा महसूस करने लगेंगे।

2.मानसिक बीमारियों में
चॉकलेट में फ्लेवेनॉल होता है। फ्लेवेनॉल खून का संचार बेहतर तरीके से करता है। इसलिए चॉकलेट खाने से मानसिक रोगों में लाभ होता है।

3.दर्द भी भगाती है चॉकलेट
चॉकलेट खाने से शरीर में एंडोफिजिन नाम का हार्मोन उत्सर्जित होता है। इसीलिए चॉकलेट खाने से दर्द कम होता है। यह एक नेचुरल पेनकिलर की तरह काम करती है।

4.डायबिटीज में भी
डार्क चॉकलेट में उपस्थित फ्लेवोनॉयड व ग्लाइकेमिक रसायन डायबिटीज कंट्रोल करने में सहायता करते हैं। चॉकलेट खाने से इंसुलिन का प्रतिरोध कम होता है, जिससे शरीर में शुगर का स्तर नियंत्रित रहता है।

5.दिल के लिए लाभकारी
चॉकलेट में कॉपर और पोटैशियम पाया जाता है। इसीलिए यह दिल से जुड़ी बीमारियों को दूर रखती हैं। चॉकलेट ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाती है। साथ ही, इसके नियमित सेवन से कोलेस्ट्रॉल भी हमेशा कंट्रोल में रहता है।

6.ब्लड प्रेशर में
चॉकलेट खाने से ब्लड प्रेशर हमेशा कंट्रोल में रहता है। डॉर्क चॉकलेट में बड़ी मात्रा में फ्लेवोनॉयड और एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं। चॉकलेट को थोड़ी-थोड़ी मात्रा में हफ्ते में दो या तीन बार खाने से ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायता मिलती है।

7.खांसी में करें उपयोग
क्या आप जानते हैं कि चॉकलेट खांसी में फायदेमंद होती है। लंदन के चिकित्सा शोधकर्ताओं ने कोको में मिलने वाले थियोब्रोमाइन तत्व से भरपूर ऐसी चॉकलेट तैयार की है। जिसे खाकर खांसी से छुटकारा पाया जा सकता है।

8.तुरंत एनर्जी के लिए
जिन लोगों को अचानक चक्कर आने या ब्लड प्रेशर लो होने की समस्या हो, उन्हें हमेशा अपने पास चॉकलेट रखना चाहिए। जब भी कमजोरी महसूस हो तुरंत चॉकलेट खा लें। इससे बॉडी को तुरंत एनर्जी मिलती है।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Health benefits of peanuts (mungfali) in Hindi






मूंगफली सेहत का खजाना है। साथ ही, यह वनस्पतिक प्रोटीन का एक सस्ता स्रोत भी हैं। रोज मूंगफली खाने के कई ऐसे फायदे होते हैं, जो खाने वालों को भी नहीं पता होते हैं। ऐसे में अनजाने में ही कुछ ऐसे हेल्दी फायदे मिलने लगते हैं, जिनकी वह कल्पना भी नहीं कर सकता है। एक अंडे की कीमत में जितनी मूंगफली आती है, उसमें अंडे से कई गुना ज्यादा प्रोटीन होता है। दूध और अंडे में इसके मुकाबले कम प्रोटीन होता है।




यह आयरन, नियासिन, फोलेट, कैल्शियम और जिंक का अच्छा स्रोत हैं। थोड़े से मूंगफली के दानों में 426 कैलोरीज, 5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 17 ग्राम प्रोटीन और 35 ग्राम वसा होती है। इसमें विटामिन ई, के और बी6 भी भरपूर मात्रा में पाए जाते है। इसलिए यदि आप ऊपर लिखे पोषण के साथ ही आगे लिखे फायदे भी पाना चाहते हैं तो रोजाना लाल छिलके वाले कम से कम 20 मूंगफली के दाने खाएं….

