Saturday, July 15, 2017

वजन कम करने के कुछ आसान और घरेलू उपाय





मोटापा शरीर के लिए बीमारी का घर होता है। मोटापा शरीर में जमा होने वाली अतिरिक्त चर्बी होती है जिससे वजन बढ़ जाता है और यही मोटापा कई बीमारियों का घर बनता है। मोटापे का मतलब है, शरीर में बहुत ज्यादा चर्बी होना। जबकि ज्यादा वजनदार होने का मतलब है, वजन का सामान्य से ज्यादा होना। जिस व्यक्ति का BMI यानी बॉडी मास इंडेक्स 25 से 29.9 के बीच होता है, उसे डॉक्टरी भाषा में ओवरवेट या ज्यादा वजनदार कहा जाता है। दूसरी ओर जब BMI 30 या उससे अधिक होता है, तो इसे मोटापा कहा जाता है। मोटापा घटाने के लिए खान-पान में सुधार जरूरी है। आज हम आपको कुछ आसान और घरेलू उपाया बताने जा रहे हैं जो आपका वजन कम करने में सहायक होंगे।




-खाना खाने के बाद गुनगुने पानी को पीने से वजन तेजी से घटता है। लेकिन खाना खाने के लगभग पौन या एक घंटे बाद एक ग्लास पानी का सेवन करना चाहिए।
-कच्चे ये पके हुए पपीत का सेवन खूब करना चाहिए। इससे शरीर में अतिरिक्त चर्बी नहीं जमती और वजन तेजी से घटता है।
-दही का सेवन करने से शरीर की फालतू चर्बी घट जाती है। छाछ का भी सेवन दिन में दो-तीन बार करना लाभदायक है।





-छोटी पीपल का बारीक चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें। यह चूर्ण तीन ग्राम रोजाना सुबह के वक्त छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।
-गरम पानी में नींबू का रस और शहद घोलकर रोज सुबह खाली पेट पिएं। इससे पेट सही रहेगा और मोटापा दूर होगा।
-ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो मोटापा घटाने के साथ-साथ चेहरे की झुर्रियों को भी दूर करता है। ग्रीन टी

को बिना चीनी के पीने से इसका फायदा जल्द होता है।



















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Friday, July 14, 2017

ग्रीन टी से जुड़े 7 झूठ और उनके सच



Myth – ग्रीन टी जितनी ज्यादा पिएंगे, उतनी जल्दी वेट लॉस होगा।
Fact – वेट लॉस के लिए दिन में तीन कप ग्रीन टी पीना पर्याप्त है। ज्यादा ग्रीन टी पीने से सिरदर्द या डायरिया हो सकता है।

Myth – सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीना फायदेमंद है।
Fact – ग्रीन टी में कैफीन होता है। इसे खाली पेट पीने से एसिडिटी हो सकती है। इसलिए दिन में पीना ज्यादा फायदेमंद है।


Myth – सामान्य चाय की तुलना में ग्रीन टी पीने से नींद पर कोई इफेक्ट नहीं होता।
Fact – ग्रीन टी के एक कप में 25 मिलीग्राम कैफीन होता है। ग्रीन टी पीने से भी रात की नींद खराब हो सकती है।

Myth – एसिडिटी होने पर भी ग्रीन टी पी सकते हैं।
Fact – ग्रीन टी में भी टैनिन होता है। इससे एसिडिटी बढ़ने के चांस उतने ही रहते हैं जितने की सामान्य चाय पीने से। इसलिए तीन कप से ज्यादा ग्रीन टी न पिएं।


Myth – प्रेग्नेंसी में ज्यादा ग्रीन टी पीना फायदेमंद है।
Fact – ग्रीन टी में कैफीन व टैनिन्स होते हैं। इसे ज्यादा पीने से कैफीन का निगेटिव इफेक्ट हो सकता है।

Myth – ग्रीन टी जितनी पु नी होगी, उतनी फायदेमंद होगी।
Fact – छह महीने से ज्यादा रखे रहने पर ग्रीन टी की एंटीऑक्सीडेंट पावर कम हो जाती है। इसलिए इसे लंबे समय तक रखने से बचें।

Myth – ग्रीन टी का कोई साइड इफेक्ट नहीं है।
Fact – ज्यादा ग्रीन टी पीने से बॉडी में कैल्शियम का अब्जॉर्बशन पूरी तरह नहीं होता हैं। खून की कमी हो सकती हैं।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


हींग का पानी पीने के ऐसे ही 10 फायदे




1. इसमें बीटा कैरोटीन होते हैं। इससे आँखें हेल्दी रहती हैं।

2. हींग के पानी में आयरन होता है। यह एनीमिया (खून की कमी) से बचाता है।

3. इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। इससे दांत मजबूत होते हैं।

