Tuesday, February 14, 2017

पेट में गैस बनने के प्रमुख कारण और दूर करने के उपाय

health tips

वर्तमान समय में गैस की प्रॉब्लम होना आम बात है। इस प्रॉब्लम की कई वजह हो सकती हैं। आज हम आपको 8 ऐसे काम बता रहे है जो पेट में गैस बनने के लिए काफी हद तक जिम्मेदार है। अगर आप इन्हें अवॉइड करेंगे तो इस प्रॉब्लम से बच सकते हैं।

पेट में गैस बनने के प्रमुख कारण

देर रात तक जागना
देर रात तक जागने से इनडाइजेशन की प्रॉब्लम होने लगती है। इससे पेट में गैस बनने लगती है।


जल्दबाजी में न खाएं
ऐसा करने से खाना अच्छे तरीके से चबाकर नहीं खा पाते हैं। इससे वह डाइजेस्ट होने में समय लगाता है। जिससे पेट में एसिड बनने लगता है और गैस की प्रॉब्लम होने लगती है।

लगातार बैठे न रहे
कई घंटो तक लगातार बैठकर काम करने से खाना सही तरीके से डाइजेस्ट नहीं हो पाता है। इससे पेट में जरुरत से ज्यादा एसिड बनने लगता है और गैस की प्रॉब्लम होने लगती है।


ज्यादा मीठा न खाएं
प्रोसेस्ड फ़ूड जैसे कुकीज, ब्राउनीज और मिठाई में शक्कर की काफी मात्रा होती है। इन्हें ज्यादा मात्रा में खाने से तुरंत गैस बनने लगती है।

कोल्ड ड्रिंक न पिएं
सोडा और कोल्ड ड्रिंक में कार्बन डाई ऑक्साइड बबल्स पाए जाते हैं, जो पेट में जाकर एसिड पैदा करते हैं। इन्हें पीने से गैस की प्रॉब्लम होने लगती है।


डेयरी प्रोडक्ट्स न खाएं
फैट वाला दूध, चीज़ जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स को अवॉइड करें। इनमें मौजूद फैट डाइजेस्ट नहीं होता है। इनसे गैस की प्रॉब्लम होती है।

तला हुआ न खाएं
तला हुआ खाना जैसे भजिए, समोसा और कचौड़ी में फैट की काफी मात्रा होती है। इसका डाइजेशन आसानी से नहीं होता है, जिससे पेट में गैस बनने लगती है।


शराब न पिएं
बियर और वाइन बॉडी में एसिड पैदा करते हैं। इनकी ज्यादा मात्रा लेने से पेट में गैस बनने लगती है।
पेट की गैस दूर करने के उपाय

1. अदरक के रस में शहद मिलाकर पिएं।

2. एसिडिटी होने पर एलोवेरा जूस पिएं।

3. गुनगुने पानी में निम्बू निचोड़ कर पिएं।

4. एक गिलास पानी में एक चम्मच मीठा सोडा मिलाकर धीरे- धीरे पिएं।

5. एक कप पानी में आधा निम्बू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पिएं।