1. मूंगफली में तेल का अंश होने से यह पेट की बीमारियों को खत्म करती है। इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या नहीं होती है। साथ ही, गैस व एसिडिटी की समस्या से भी राहत मिलती है।

2. मूंगफली गीली खांसी में भी उपयोगी है। इसके नियमित सेवन से आमाशय और फेफड़ों को मजबूती मिलती है। पाचन शक्ति को बढ़ाती है और भूख न लगने की समस्या भी दूर होती है।

3. मूंगफली का नियमित सेवन गर्भवती स्त्री के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह गर्भावस्था में शिशु के विकास में मदद करती है।


4. मूंगफली में ओमेगा-6 फैट भी भरपूर मात्रा में मिलता है, जो स्वस्थ कोशिकाओं और अच्छी त्वचा के लिए जिम्मेदार है। इसलिए मूंगफली स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

5. मूंगफली कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाती है। एक शोध से यह भी पता चला है कि सप्ताह में पांच दिन मूंगफली के कुछ दाने खाने से दिल की बीमारियां होने का खतरा कम रहता है।


6. खाने के बाद यदि 50 या 100 ग्राम मूंगफली रोजाना खाई जाए तो सेहत बनती है, भोजन पचता है, शरीर में खून की कमी नहीं होती है।

7. इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है। कोलेस्ट्रॉल की मात्रा में 5.1 फीसदी की कमी आती है। इसके अलावा कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल (एलडीएलसी) की मात्रा भी 7.4 फीसदी घटती है।


8. प्रोटीन, लाभदायक वसा, फाइबर, खनिज, विटामिन और एंटीआक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए इसके सेवन से स्किन उम्र भर जवां दिखाई देती है।

9. इसमें कैल्शियम और विटामिन डी अधिक मात्रा में होता है, इसलिए इसे खाने से हड्डिया मजबूत हो जाती है।

10. माना जाता है कि रोजाना थोड़ी मात्रा में मूंगफली खाने से महिलाओं और पुरुषों में हार्मोन्स का संतुलन बना रहता है।





















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, September 26, 2016

Health Benefits of Coconut Water, Nariyal Pani ke Fayde






नारियल पानी में कई तरह के विटामिन्स मिनरल्स तो होते ही हैं। ये एक नैचुरल इलेक्ट्रोलाइट है और इमरजेंसी में बॉडी में सीधे आईवी फ्लुइड की तरह लगाया जा सकता है। इसमें काफी कम कैलोरी होती है और ये फैट फ्री होता है। नारियल की तासीर ठंडी होती है इसलिए नारियल का पानी हल्का, प्यास बुझाने वाला, अग्निप्रदीपक, वीर्यवर्धक तथा मूत्र संस्थान के लिए बहुत उपयोगी होता है। इसमें स्वास्थवर्धक गुण तो है ही, साथ ही इसकी ताजगी से भरा स्वाद इसे पूरे विश्व में लोकप्रिय बनाता है। रोज नारियल पानी पीने से कई तरह के हेल्थ बैनिफिट्स मिलते हैं।





नारियल पानी के स्वास्थवर्धक गुण (Health Benefits of Coconut Water)


1. नारियल पानी इम्यून सिस्टम बेहतर करके बिमारियों से लड़ने की ताकत देता है। इससे इन्फेक्शन, सर्दी जुकाम जैसी बिमारियों से बचाव होता है।

2. नारियल पानी में कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटैशियम और सोडियम जैसे मिनरल्स होते है जो बॉडी को भरपूर न्यूट्रिशन देते है।


3. नारियल पानी थाइरॉइड ग्लैंड्स के हार्मोन्स को बढ़ाता है जिससे बॉडी की सेल्स को एनर्जी मिलती है। दो हफ्ते में एनर्जी लेवल काफी बढ़ जाएगा।

4. नारियल पानी बॉडी के भीतर से टॉक्सिन्स निकालता है। किडनी, यूरिनरी ट्रेक्ट और लिवर की बिमारियों से बचाव होगा।


5. नारियल पानी में मौजूद फाइबर्स डाइजेशन बेहतर करते है। दो हफ्ते में ही कब्ज, एसिडिटी जैसी प्रॉब्लम से राहत महसूस होगी।

6. लो फैट और लो कैलोरी वाला नारियल पानी भूख और प्यास तो मिटाता है लेकिन वजन नहीं बढ़ने देता।


7. नारियल पानी बॉडी को हाइड्रेट करता है। इससे डिहाइड्रेशन के कारण होने वाला सिरदर्द दूर होगा और ताजगी महसूस होगी।

8. नारियल पानी से स्किन के सेल्स भी हाइड्रेट होते है और दो हफ्ते में ही स्किन में ग्लो नजर आने लगेगा।

9. नारियल पानी में मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में मददगार है।

10. नारियल पानी में मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स धुप, पॉल्यूशन के कारण होने वाले बुरे प्रभाव को कम करते है।

11. स्वाभाविक रुप से नारियल पानी में कई बायोएक्टिव एन्जाइमस् जैसे एसिड फॉस्फेट, कटालेस, डिहाइड्रोजनेज, डायस्टेज, पेरोक्सडेस, आर एन ए पोलिमेरासेस् आदि पाए जाते हैं। ये एनेजाइमस् पाचन और चयापचय क्रिया में मदद करते हैं।

12. कई प्रयोगशालाओं में यह भी पाया गया है कि नारियल पानी के कुछ संयुक्त पदार्थ जैसे सेलनियम में एंटी आॉक्सीडेंट गुण मौजूद है, जो कैंसर से लडने में मदद करते हैं।

13. अगर आप हर रात, दो से तीन हफ्तों के लिये, अपने मुँहासों, धब्बों, झुर्रियों, स्ट्रैच माक्स, सेल्युलाईट और एक्जिमा पर नारियल पानी लगाएँगे, तो आपकी त्वचा बहुत साफ हो जाएगी।

14. नारियल पानी में मौजूद मिनरल, पोटेशियम और मैग्नीशियम गुर्दे में होने वाली पथरी के खतरे को कम करते हैं।

15. नारियल पानी का सेवन मधुमेह के रोगियों के लिये बहुत लाभदायक है। इस में मौजूद पोषक तत्व, शरीर में शक्‍कर के स्तर को नियंत्रित रखते हैं। जो मधुमेह के रोगियों के लिये बहुत जरुरी है।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Apples or potatoes, peel, eat these fruits and vegetables, including




क्‍या आप जानते हैं कि हमारे सेहत के लिये जितनी पौष्टिक फल और सब्‍जियां हैं, उतने ही इनके छिलके भी। जिन छिलको को आप कचरा समझ कर फेंक देते हैं, वही छिलके ढेर सारे गुणों से भरे हुए होते हैं।

अगर आप अगली बार सेब खाते हैं या फिर खीरा, तो उसके छिलके को भूल कर भी ना उतारें। हां, आप उनको भली प्रकार से धो सकते हैं, जिससे उनमें लगी धूल मिट्टी आराम से निकल जाए। आइये जानते हैं किन छिलको में कौन से गुण छुपे हुए होते हैं।







सेब- सेब के छिलके में घुलनशील फाइबर पाए जाते हैं, जो कि शरीर में पाए जाने वाले खराब कोलेस्‍ट्रॉल और ब्‍लड शुगर लेवल को कम करने में मदद करते हैं।


अंगूर: ये बात सच है कि अंगूर में भारी मात्रा में कीटनाशक पाए जाते हैं। लेनिक फिर भी आपको उसके छिलके को नहीं छीलना चाहिये। इसके छिलके में resveratrol पाया जाता है जो हृदय के लिये काफी अच्‍छा माना जाता है।

आलू: आलू के छिलके में आलू से कहीं ज्‍यादा आयरन, फाइबर और फोलेट पाया जाता है। इसके साथ ही इसमें 5 से 10 गुना ज्‍यादा एंटीऑसीडेंट भी होता है।


खीरा: खीरे को छिलके के साथ खाने से कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन ए और विटामिन के प्राप्‍त होता है।


बैंगन: बैंगन में एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो दिमाग की कोशिकाओं को मजबूत बनाता है। अगर आप इसे अधिक मात्रा में खाएंगे तो आपका वजन भी कम होगा।


सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Saturday, September 24, 2016

12 Create a clean and spotless skin like Neem Face Pack






अब जब आप यह जानते हैं कि नीम आपकी त्वचा के लिए कितना असरदार है तो चलिए हर्बल नीम मास्क के बारे में जानते हैं। मास्क अच्छी तरह काम करे इसके लिए ज़रूरी है कि पहले बेसिक त्वचा के रख रखाव के नियम का पालन किया जाये।




चेहरे को दिन में दो बार क्लेन्ज़र से साफ करें, मेकअप के साथ कभी न सोएं। अपनी त्वचा को बार बार न छुएं और चाहे कितने भी व्यस्त हों सनस्क्रीन लगाना कभी न भूलें। यहाँ पर आसान तरीके दिए गए हैं जिससे घर पर बने नीम मास्क को चेहरे पर लगाकर आकर्षक त्वचा पायी जा सकती है।






नीम+गुलाबजल
इस मास्क में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जिससे चेहरे पर पड़े दाग धब्बे मिट जाते हैं।

कैसे काम करता है
मुट्ठी भर नीम के पत्तों को लेकर पाउडर बना लें। इस पाउडर में गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इसे चेहरे और गर्दन पर लगा लें। 15 मिनट बाद धो लें।


नीम+बेसन+दही
इस मास्क से कील मुहांसे कम होते हैं, दाग धब्बे मिटते हैं और चेहरे पर चमक आती है।

कैसे काम करता है
एक बड़े चम्मच बेसन में एक छोटा चम्मच नीम का पाउडर दही की मदद से मिला कर पेस्ट बना लें। चेहरे को धोने के बाद यह मास्क लगा लें। इसे 15 मिनट तक रहने दें और उसके बाद धो लें। इस मास्क को हफ्ते में दो बार लगाएं और असरदार परिणाम पाएं।


नीम+चन्दन+दूध
इस मास्क से चहरे पर निखार आता है, यह चेहरे को साफ करता है जिससे त्वचा साफ और कोमल हो जाती है।

कैसे काम करता है
एक छोटे चम्मच चन्दन पाउडर में आधा चम्मच नीम पाउडर, दूध के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें। अब इसे चेहरे और गर्दन पर लगा लें। आधे घंटे बाद चेहरे को पानी से धो कर स्क्रब कर लें।


नीम+शहद
इस घर पर बने मास्क से थकी हुई त्वचा में जान आती है और चेहरे पर तेल को बनने से रोकता है।

कैसे काम करता है
कुछ नीम के पत्तों को निचोड़कर पेस्ट बना लें और इसमें एक बड़ा चम्मच शहद मिला दें। अच्छे से चला लें और चेहरे और गर्दन पर लगा लें। आधे घंटे बाद धो लें।






नीम+पपीता
इस मास्क में मौजूद एंटी बैक्टीरियल क्षमता चेहरे पर से धूल हटाती है और चेहरे पर चमक लाती है।

कैसे काम करता है
एक पके हुए पपीते को निचोड़कर उसका पल्प निकाल लें और इसमें एक छोटा चमच नीम का पाउडर मिला लें। इन्हें अच्छी तरह मिला लें। अब चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह लगा लें। आधे घंटे तक रहने दें और उसके बाद धो लें।

नीम+टमाटर
इस मास्क में बीटा कैरोटीन और लयकोपीन होता है जो त्वचा को फ्री रेडिकल से बचाता है, त्वचा को कोमल बनाता है और टेन से मुक्ति दिलाता है।

कैसे काम करता है
टमाटर को निचोड़कर उसका पल्प निकाल लें और इसमें नीम पाउडर मिला लें। इसे चहरे पर लगा लें। चेहरे पर इस मास्क को 15 मिनट तक लगा रहने दें और उसके बाद धो लें।

नीम+तुलसी+शहद
इस हर्बल मास्क से चेहरे की धूल हटती है, कील मुहांसे बनांने वाले बैक्टीरिया मरते हैं और त्वचा स्वस्थ रहती है।



कैसे काम करता है
मुट्ठी भर तुलसी और नीम के पत्तों को सूखने के लिए रख दें। सूख जाने के बाद इसका पाउडर बना लें। इस पाउडर में एक बड़ा चम्मच शहद मिला लें। इस पेस्ट को चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह लगा लें। इसे सूखने दें। गोल गोल स्क्रब करें और धो लें।



नीम+दही+हल्दी
इस मास्क में जिसमें चेहरे पर ज़्यादा तेल न बनने देने की क्षमता है, इसमें लैक्टिक एसिड और हल्दी भी है जिससे चेहरे पर पड़े दाग धब्बे मिट जाएंगे और चेहरा मुलायम रहेगा।

कैसे काम करता है
एक छोटे चम्मच नीम पाउडर में एक बड़ा चम्मच दही और चुटकी भर हल्दी मिला लें। इसे चेहरे पर लगा लें। इसे सूखने दें और उसके बाद धो लें।


नीम+एप्‍पल साइडर वेनिगर+शहद
इस आयुर्वेदिक मास्क से चेहरे के दाग धब्बे हटते हैं, चेहरे की चमक बढ़ती है और चेहरा एक हफ्ते में साफ दिखने लगता है।

कैसे काम करता है
एक छोटा चम्मच नीम पाउडर में एक बड़ा चम्मच सेब की मदिरा वाला सिरका और एक चम्मच शहद मिलाएं। पेस्ट बना कर चेहरे पर लगाएं। इसे आधे घंटे तक सूखने दें। स्क्रब करें और चेहरा धो लें।



नीम+चावल का पानी+गुलाब की पंखुड़ी+आलमंड आयल
इस घर पर बने मास्क में ब्लीचिंग के गुण होते हैं जिससे आपको त्वचा गोरी होती है और इसमें कसाव आता है।

कैसे काम करता है
5 नीम के पत्ते, मुट्ठी भर गुलाब की पंखुरियाँ और आलमंड आयल की पांच बूँदें गुलाबजल की कुछ बूंदों के साथ मिला लें। इसका पेस्ट बना लें। इस मास्क को चेहरे पर लगाएं और इसे 20 मिनट तक चेहरे पर लगा रहने दें। ठन्डे पानी से धो लें।


नीम+आलू+नीम्बू का रस
इस मास्क में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कील मुहांसों का इलाज करता है और इसमें एंटी फंगल प्रॉपर्टी भी होती है जिससे कील मुहांसे कम होते हैं, चेहरा गोरा होता है और रोमक्षिद्ऱ बंद होते हैं।

कैसे काम करता है
कसे हुए आलू को रात भर गर्म पानी में डुबो कर रखें। सुबह इसका पानी निकाल लें। एक चम्मच निम्बू के रस में एक चम्मच नीम पाउडर मिला लें। अब इसे अच्छी तरह मिलाकर पेस्ट बना लें। इसमें रुई डाल कर लगाएं। 15 मिनट तक रहने दें फिर धो लें।

नीम+एलो वेरा
यह नीम को चेहरे पर लगाने का सबसे आसान तरीका है। इससे चेहरे के अंदर तक छुपी गंदगी निकल जाती है और चेहरा तुरंत चमकदार और सुन्दर दिखने लगता है।

कैसे काम करता है
एक चम्मच नीम के पाउडर में दो बड़े चम्मच एलो वेरा मिला लें। रुई में कुछ बूँद गुलाबजल लें और इससे पहले चेहरे को साफ कर लें ताकि चेरे पर से तेल और साड़ी गंदगी धुल जाए। चेहरे को सूखने दें। अब बनाये गए पेस्ट को चेहरे पर गोल गोल लगा लें। 15 मिनट तक रहने दें और उसके बाद धो लें।







सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Drink black salt water every morning, that will benefit 13



आयुर्वेद के अनुसार काला नमक अपने आहार में शामिल करने से शरीर के कई रोग दूर होते हैं। यह कोलेस्‍ट्रॉल, मधुमेह, हाई बीपी, डिप्रेशन और पेट की तमाम बीमारियों से मुक्‍ती दिलाता है क्‍योंकि इसमें 80 प्रकार के खनिज शामिल हैं।



अगर आप सुबह काला नमक और पानी मिला कर पीना शुरु कर दें तो आपको काफी स्‍वास्‍थ्‍य लाभ पहुंच सकता है। लोंगो को अभी पता नहीं है कि सादे नमक का बहुत ज्‍यादा प्रयोग हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिये हानिकारक हो सकता है इसलिये अच्‍छा होगा कि आप उसे हटा कर काले नकम का सेवन कीजिये।


पाचन दुरस्त करे
नमक वाला पानी मुंह में लार वाली ग्रंथी को सक्रिय करने में मदद करता है। पेट के अंदर प्राकृतिक नमक, हाइड्रोक्लोरिक एसिड और प्रोटीन को पचाने वाले इंजाइम को उत्तेजित करने में मदद करता है। इससे खाया गया भोजन टूट कर आराम से पच जाता है।


मोटापा घटाए
यह पाचन को दुरस्त कर के शरीर की कोशिकाओं तक पोषण पहुंचाता है, जिससे मोटापा कंट्रोल करने में मदद मिलती है। समुंद्री नमक छोड़ कर आपको इस नमक को अपने आहार में शामिल करना चाहिये।



जोड़ों के दर्द में आराम दिलाए
मासपेशियों के दर्द और जोड़ों के दर्द से यह नमक आराम दिलाता है। आपको एक कपड़े में 1 कप काला नमक डाल कर उसे बांध कर पोटली बनानी है। इसके बाद उसे किसी पैन में गरम करें और उससे जोड़ों की सिकाई करें। इसे दुबारा गरम कर के फिर से दिन में दो बार सिकाई करें।



आंत की गैस से छुटकारा दिलाए
अगर गैस से छुटकारा पाना है तो एक कॉपर का बरतन गैस पर चढाएं, फिर उसमें काला नमक डाल कर हल्‍का चलाएं और जब उसका रंग बदल जाए तब गैस बंद कर दें। फिर इसका आधा चम्‍मच ले कर एक गिलास पानी में मिक्‍स कर के पियें।


सीने की जलन से मुक्‍ती
क्षारीय प्रकृति होने के नाते यह पेट में जा कर वहां बनने वाले एसिड को काटता है और सीने की जलन तथा एसिडिटी को ठीक करता है।


कोलेस्‍ट्रॉल लेवल कंट्रोल करे
काला नमक खाने से रक्‍त पतला होता है जिससे वह पूरे शरीर में आराम से पहुंचता है। ऐसे में आपका हाई कोलेस्‍ट्रॉल और ब्‍लड प्रेशर ठीक होता है। हाइ बीपी है तो नमक की जगह पर खाएं यह


मसल स्‍पैजम और क्रैंप में आराम दिलाए
काला नमक में पोटैशिमय होता है जो कि हमारी मासपेशियों को ठीक से काम करने में मदद करता है। इसलिये काले नमक को रोजाना खाने में शामिल करें जिससे मसल स्‍पैजम और क्रैंप ना हो।



मधुमेह को कंट्रोल करे
रिसर्च मे पाया गया है कि काला नमक ब्‍लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है।


शिशुओं के लिये भी अच्‍छा
काला नमक छोटे बच्चों के लिए सबसे अच्छा है। यह अपच और कफ की जमावट को सीने से हटाता है। अपने शिशु के भोजन में थोड़ा सा काला नमक रोजाना मिलाएं क्‍योंकि इससे उनका पेट भी ठीक रहेगा और कफ आदि से भी छुटकारा मिलेगा।






नींद लाने में लाभदायक
अपरिष्कृत नमक में मौजूदा खनिज हमारी तंत्रिका तंत्र को शांत करता है। नमक, कोर्टिसोल और एड्रनलाईन, जैसे दो खतरनाक सट्रेस हार्मोन को कम करता है। इसलिये इससे रात को अच्छी नींद लाने में मदद मिलती है।


रूसी से मुक्‍ती दिलाए
अगर आपको रूसी और बाल झड़ने की समस्‍या है तो काला नमक और टमाटर का जूस हफ्ते में एक दिन सिर में लगाएं। यह रूसी को दूर करेगा और बालों की ग्रोथ को भी बढ़ाएगा।


शरीर करे डिटॉक्‍स
नमक में काफी खनिज होने की वजह से यह एंटीबैक्टीरियल का काम भी करता है। इस‍की वजह से शरीर में मौजूद खतरनाक बैक्टीरिया का नाश होता है।

त्वचा की समस्‍या
नमक में मौजूद क्रोमियम एक्‍ने से लड़ता है और सल्फर से त्वचा साफ और कोमल बनती है। इसके अलावा नमक वाला पानी पीने से एग्जिमा और रैश की समस्या दूर होती है। सौंदर्य के लिये बड़ा ही फायदेमंद है सेंधा नमक






कैसे बनाएं काला नमक वाला पानी
एक गिलास गुनगुने पानी में आधा छोटा चम्‍मच काला नमक मिलाइये। फिर इसे चम्‍मच से मिक्‍स कीजिये और 24 घंटे के लिये छोड़ दीजिये। उसके बाद जब सारा नमक पानी में घुल जाए तब इसे पी जाइये।





सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Thursday, September 22, 2016

The 12 chrism will face blond and clean, just to try






उबटन एक प्राकृतिक चीज़ है जो हर घर में बनाई जाती है। आपको हल्‍दी और बेसन वाला उबटन तो पता ही होगा लेकिन आज हम आपके सामने 12 तरह के अलग-अलग उबटन बनाने की विधि ले कर आए हैं।


अगर आपके घर पर कोई त्‍योहार या उत्‍सव आने वाला है तो समय आ गया है कि आप उसकी तैयारी अभी से कर लें। चेहरे पर अगर दाग धब्‍बे या झाइयां हैं तो उसे इन प्राकृतिक उबटनों से दूर कर सकती हैं। आइये जानते हैं इनके बारे में...

1. केले का मास्‍क
यह मास्‍क चेहरे के तेल को कम करता है और डेड सेल को हटाता है। एक चम्‍मच मसला हुआ केला, 1 चम्‍मच शहद और 1 चम्‍मच नींबू का रस मिलाएं और चेहरे पर लगाएं। इसे आधे घंटे के लिये सूखने दें और फिर ठंडे पानी से धो लें।






2. मलाई और शहद
यह मास्‍क त्‍वचा में नमी भरता है, जिससे स्‍किन ग्‍लो करने लगती है। 1 चम्‍मच मलाई लें और उसमें 1 चम्‍मच शहद मिक्‍स करें। पहले चेहरे को धो लें और फिर इसका एक कोट लगाएं। 30 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। इस मास्‍क को रोजाना लगाएं।


3. जैतून और बादाम तेल
इस पैक को लगाने से चेहरा मुलायम हो कर चमकदार बन जाएगा। 1 चम्‍मच जैतून तेल में 5 बूंद बादाम तेल मिक्‍स करें और चेहरे पर 5 मिनट तक इससे मसाज करें। फिर इसे रातभर चेहरे पर ही रहने दें और सुबह चेहरे को धो लें।


4. नींबू और ग्‍लीसरीन
दाग धब्‍बों से मुक्‍ती पाने के लिये और चेहरे पर ग्‍लो भरने के लिये यह फेस पैक लगाएं। 1 चम्‍मच ग्‍लीसरीन में 5 बूंद नींबू की बूंद डालें और एक कॉटन बॉल से इसे चेहरे पर लगाएं। फिर चेहरे को 10 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। यह मास्‍क ड्राई स्‍किन के लिये काफी अच्‍छा है।