4. हींग का पानी पीने से बॉडी की इम्युनिटी बढ़ती है। यह सर्दी-खांसी जैसे इंफेक्शन से बचाता है।

5. इसमें एंटीकार्सिनोजेनिक एलिमेंट्स होते हैं। यह कैंसर से बचाता है।

6. हींग के पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज़ होती है। इससे डाइजेशन ठीक रहता है। एसिडिटी दूर होती है।

7. इससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है। यह डायबिटीज़ से बचाता है।

8. हींग के पानी में डाइयूरेटिक प्रॉपर्टीज़ होती हैं। यह यूरिन रिलेटेड प्रॉब्लम से बचाता है।

9. हींग के पानी में एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज़ होती है। इससे हड्डियां मजबूत होती हैं।

10. इसमें एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज़ होती हैं। यह अस्थमा से बचाता है।




सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, July 10, 2017

खिली-खिली त्वचा पाने के उपाय


 

इस मौसम में त्वचा की मॉइश्चराइजिंग करना उतना ही एहम है जितना गर्मी के मौसम में। इस मौसम में नॉन वाटर बेस्ड मॉइश्चराइजर का प्रयोग करें। यही नहीं, जिन लोगों का अधिकांश समय ए सी कमरों में बीतता है, उनके लिए इस मौसम में त्वचा की मॉइश्चराइजिंग करना अहम है। ऑयली त्वचा वालें को दिन में दो बार ही त्वचा की मॉइश्चराजिंग करनी चाहिए।

त्वचा की क्लीजिंग के बा टोनिंग करें। टोरन त्वचा को मॉइश्चराजिंग के लिए बसे तैयार करता है, ताकि त्वचा खुलकर सांस ले पाए।

चेहरे की सफाई न हो जाए तो पसीना व उमस चेहरे पर परत बना लेते हैं। नतीजतन चेहरे पर जमी गंदगी कील-मुंहासे का कारण बनती है।

हफ्ते में दो बार फेस स्क्रब का प्रयोग करें। इससे मृत त्वचा से आजादी मिलेगी और त्वचा खुलकर सांस ले पाएंगी।



सुंदर, चमकीली और स्वस्थ त्वचा हर किसी का मन मोह लेती है। हर औरत की यही तमन्ना होती है कि वह हमेशा जवान और खूबसूरत बनी रहे। इसलिए आइस क्यूब्स से स्किन को फ्रेश और ब्यूटीफुल भी बनाते हैं। कैसे! आइए जानते हैं-

तेज धूप के कारण यदि आपकी स्किन टैन हो गई है या त्वचा में जलन की शिकायत है, तो तुरंत प्रभावित जगह पर बर्फ लगाएं। ऐसे करने से कूलिंग का एहसास होगा और टैनिंग से भी मुक्ति मिलेगी।

अगर फेस पर पिंपल्स से परेशान हैं तो रोजाना एक आइस क्यूब चेहरे पर दस मिनट तक घुमाएं, ऐसे करने से त्वचा के बंद रोम छिद्र खुल जाते हैं और त्वचा खुलकर सांस लेती है, जिससे त्वचा स्वस्थ और पिंपल्स फ्री बनी रहती है।

मेकअप उतारने के बाद भी चेहरे पर आइस क्यूब्स जरूर घुमाएं। ऐसा करनेसे केमिकल युक्त मेकअप से होने वाली स्किन प्रॉब्लम्स नहीं होतीं।

मेकअप करने से पहले कुछ बर्फ के टुकडें लें और उन्हें कॉटन के कपडे में बांधकर पूरे चेहरे पर घुमाएं। इससे न सिर्फ फ्रेशनेस का एहसास होगा, बल्कि मेकअप भी लंबे समय तक टिका रहेगा।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Monday, July 3, 2017

face ko clean kaise kare in hindi





भाप (steaming) द्वारा : एक कित्तली में पानी डाल के गरम करे और जब भाप निकलने लगे तो चेहरे पर कित्टली को फेरे और त्वचा को भाप लगे| साथ में रुई का टुकड़ा रखे और चेहरे को घिसते रहिये| भाप लगने से मरे हुए कोशिका ढीले हो जायेंगे और रुई के अन्दर चिपक कर निकल जायेंगे|

अगर त्वचा पर तेल बहुत जमा हो गया है और मृत कोशिका भी है तो आप अल्कोहल (आइसोप्रोपिल अल्कोहल) का उपयोग कर सकते है| रुई को भिगो के त्वचा पर फेरे, रुई काला होता जाएगा| यह प्रयोग कभी कभी ही करे क्योंकि यह तेल बिलकुल निकाल देता है|