6. त्रिफला पाउडर को दूध में मिलाकर पिएं।

7. मूली काटकर उस पर थोड़ा-सा काला नमक और काली मिर्च पाउडर डालकर खाएं।





Saturday, February 11, 2017

चीनी के गुण

चीनी के गुण

चीनी के बिना शायद ही हम जी सकें। जिस तरह खाने में नमक का महत्व होता है ठीक उसी तरह चीनी का महत्व होता है। अक्सर लोग चीनी का नाम सुनते ही कडवे करेल जैसा मुंह बनाने लगते हैं मानों जैसे सारी बुराई सिर्फ चीनी में ही मौजूद है। मानना कि शक्कर मोटापा, दांतों की सडन और मधुमेह जैसी बीमारी पैदा करती है। लेकिन अगर चीनी को सीमित मात्रा में खाया जाए तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिये बहुत ही फायदेमंद होती है और वैसे भी इस भाग-दौड भरी जिन्दगी में हर किसी के कंधों पर काम की जिम्मेदारी इतनी अधिक हो जाती है। कि यह टेंशन कभीकभी डिप्रेशन का विक्राल रूप धारल कर लेती है जिससे के कारण व्यक्ति के सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाती है। लेकिन अब परेशान होने की जरूरत नहीं है और ना ही डिपे्रशन से बचने के लिए ढेर सारी दवाइयाँ खाने की जरूरत है। आपको जानकर ताज्जुब हो कि सिर्फ मीठी खाने से ही आपको डिप्रेशन डिप्रेशन से राहत मिल सकती है।

जिन लोगों को वजन बहुत कम है, उनके लिये चीनी का सेवन लाभकारी होता है। इसमें बहुत सारी कैलोरी होती है जो वजन बढाती है। पर वे लोग जो पहले से ही मोटोपे का शिकार हैं, उन्हें चीनी कम खानी चाहिये।

चीनी का प्रयोग फिकेपन को दूर करने को किया जाता है। जब भी आपको शरीर में थकावट या लो महसूस हो तो शुगर से बने पदार्थो का सेवन करें। यह शरीर में शुगर के लेवल को ठीक कर नई ऊर्जा देता है। जैसे फू्रड कस्टर्ड, जूस का एक ग्लास, केक का एक टुकडा वगैहर खा कर आप पहले से ज्यादा तरोताजा फील कर सकते हैं।

चीनी और नींबू-: अगर आप फेस पर कील-मुहांसों से परेशान है तो चीनी में नींबू की कुछ बूंदे मिला ले और इससे अपने चेहरे पर हल्के हाथों से स्क्रब करें।

अगर आपकी त्वचा धूप की कारण काली पड गई है तो 2 चम्मच कॉफी में 1 चम्मच चीनी मिला कर थोडा सा पानी मिलाएं फिर इस पेस्ट को अपने चेहरे को लगाएं। यकीन मानिये इसेस आपको चेहरा साफ और ग्लोंइन हो जाएगा।


Wednesday, February 8, 2017

रूखी त्वचा के लिए महंगा नहीं सस्ता और असदार घरेलू इलाज

 Expensive and not cheaper domestic treatment for dry skin Asadar
सर्दियों में त्वचा शुष्क और रूखी होकर बेजान पड जाती है। ऐसे में आपकी त्वचा को ज्यादा प्यार और देखभाल की जरूरत होती है। इसलिए आपका ब्यूटी डॉक्टर किचन में ही है। यह करेगा आपके फेस और बालों का इलाज। महंगाई में एकदम सस्ते और असदार इलाज।

face pack, face tips

ड्राई स्किन की परेशानी है, तो दूध में बडा चम्मच चिरौंची आधे घण्टे तक भिगो कर रखें। इसका पेस्ट बनाएं और आंखों के आसपास की जगह को छोड कर चेहरे व गर्दन पर लगा कर 20 मिनट तक रखें। गुनगुने पानी से चेहरा धो लें। कुछ हफ्तों तक इसे नियमित यूज करें और असर देखें।

ब्लैक हेड्स सिर्फ टीनएजर लडकी की नहीं, आपकी भी परेशानी है। इनसे छुटकारा पाने के लिए पहले ऑयल फ्री क्लींजर से चेहरा साफ कर लें। चावल के पाउडर में टमाटर पल्प की पर्याप्त मात्रा मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाएं। 10 मिनट के बाद चेहरे पर हल्के हाथ से मलतेे हुए गुनगुने पानी से धो लें। ऐसा हफ्ते में कम से कम 2-3 बार कर सकती हैं। जल्दी असर दिखेगा।

जौ का आटा ताजे नारियल के दूध में मिलाएं और 30 मिनट तक फ्रिज में रखें। चेहरे को क्लींजिंग मिल्क से साफ करें। गुनगुने पानी से धोने के बाद तैयार स्क्रब को चेहरे और गर्दन पर लगाएं और 10 मिनट तक रखने के बाद स्क्रब करें। गुनगुने पानी से धोले के बाद लगाएं वॉटर बेस मौइश्चराइजर लगाएं और पाएं इंस्टेंट स्मूद स्किन।

सेब का रस, नींबू का रस और अनन्नास का रस मिलकर चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट के बाद चेहरा धो लें। इस पैक से भी स्किन में कसाव आता है और नियमित इसका यूज करने पर स्किन कुछ ही दिनों में जवां दिखने लगती है।

बेसन में थोडा सा हल्दी पाउडर और कच्चा दूध मिलाएं। इसे नहाने से पहले चेहरे और बदन पर लें। बॉडी लोशन लगाएं। इससे सनटैन दूर होगा। गरमी में इस पैक में 1 नींबू का रस और सर्दियों में 1 बडा चम्मच मलाई मिला सकती हैं। इसके यूज से मृत स्किन निकल जाएगी और आप फ्रेश महसूस करेंगी।

मुल्तानी मिट्टी, चंदन पाउडर और हल्दी पाउडर को गुलाबजल में मिलाकर चेहरे पर लगाएं। 15 मिनट के बाद चेहरा धो लें। अगर आपकी स्किन सामान्य है, तो चंदन पाडर की जगह बादाम का पाउडर मिला सकती हैं।




Friday, January 27, 2017

सुबह ब्रेकफास्ट करना क्यों जरुरी है?

health tips

बिजी शेड्यूल और भागमभाग के चलते कई लोग सुबह नाश्ता नहीं कर पाते हैं। वजन घटाने की कोशिश करने वाले भी कई बार यह सोचकर ब्रेकफास्ट छोड़ देते हैं कि इससे वे कैलोरी इनटेक कम कर सकेंगे। लेकिन यह गलती आपको बीमार बना सकती है। सुबह नाश्ता करना हेल्दी शरीर के लिए बहुत आवश्यक है। आइए जानते है सुबह नाश्ता नहीं करने से शरीर पर क्या गंभीर साइड इफ़ेक्ट हो सकते है।


एसिडिटी होने लगती है
रातभर पेट खाली रहने के कारण उसमें एसिड्स की मात्रा बढ़ जाती है। एसिड्स का काम खाना पचाने का होता है। जब पेट में कुछ नहीं होगा तो ये एसिड्स एसिडिटी बढ़ाने लगते हैं।

वजन बढ़ता है
नाश्ता न करने से बॉडी का मेटाबॉलिज़्म धीमा हो जाता है जिससे बॉडी की कैलोरी बर्न करने की क्षमता कम हो जाती है। इससे वजन तेज़ी से बढ़ता है।

अल्सर का खतरा बढ़ता है
नाश्ता न करने से एसिडिटी की प्रॉब्लम बढ़ती है। ये प्रॉब्लम लंबे समय तक बनी रहे तो अल्सर भी हो सकता है।


हार्ट अटैक की आशंका बढ़ती है
अमेरिकन स्टडी के मुताबिक़, नाश्ता न करने वाले लोगों में 27% तक हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है। एक्सपर्ट्स के मुताबिक़, नाश्ता न करने से मोटापा बढ़ता है, जिससे हार्ट पर बुरा असर पड़ता है।

डायबिटीज़ हो सकती है
ओबेसिटी जर्नल की स्टडी कहती है कि नाश्ता न करने से वजन बढ़ता है। इससे टाइप 2 डायबिटीज़ होने का खतरा 54 % तक बढ़ सकता है।


एनर्जी की कमी हो सकती है
नाश्ता न करने से बॉडी का ग्लूकोज़ लेवल कम हो जाता है। इससे दिनभर बॉडी में एनर्जी की कमी और थकान हो सकती है।

मूड बिगड़ सकता है
नाश्ता न करने से बॉडी चिड़चिड़ापन बढ़ाने वाले हॉर्मोन्स (कॉर्टिसोल हॉर्मोन) का लेवल बढ़ता है जिससे मूड बिगड़ता है।


ब्रेन पर बुरा असर पड़ता है
नाश्ता न करने से ब्रेन को पर्याप्त न्यट्रिशन और एनर्जी नहीं मिल पाती है। इससे ब्रेन के फंक्शन्स पर बुरा असर पड़ता है। किसी काम में मन न लगने की प्रॉब्लम भी हो सकती है।

माइग्रेन हो सकता है
नाश्ता न करने से हम देर तक खाली पेट रहते हैं। इस दौरान बॉडी का ग्लूकोज़ लेवल बैलेंस करने के लिए कुछ हॉर्मोन्स रिलीज़ होते हैं। इससे BP बढ़ता है और माइग्रेन का अटैक आ सकता है।

स्ट्रेस बढ़ सकता है
शिकागो यूनिवर्सिटी की रिसर्च कहती है, नाश्ता न करने वाले ज्यादातर लोगों को लंच तक तेज़ भूख लगी होती है। ऐसे में वे अक्सर अनहेल्दी फ़ूड खा लेते हैं। इससे स्ट्रेस, डिप्रेशन जैसी कई बीमारियों खतरा बढ़ता है।









अब ठंड की नो टेंशन जब


Winter tips

ठंडी हवाएं जहां मन को खुश कर रही हैं वहीं त्वचा को छूकर कुदरती नमी चुराने की फिराक में भी हैं। आप चाहें तो इन हवाओं को अपनी स्किन का दोस्त बना सकती हैं। सर्द मौसम का ठंडापन और रूखापन स्किन से नमी को खींच लेने वाला होता है जिससे स्किन सूखी फटी-फटी और थोडी संवेदनशील हो जाती है। क्रीम, लोशन ाअैर दूसरे हर्बल स्किन केयर उत्पाद रूखी स्किन के लिए अत्यंत फायेदेमंद होते हैं और स्किन को आराम पहुंचाते हैं। ये गहराई तक नमी प्रदान करते हैं और स्किन को मुर्झाने से बचाते हैं। ये बिना जलन पैदा किए आसानी से स्किन को तरोताजा करते हैं। साथ ही इसकी नमी के संतुलन को भी बनाए रखते हैं टोनर और क्लेंजिंग मिल्क प्रभावी तरीके से स्किन की गहराई से सफाई करते हैं और रोमछिद्रों का निर्माण शुद्धिकरण व उन्हें पोषित करते हैं। सूखी स्किन को स्वच्छए नरम व नमीयुक्त बनाते हैं। जाडे में त्वचा को ड्र्र्र्राई होने से रोकें।

सही लोशन लगाएं
ऐसा लोशन चुनें जो आपकी उम्र-विशेष व त्वचा की जरूरत के मुताबिक हो और जो धूप से सुरक्षा भी दे। बादाम कैस्टर एलोवेरा और जोजोबा ऑयल सर्दियों में खासतौर से स्किन को पोषण और नमी देते हैं। लोशनप की बजाय स्किन केयर क्रीम का यूज करेंए क्योंकि स्किन केयर क्रीम या ऑइंटमेंट स्किन की सतह के ऊपर सुरक्षात्मक आवरण बनाते हैं।

गर्म शॅावर
इस मौसम में हर सुबह एक स्फूर्तिदायक गर्म स्नान अत्यंत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपको ताजगी प्रदान करता है और स्किन की हाइजिन को बनाएं रखता है। पानी का तापमान बहुत ज्यादा गर्म नहीं होना चाहिए क्योंकि यह स्किन की कुदरती नमी को सोख लेता है।

जरूरी है बॉडी ऑयल
स्किन पर बॉडी ऑयल से मालिश करना सूखेपन को दूर रख्ने का एक असरदार तरीका है। अगर यह हमेशा मुमकिन ना हो तो ऐसा स्नान करने के पहले करें। ऐसे बॉडी ऑयल का चुनाव करें जो ज्यादा चिकनाई युक्त ना हो और जल्दी जज्ब हो जाने वाला हो। इसे सोने से पहले लगाया जा सके ताकि आपको आरामदायक नींद मिले।

हाइइ्रेटेड फेसवॉश चुनें
सर्द और सूखे मौसम में फेस की स्किन की विशेष देखभाल की जरूरत पडती है। ऐसे में संतुलितए सौम्य व हाइडे्रटिंग फेसवॉश का इस्तेमाल करें जिसमें दूसरे क्लेंजिग व मॉइश्चराइजिंग जडी-बूटियों के साथ-साथ एलोवेरा पर्याप्त मात्रा में हो।

Wednesday, January 25, 2017

#दाद में लाभकारी हींग

दाद में लाभकारी "हींग"

                  त्वचा पर दाद होने पर थोड़ी - सी हींग पानी में घोलकर प्रभावित स्थान पर लगाने से आशातीत लाभ मिलता है।



Tuesday, January 24, 2017

लहसुन को तकिये के नीचे रखकर सोने से ये होते है फायदे

health tips

आयुर्वेद के अनुसार लहसुन एक बड़ी ही उपयोगी औषधि है। आमतौर पर लहसुन को खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए यूज किया जाता है। लेकिन अगर इसे रात को सोते समय तकिये के नीचे रखा जाए तो यह कई तरह के हेल्थ बेनिफिट्स भी देता है। इसमें मौजूद वोलेटाइल ऑयल की गंध नाक के रास्ते से बॉडी में जाती है जो हेल्थ के लिए फायदेमंद होती है। आइए जानते है लहसुन को तकिये के नीचे रखकर सोने से क्या फायदे होते है –


नींद – लहसुन की गंध से बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन सुधरता है। इससे रात को अच्छी नींद आती है।



सर्दी-जुकाम – लहसुन में मौजूद वोलेटाइल ऑयल की गंध बॉडी में गर्मी पैदा करती है। इससे सर्दी-जुकाम की प्रॉब्लम दूर होती है।

हेल्दी हार्ट – लहसुन की गंध से कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल रहता है। इससे हार्ट डिज़ीज़ का खतरा टलता है।


हेल्दी स्किन – लहसुन की गंध से बॉडी के बैक्टीरिया ख़त्म होते हैं। इससे स्किन इंफेक्शन, पिम्पल्स, खुजली की प्रॉब्लम दूर होती है।

मिर्गी – लहसुन की गंध से मिर्गी की प्रॉब्लम कंट्रोल होती है। इसके दौरे का खतरा टलता है।

लहसुन के अन्य फायदे-

वेट लॉस – लहसुन में जीरा, सौंफ और सेंधा नमक मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट खाने से वजन कम होता है।

ब्लड प्रेशर– रोज़ सुबह लहसुन की 2 कलियां खाने से BP कंट्रोल रहता है।


बालों का झड़ना – लहसुन की 5 से 6 कलियों को सरसों के तेल में पकाएं। इसे ठंडा करके सिर की मालिश करने पर बालों का झड़ना कम होगा।

डाइजेशन – रोज़ सुबह खाली पेट लहसुन की तीन कलियां खाने से डाइजेशन ठीक रहता है और भूख बढ़ती है।

अस्थमा – लहसुन की दो कलियों को पीसकर अदरक वाली चाय के साथ लेने से अस्थमा का असर कम होता है।

जोड़ों का दर्द – सरसों के तेल में लहसुन, अजवाइन, सौंठ और लौंग मिलाकर गर्म कर लें। इससे जोड़ों की मालिश करने पर राहत मिलती है।

फीवर – लहसुन की 3-4 कलियों को पीसकर शहद में मिला लें। इसे खाने से फीवर कम होता है।