5. टमाटर और शक्‍कर
टमाटर की दो स्‍लाइस लें, उस पर थोड़ी सी शक्‍कर छिड़के। फिर इसको अपने चेहरे तथा गर्दन पर स्‍क्रब करना शुरु कर दें। फिर इसे 10 मिनट के लिये चेहरे पर ही लगा रखने दें और फिर चेहरे को धो लें।


6. बेसन, दही और हल्‍दी
इस मास्‍क में एंटीऑक्‍सीडेंट और ब्‍लीचिंग गुण होते हैं, जिससे स्‍किन टोन हल्‍की हो जाती है। 1 चम्‍मच बेसन में आधा चम्‍मच दही और चुटकीभर हल्‍दी मिक्‍स करें। फिर इसे पेस्‍ट बनाएं और चेहरे पर लगा कर 30 मिनट तक छोड़ दें। फिर पानी से चेहरे को धो लें।


7. एलो वेरा और टी ट्री ऑइल
चेहरे से पिंपल हटाने हों या फिर दाग धब्‍बे दूर करने हों , तो यह पैक काफी अच्‍छा रहेगा। थोड़ा सा ताजा एलोवेरा जैल लें, उसमें 7 बूंद टी ट्री ऑइल की मिक्‍स करें। इससे चेहरे को धीरे धीरे मसाज करें और फिर 20 मिनट तक छोड़ दें। फिर चेहरे पर बरफ रगड़े और चेहरे को पानी से धो लें।


8. अंडा और बादाम तेल
इस पैक में प्रोटीन और एंटी ऑक्‍सीडेंट होते हैं जो कि चेहरे से बारीक धारियों को दूर करते हैं। अंडे को तोड़ कर उसके सफेद हिस्‍से को निकाल लें, फिर उसमें 5 बूंद बादाम तेल की मिलाएं और फेंट लें। अब इसका पतला सा कोट चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं और 30 मिनट के लिये छोड़ दें। जब स्‍किन सूख जाए तब इसे पानी से धो लें। इसे हफ्ते में दो बार लगाएं।





9. शहद
अगर आपके पास समय नहीं है तो आप केवल शहद को ही चेहरे पर लगा सकती हैं। जब यह सूख जाए तब चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।


10. गाजर, शहद और हल्‍दी
यह आयुर्वेदिक उबटन चेहरे के पोर्स को कम करता है और चेहरे पर निखार लाता है। गाजर को घिस कर उसमें 2 चम्‍मच शहद और चुटकीभर हल्‍दी मिक्‍स करें। फिर इसे चेहरे तथा गर्दन पर लगाएं और 30 मिनट के बाद चेहरे को गोलाई में रगड़ कर पानी से धो लें।


11. आलू और दही
इस पैक में विटामिन सी, प्रोटीन और आयरन होता है जो कि सनटैनिंग और काले धब्‍बे मिटाता है। आलू को मसल लें और उसका पेस्‍ट बना लें। फिर उसमें 1 चम्‍मच शहद और दूही मिलाएं। चेहरे को धो कर यह पेस्‍ट लगाएं और 20 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। इसको हफ्ते में दो बार लगाएं, आपको चेहरा हमेशा साफ बना रहेगा।






12. ओटमील, शहद, दूध और बादाम तेल
इस पैक में एंटीबैक्‍टीरियल गुण होते हैं, जो गंदगी को बाहर निकालते हैं और चेहरे को गोरा बनाते हैं। 1 चम्‍मच ओटमील को ग्राइंड कर के पावडर बनाएं, फिर उसमें 1 चम्‍मच शहद, 6 बूंद बादाम तेल और दूध मिक्‍स करें। इस पेस्‍ट को चेहरे पर लगाएं और जब यह सूख जाए तब चेहरे को स्‍क्रब करें और फिर प्‍लेन पानी से धो लें।































सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।