कुमारी याने एलो वेरा, मुल्तानी मिटटी और बेसन का मिश्रण से त्वचा घिसे| यह प्राकृतिक तरीके से त्वचा साफ़ कर देती है| 

खाने का सोडा का उपयोग करे| इस में पानी मिला के पेस्ट बनाये और दो तीन बूँद हाइड्रोजन पेरोक्साइड या तो सिरका मिला के त्वचा को अच्छी तरह से घिसे तो त्वचा साफ़ हो जाएगा| 

मुल्तानी मिटटी और निम्बू का मिश्रण से भी चेहरे की त्वचा को आप साफ़ कर सकते है|

चीनी को थोड़ा सा पानी में उबाले और गाड़ा बना दे| अब इस में निम्बू का रस मिला दे और चेहरे पर लगा के सूखने दे और बाद में घिस के निकाले ताकि छोटे बाल भी निकल जायेंगे और मृत कोशिका भी| चेहरा साफ करने के तरीके में यह बेहतरीन उपाय है|




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Tuesday, June 20, 2017

योग करते समय रखे ये सावधानियां,Tips To Do Yoga




योग फिटनेस का सबसे पॉपुलर माध्यम है, लेकिन इसे करते समय कुछ बातों का ध्यान रखा जाना जरूरी है। ऐसा नहीं होने पर योग से फायदा होने के बजाय नुकसान हो सकता है। आज हम आपको बता रहे है ऐसी 13 बातें जिनका योग करते समय ध्यान रखा जाना बेहद जरूरी है।



1. योगाभ्यास के दौरान न पिएं पानी

योग के दौरान बॉडी में गर्माहट आती है, इस दौरान ठंडा पानी पीने से एलर्जी, सर्दी जुकाम, कफ जैसी तकलीफ हो सकती है।


2. योग के तुरंत बाद न नहाएं

योग करने से शरीर गर्म हो जाता है इसलिए योग करने के एक घंटे बाद ही नहाएं, नहीं तो सर्दी-जुकाम, बदन दर्द जैसी तकलीफ हो सकती है।


3. खाने के तुरंत बाद योग न करे

वज्रासन को छोड़कर सभी योग और खाने के बीच कम से कम 3 घंटों का अंतराल रखे, बेहतर है कि सुबह खली पेट योग करे।


4. योग करने के दौरान न जाए बाथरूम

योग करने के दौरान बाथरूम नहीं जाना चाहिए बल्कि अपने शरीर का पानी पसीने के जरिए बाहर निकलना चाहिए।

5. बीमारी में न करे योग

बीमारी के दौरान योग करने से बचे। अगर योग करना चाहते है तो डॉक्टर या योग एक्सपर्ट से सलाह जरूर ले।

6. योग हमेशा खुले और साफ सुथरे वातावरण में करे

योग हमेशा साफ,खुली जगह में करे। प्राणायाम तो हमेशा खुली जगह में ही करना चाहिए जहां पर ताजी हवा मिलती हो।

7. योग करने से पहले शरीर को तैयार करे

योग करने से पहले थोड़ा वार्मअप करे, इसके बाद प्राणायाम करे और फिर योग करे। आखिर में शवासन जरूर करे।

8. एक्सपर्ट से सीखकर ही करे योग

बगैर एक्सपर्ट से सीखें, किताब पढ़कर या सीडी देखकर योग करने से नुकसान हो सकता है। दुसरो की देखादेखी भी योग न करें।

9. शुरुआत से कठिन आसन न करें

सरल से कठिन एक्सरसाइज करें। शुरुआत से ही कठिन आसन करने से आपको तकलीफ हो सकती है या फिर आप जल्दी थक सकते है।

10. गलत पोज न करें

इन्स्ट्रक्टर द्वारा बताए अनुसार ही योग करें। गलत आसन करने से कमर दर्द, घुटनों में तकलीफ या मसल्स में खिंचाव हो सकता है।

11. पीठ, घुटने या मसल्स की प्रॉब्लम हो तो न करें योग

पीठ, घुटने या मांसपेशी से संबंधित तकलीफ है तो योग करने से पहले ट्रेनर से सलाह जरूर ले।

12. आसन बिछाकर आरामदायक कपड़े पहनकर ही करें योग

योग समतल जमीन पर आसन बिछाकर करें। मौसम के मुताबित ऐसे कपड़े पहनें जो न तो ज्यादा टाइट हो और न ही बहुत ढीले।

13. योग करते समय ज्वेलरी न पहने

योग करते समय ज्वेलरी, कड़े,हार वगैरह पहनने से योगासन में दिक्क्त होगी और ये चीजे चोट भी पहुंचा सकती है।




















सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 


Friday, June 16, 2017

कपूर के फायदे





आमतौर पर कपूर का यूज हर घर में पूजा-पाठ के लिए होता है। लेकिन आयुर्वेद में इसके अनेक फायदे बताए गए हैं। कपूर का प्रयोग कई प्रकार की बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। कपूर त्‍वचा और मांसपेशियों और ऊतकों में सूजन कम करता है। पुरानी जोड़ों और दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए कपूर उपयोगी औषधि है। कपूर का तेल बहुत फायदेमंद है। कपूर का इस्‍तेमाल कई दवाओं में भी किया जाता है। कपूर से कई प्रकार के मरहम बनाये जाते हैं। आइए हम आपको कपूर से होने वाले फायदों के बारे में बताते हैं।





पेट दर्द – एक गिलास पानी में एक चम्मच अजवाइन डालकर उबालें। पानी आधा रह जाए, तो इसमें जरा-सा कपूर डालकर पी जाएं। पेट दर्द में जल्द आराम मिलेगा।

जोड़ों का दर्द – मसल्स या जोड़ों के दर्द की शिकायत है, तो दर्द वाली जगह पर कपूर के तेल से मालिश करें। जल्द राहत मिलेगी।


खुजली – खुजली या फंगल इंफेक्शन होने पर प्रॉब्लम वाली जगह पर नारियल के तेल में कपूर डालकर लगाने से आराम मिलेगा।

जलने पर – जलने पर कपूर या कपूर का तेल लगाइए। जलन खत्म होगी और इन्फेक्शन का खतरा टलेगा।


इंफेक्शन से बचाव – घर में कपूर का धुआं करने से आसपास मौजूद बैक्टीरिया खत्म होते हैं। इससे इंफेक्शियस जनित बीमारियों का खतरा टलता है।

हेल्दी हेयर – नारियल तेल में कपूर मिलाएं। इसे गुनगुना कर सिर की मालिश करेंऔर एक घंटे बाद सिर धो लें। डैंड्रफ की प्रॉब्लम ख़त्म होगी और बाल मजबूत बनेंगे।

स्किन के दाग – नारियल का तेल और कपूर मिलाकर रख लें। इस रोज़ पिम्पल्स, जले या चोट के दाग पर लगाएं। कुछ दिनों में इनके निशान मिट जाएंगे।

फटी एड़ियां – गुनगुने पानी में थोड़ा-सा कपूर और नमक डालें। इसमें कुछ देर पैर डालकर रखें, फिर स्क्रब करके मॉइश्चराइज़र क्रीम लगा लें। फटी एड़ियों की प्रॉब्लम दूर होगी।

स्ट्रेस – ऑलिव ऑयल में कपूर मिलाकर सिर की मालिश करें। स्ट्रेस और सिरदर्द की प्रॉब्लम दूर होगी।

दांत दर्द – दांत दर्द होने पर दर्द वाली जगह पर कपूर का पाउडर लगाएं। जल्द राहत मिलेगी।

सर्दी-जुकाम – सर्दी जुकाम होने पर टिल या नारियल तेल में कपूर मिलाकर चेस्ट और सिर पर लगाएं या इसके पानी की भाप लें। राहत मिलेगी।

लूज़ मोशन – कपूर, अजवाइन, पिपरमेंट को बराबर मात्रा में मिलाकर कांच की बरनी में भरें। इसे धुप में रखे। 6-8 घंटे बाद इसे हटा लें। तैयार मिश्रण की 4-5 बूंद डालकर शर्बत बनाकर पिएं। आराम मिलेगा।

ग्लो बढ़ेगा – रेग्युलर रात को सोने से पहले कच्चे दूध में जरा सा कपूर पाउडर डालें। रुई की मदद से इसे चहरे पर लगाए। 15 मिनट बाद चेहरा धो लें। स्किन हेल्दी बनेगी और चेहरे का ग्लो बढ़ेगा।

चोट या घाव – कपूर में एंटीबायोटिक प्रॉपर्टी होती है जो चोट ठीक करने में मदद करती हैं। चोट लगने, कट जाने या घाव हो जाने पर प्रॉब्लम वाली जगह पर कपूर मिला पानी लगाने से आराम मिलेगा।

मुंह के छाले – कपूर को देसी घी में मिलाकर मुंह के छालों पर लगाएं। राहत मिलेगी।









सरकारी नौकरियों के बारे में ताजा जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपरोक्त पोस्ट से सम्बंधित सामान्य ज्ञान की जानकारी देखने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

उपचार सम्बंधित घरेलु नुस्खे जानने के लिए यहाँ क्लिक करें । 

देश दुनिया, समाज, रहन - सहन से सम्बंधित रोचक जानकारियाँ  देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ।